चीन ने रिकॉर्ड एक साथ भेजे 52 लड़ाकू विमान, ताइवान ने किया जंग की तैयारी का ऐलान



​​​​​​​ताइवान के विदेश मंत्री जोसेफ वू ने कहा कि इस जंग में चीन को भी भारी कीमत चुकानी पड़ेगी

वेब ख़बरिस्तान, ताइपे। चीनी सेना ने दादागिरी की सारी हदें पार करते हुए ताइवान के एयर डिफेंस आइडेंटिफिकेशन जोन में सोमवार को एक साथ 52 फाइटर जेट भेजे। यही नहीं उसके बाद फिर चार फाइटर जेट भेजे। पिछले 4 दिनों में चीन ने अब तक 149 फाइटर जेट ताइवान के एयर डिफेंस आइडेंटिफिकेशन जोन में भेजे हैं। चीन की इस सीनाजोरी के जवाब में अब ताइवान ने जंग की तैयारी का ऐलान किया है। चीन और ताइवान के बीच जारी इस तनाव से दक्षिण चीन सागर में युद्ध के बादल मंडराने लगे हैं।


इससे पहले चीन ने एयर डिफेंस आइडेंटिफिकेशन जोन में अब तक की सबसे बड़ी घुसपैठ करते हुए सोमवार को एक साथ 52 फाइटर जेट भेजे जिससे इलाके में तनाव अपने चरम पर पहुंच गया है। ताइवान के विदेश मंत्री जोसेफ वू ने चेतावनी दी है कि उनका देश अब चीन के साथ जंग की तैयारी कर रहा है और उन्होंने आस्ट्रेलिया से इसमें मदद मांगी है। ताइवान ने ऑस्ट्रेलिया से अपील की कि वह खुफिया जानकारी साझा करना तेज करे और सुरक्षा सहयोग करे।

ताइवान के  विदेश मंत्री ने एबीसी चैनल के एक प्रोग्राम में घोषणा की कि अगर चीन वास्तव में हमला करता है तो ताइवान उसका करारा जवाब देने के लिए खुदे को तैयार करेगा। जोसेफ वू ने कहा, 'ताइवान की सुरक्षा खुद हमारे हाथों में है और हम इसको लेकर पूरी तरह से प्रतिबद्ध हैं। अगर चीन ताइवान के खिलाफ जंग शुरू करने जा रहा है तो हम अंतिम दम तक लड़ेंगे और यह हमारी प्रतिबद्धता है।'

जोसेफ वू ने कहा कि चीन ने अगर ताइवान पर हमला किया तो उसे भी बहुत नुकसान उठाना पड़ेगा। इससे पहले ताइवान का 4 दिन से निरंतर सैन्य उत्पीड़न कर रहे चीन ने इस स्वायत्त क्षेत्र के समक्ष अपनी ताकत का अब तक का सबसे बड़ा प्रदर्शन करते हुए सोमवार को ताइपे की ओर 52 लड़ाकू विमान उड़ाए। ताइवान के रक्षा मंत्रालय के मुताबिक उड़ान भरने वाले लड़ाकू विमानों में 34 जे-16 लड़ाकू विमान और 12 एच-6 परमाणु बमवर्षक विमान थे।

Related Links