भारत में ऑक्सीजन की कमी पर स्वीडन की  क्लाइमेट एक्टिविस्ट ग्रेटा थनबर्ग बोलीं- दुनिया को मदद करनी चाहिए



कहा - ऑक्सीजन की कमी दिल दुखाने वाली घटना, किसान आंदोलन पर ट्वीट से विवादों में आई थीं ग्रेटा

वेब खबरिस्तान , नई दिल्ली । स्वीडन की क्लाइमेट एक्टिविस्ट ग्रेटा थनबर्ग ने सोशल मीडिया के जरिए दुनिया को भारत की मदद करने के लिए कहा। उन्होंने भारत में ऑक्सीजन की कमी को दिल दुखाने वाली घटना बताया। ग्रेटा ने लिखा -  दुनिया भर के देशों को आगे बढ़कर कोरोना से जूझ रहे भारत की मदद करनी चाहिए। दरअसल,  दिल्ली व देश के अन्य राज्यों में कोरोना की दूसरी लहर के बीच मेडिकल ऑक्सीजन,  बेड और दवाओं की कमी के कारण बहुत परेशानी हो रही है ।

 

ग्रेटा ने किया था किसान आंदोलन का समर्थन


क्लाइमेट एक्टिविस्ट ग्रेटा थनबर्ग ने किसान आन्दोलन का समर्थन किया था, जिसके बाद वे विवादों में घिर गईं थीं। उनके ट्वीट के साथ शेयर की गई टूलकिट को लेकर विवाद पैदा हो गया था। उन पर ये  आरोप लगा था कि भारत विरोधी साजिश के तहत टूलकिट के जरिए अंतरराष्ट्रीय हस्तियों से ट्वीट करवाए गए,  ताकि इस मामले को उभारा जा सके।

 

शनिवार को रिकॉर्ड 3 लाख 48 हजार लोगों में कोरोना की पुष्टि

भारत में शनिवार को रिकॉर्ड 3 लाख 48 हजार 979 लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई। एक दिन में मिले संक्रमितों का ये आंकड़ा अब तक का सबसे ज्यादा है। इस दौरान 2 लाख 15 हजार 803 लोगों ने कोरोना को मात भी दी। रोजाना 3 लाख से ज्यादा केस आने के बाद अस्पतालों में बेड, दवा और ऑक्सीजन की भयंकर कमी पैदा हो गई है।

 

 

Related Links