उपराष्ट्रपति अमरुल्ला सालेह ने लगाया आरोप- तालिबान को सहायता दे रहा पाकिस्तान



अफगानिस्तान की सेना की ओर से पाकिस्तान सीमा पर तालिबान के खिलाफ अभियान शुरू किया गया है।

वेब खबरिस्तान,काबुल। अफगानिस्तान की सेना की ओर से पाकिस्तान सीमा पर तालिबान के खिलाफ अभियान शुरू किया गया है। स्पिन बोल्डक जिले में अफगानी सैनिक और तालिबानी लड़ाके भिड़ गए चूंकि बोल्डक के व्यापारिक मार्ग, बाजार और सैन्य चौकियों पर तालिबान ने कब्जा कर लिया था। इसलिए अफगान सेना इसे छुड़ाने की कोशिश कर रही है। अफगानिस्तान के उपराष्ट्रपति अमरुल्ला सालेह ने पाकिस्तान पर तालिबान की मदद करने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा - पाकिस्तानी एयरफोर्स की ओर से अफगान आर्मी और एयरफोर्स को चेतावनी दी गई है कि वे स्पिन बोल्डक जिले से तालिबान को हटाने का प्रयास ना करें। अगर ऐसी कोशिश की तो पाकिस्तान जवाब में कड़ी कार्रवाई करेगा। उन्होंने कहा कि पाक वायुसेना ने तालिबान को कुछ क्षेत्रों में हवाई सहायता भी दी है।'

सालेह के आरोप अनुचित हैं


इस पर पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने कहा कि सालेह के आरोप अनुचित हैं। हमने केवल अपने अधिकार क्षेत्र में अपने सैनिकों और लोगों की हिफाजत के लिए जरूरी उपाय किए हैं।तालिबान ने शुक्रवार को मुठभेड़ में कपिसा प्रांत के डिप्टी गवर्नर अजीज-उर-रहमान की हत्या कर दी। बोल्डक जिले में हुई मुठभेड़ को लेकर वहां मौजूद पत्रकारों ने बताया कि दर्जनों तालिबानी लड़ाके घायल हुए हैं, जिनका पाकिस्तानी अस्पताल में इलाज चल रहा है।

भारतीय विदेश मंत्री जयशंकर ने राष्ट्रपति गनी से की मुलाकात

भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर ने अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी से मुलाकात की। जयशंकर ने कहा- अफगानिस्तान में शांति, स्थिरता और विकास के प्रति हमने अपना समर्थन दोहराया।गनी के कार्यालय ने कहा कि जयशंकर ने उन्हें बताया कि भारत अफगान को मानवीय मदद जारी रखेगा। अफगानिस्तान के समर्थन में भारत क्षेत्रीय सहमति मजबूत बनाने के लिए काम करता रहेगा।

Related Links