दुनिया

पाकिस्तान के गुजरांवाला कमिश्नर का कुत्ता हुआ लापता घर-घर ली जा रही तलाशी अगर किसी के घर मिला तो होगी करवाई

पाकिस्तान के गुजरांवाला कमिश्नर का कुत्ता हुआ लापता, घर-घर ली जा रही तलाशी, अगर किसी के घर मिला तो होगी करवाई

उनके ऑफिशियल रेसिडेंस का गेट कुछ समय के लिए खुला रह गया, इसी दौरान वह निकल भागा।

इटली के वैज्ञानिक ने की बड़ी खोज एक सेकेंड से भी कम वक्त में खत्म हो सकेगा कोरोना जानिए कैसे

इटली के वैज्ञानिक ने की बड़ी खोज, एक सेकेंड से भी कम वक्त में खत्म हो सकेगा कोरोना, जानिए कैसे

इटली के साइंटिस्ट ने बनाई लेजर मशीन, लेजर मार के खत्म कर सकेंगे कोरोना


टोक्यो ओलिंपिक 2021 की ओपनिंग सेरेमनी हुई, खिलाड़ियों ने खाली स्टेडियम में किया मार्चपास्ट

टोक्यो ओलिंपिक 2021 की ओपनिंग सेरेमनी हुई, खिलाड़ियों ने खाली स्टेडियम में किया मार्चपास्ट

वेब खबरिस्तान। कोरोना महामारी की वजह से एक साल की देरी से हो रहे टोक्यो ओलिंपिक की ओपनिंग सेरेमनी शुरू हो गई है। इस बार कोरोना संक्रमण के कारण सिर्फ 1000 खिलाड़ी और अधिकारी ही इस कार्यक्रम में मौजूद हैं। खिलाड़ियों का मार्च पास्ट 1896 में हुए पहले समर ओलिंपिक गेम्स के आयोजक ग्रीस के दल के साथ शुरू हुआ। इसके बाद रिफ्यूजी खिलाड़ियों ने मार्च पास्ट किया। खिलाड़ियों के मार्च पास्ट में भारत का दल 21वें नंबर पर आया। भारतीय दल के मार्च पास्ट में खिलाड़ी और अधिकारी मिलाकर 25 सदस्य शामिल रहे। 11,238 खिलाड़ी 33 खेलों में 339 गोल्ड के लिए दावेदारी पेश कर रहे इस बार 11,238 खिलाड़ी 33 खेलों में 339 गोल्ड के लिए दावेदारी पेश कर रहे हैं। ओपनिंग सेरेमनी में जापान के सम्राट नारुहितो भी शामिल हुए हैं। नोबेल शांति पुरस्कार जीत चुके बांग्लादेश के मोहम्मद यूनुस को विशेष ओलिंपिक पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया। सबसे पहले कोरोना महामारी के कारण दुनियाभर में जान गंवाने वाले लोगों को श्रद्धांजलि दी गई। हालाँकि टोक्यो निवासी कोरोनाकाल में हो रहे इस ओलिंपिक का विरोध कर रहे हैं। ओपनिंग सेरेमनी से पहले मुख्य स्टेडियम के बाहर प्रदर्शनकारियों ने ओलिंपिक के विरोध में नारे लगाए। जिल बाईडेन भी स्टेडियम पहुंची भारत ने ओपनिंग सेरेमनी के लिए पुरुष हॉकी टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह और 6 बार की बॉक्सिंग वर्ल्ड चैम्पियन एमसी मेरीकॉम को ध्वजवाहक बनाया। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन की पत्नी जिल बाइडेन ओलिंपिक स्टेडियम पहुंची। अमेरिका के 613 एथलीट इस ओलिंपिक में हिस्सा ले रहे हैं। कोरोना महामारी के कारण टोक्यो ओलिंपिक में विजेता एथलीटों को खुद ही अपने गले में मेडल डालना होगा। साथ ही मेडल सेरेमनी के दौरान एथलीटों के हाथ मिलाने और गले मिलने पर रोक होगी।

https://webkhabristan.com/world/opening-ceremony-of-tokyo-olympics-2021-took-place-players-march-past--2963
चीन में बाढ़ का मंजर, अब तक 25 लोगों की हो चुकी मौत, देखें तस्वीरें

चीन में बाढ़ का मंजर, अब तक 25 लोगों की हो चुकी मौत, देखें तस्वीरें

वेब ख़बरिस्तान, बीजिंग। चीन के हेनान प्रांत में मौसम ने कहर बरपाया है। एक हजार साल की सबसे भीषण बारिश से भयावह बाढ़ के हालात बने हुए हैं। एक दर्जन से अधिक शहर जलमग्न हो गए हैं। टनल में फंसी मैट्रो में पानी भर गया और स्टेशनों से लोग निकल नहीं पाए। यिचुआन में उफनती नदी के पानी को मो़ड़ने के लिए सेना को एक क्षतिग्रस्त बांध को उ़़डाना पड़ा है। कई नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं। ग्लोबल टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार 12 लाख से ज्यादा लोग बाढ़ से प्रभावित हुए हैं। पौने दो लाख से ज्यादा लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। अब तक 25 लोगों की मौत हो चुकी है, इनमें मेट्रो ट्रेन में पानी भरने से मरने वाले 12 लोग शामिल हैं। मेट्रो सुरंगें पूरी तरह जलमग्न हो गई हैं। राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने कहा है कि राहत कार्य मुश्किल भरा है। फ्लाइटें रद झेंगझोऊ रेलवे स्टेशन से जाने वाली करीब 160 ट्रेन रोक दी गई हैं। हजारों लोग बिना बिजली-पानी के रहने को मजबूर हैं। सैकड़ों फ्लाइट रद कर दी गई हैं। बाढ़ में बौद्ध भिक्षुओं का शाओलिन मंदिर भी घिरा हुआ है। यह मंदिर मार्शल आर्ट के कारण विश्व प्रसिद्ध है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, सबवे ट्रेनों में फंसे यात्री जान बचाने के लिए हैंडलबार से चिपककर राहत दल का इंतजार कर रहे थे। ये लोग गर्दन तक पानी में डूबे हुए थे। बाढ़से घिरी सबवे ट्रेनों से 500 लोगों को राहत दलों ने निकाला है। हेनान प्रांत के एक दर्जन शहरों में पानी भरा हुआ है। आगे का मौसम मौसम विभाग का अगले तीन दिनों तक बारिश का अनुमान है। झेंगझोऊ में शनिवार से मंगलवार तक 617.1 मिमी. तक बारिश हो गई थी। यह पूरे साल की औसतन 640.8 मिमी. बारिश के लगभग बराबर है। ऐसी बारिश हजार साल बाद हुई है। <iframe width="560" height="315" src="https://www.youtube.com/embed/XB45GOkaPjA" title="YouTube video player" frameborder="0" allow="accelerometer; autoplay; clipboard-write; encrypted-media; gyroscope; picture-in-picture" allowfullscreen></iframe> <iframe width="560" height="315" src="https://www.youtube.com/embed/VRfZT_M6lDE" title="YouTube video player" frameborder="0" allow="accelerometer; autoplay; clipboard-write; encrypted-media; gyroscope; picture-in-picture" allowfullscreen></iframe> <blockquote class="twitter-tweet"><p lang="hi" dir="ltr">चीन में भारी तबाही मचा रही बाढ़, ट्रेन में गले तक पानी में डूबे लोगों ने सोशल मीडिया पर शेयर किया डरावना अनुभव#l<a href="https://twitter.com/hashtag/%E0%A4%95%E0%A5%87%E0%A4%82%E0%A4%A6%E0%A5%8D%E0%A4%B0?src=hash&amp;ref_src=twsrc%5Etfw">#केंद्र</a> सरकार <a href="https://twitter.com/hashtag/21%E0%A4%9C%E0%A5%81%E0%A4%B2%E0%A4%BE%E0%A4%88_%E0%A4%AD%E0%A5%80%E0%A4%AE%E0%A4%86%E0%A4%B0%E0%A5%8D%E0%A4%AE%E0%A5%80_%E0%A4%B8%E0%A5%8D%E0%A4%A5%E0%A4%BE%E0%A4%AA%E0%A4%A8%E0%A4%BE_%E0%A4%A6%E0%A4%BF%E0%A4%B5%E0%A4%B8?src=hash&amp;ref_src=twsrc%5Etfw">#21जुलाई_भीमआर्मी_स्थापना_दिवस</a> <a href="https://twitter.com/hashtag/ChinaFloods?src=hash&amp;ref_src=twsrc%5Etfw">#ChinaFloods</a> <a href="https://twitter.com/hashtag/China?src=hash&amp;ref_src=twsrc%5Etfw">#China</a> <a href="https://twitter.com/hashtag/Chinaflooding?src=hash&amp;ref_src=twsrc%5Etfw">#Chinaflooding</a> <a href="https://twitter.com/hashtag/ChinaLiedPeopleDied?src=hash&amp;ref_src=twsrc%5Etfw">#ChinaLiedPeopleDied</a> <a href="https://twitter.com/hashtag/ChinaGlobalThreat?src=hash&amp;ref_src=twsrc%5Etfw">#ChinaGlobalThreat</a> <a href="https://twitter.com/hashtag/ChinaRains?src=hash&amp;ref_src=twsrc%5Etfw">#ChinaRains</a> <a href="https://twitter.com/hashtag/ChinaLiedMillionsDied?src=hash&amp;ref_src=twsrc%5Etfw">#ChinaLiedMillionsDied</a> <a href="https://t.co/tgkG4jsLq2">pic.twitter.com/tgkG4jsLq2</a></p>&mdash; Web Khabristan (@WebKhabristan) <a href="https://twitter.com/WebKhabristan/status/1417927542644776961?ref_src=twsrc%5Etfw">July 21, 2021</a></blockquote> <script async src="https://platform.twitter.com/widgets.js" charset="utf-8"></script>

https://webkhabristan.com/world/flood-scene-in-china-25-people-have-died-so-far-see-photos-2949
ट्रक और बस की टक्कर में हुई 30 लोगों की मौत, 40 से ज्यादा घायल

ट्रक और बस की टक्कर में हुई 30 लोगों की मौत, 40 से ज्यादा घायल

वेब खबरिस्तान,मुजफ्फरगढ़। पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में बस और ट्रक की भीषण टक्कर में 30 यात्रियों की मौत हो गई। इनमें विभिन्न औरतें और बच्चे भी शामिल हैं। 40 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं जबकि इनमें से 4 की हालत बेहद गंभीर बनी हुई है। यह हादसा मुजफ्फरगढ़ के डेरा गाजी खान के पास तनुसा रोड पर हुआ। ईद का त्यौहार मनाने घर जा रहे थे मीडिया रिपोर्ट्स अनुसार बस बहुत तेज रफ्तार में चल रही थी। डिस्ट्रिक्ट इमरजेंसी ऑफिसर डॉ. नैय्यर आलम के मुताबिक बस में 75 यात्री सवार थे। ज्यादातर मजदूर थे, जो ईद के त्योहार पर छुटि्टयां मनाने घर जा रहे थे। बस सियालकोट से राजनपुर जा रही थी। इलाके के कमिश्नर डॉ. इरशाद अहमद ने बताया कि मौके पर राहत और बचाव टीम पहुंच गई है। मरने वालों के शव और घायलों को डेरा गाजी खान इलाके के सरकारी अस्पताल भेजा गया है। पाकिस्तान के गृहमंत्री शेख राशिद ने कहा है कि वे घटना पर लगातार नजर बनाए हुए हैं।

https://webkhabristan.com/world/truck-and-bus-collided-in-pakistan-30-dead-and-more-than-40-injured-2911
तालिबान ने कहा- हमने फोटो जर्नलिस्ट पर हमला नहीं किया, किसकी गोली से उसकी जान गई मालूम नहीं

तालिबान ने कहा- हमने फोटो जर्नलिस्ट पर हमला नहीं किया, किसकी गोली से उसकी जान गई मालूम नहीं

वेब खबरिस्तान, नई दिल्ली। आतंकी संगठन तालिबान ने अफगानिस्तान के कंधार में हुई भारतीय फोटो जर्नलिस्ट दानिश सिद्दीकी की मौत पर दुख जताया। उनके प्रवक्ता जबीउल्लाह मुजाहिद ने सीएनएन -न्यूज 18 से कहा कि सिद्दीकी की मौत का दुख है। उन्होंने कहा, 'हमें नहीं पता कि किसकी गोलीबारी में पत्रकार मारा गया। युद्धग्रस्त इलाके में आने वाले किसी भी पत्रकार को हमें इसकी जानकारी देनी चाहिए। हम उसकी पूरी देखभाल करेंगे। पुलित्जर पुरस्कार विजेता पत्रकार 38 साल के थे अफगान सुरक्षा बलों और तालिबान लड़ाकों के बीच हुई झड़प को कवर करने गये रॉयटर्स के फोटोजर्नलिस्ट दानिश सिद्दीकी की मौत हो गई थी। वे 38 साल के थे और उन्हें पुलित्जर पुरस्कार भी मिला था। अफगान के कमांडर ने रॉयटर्स को बताया कि अफगान सेना स्पिन बोल्डक के मुख्य बाजार इलाके पर कब्जा करने के लिए लड़ रही थी । तब सिद्दीकी और एक सीनियर अफगान अधिकारी मारे गए। दानिश का शव रेड क्रॉस की अंतर्राष्ट्रीय समिति को सौंपा तालिबान की ओर से दानिश सिद्दीकी का शव रेड क्रॉस की अंतर्राष्ट्रीय समिति को सौंप दिया गया है। भारतीय अधिकारी इसे वापस लाने पर काम कर रहे हैं। रॉयटर्स के प्रेसिडेंट माइकल फ्रिडेनबर्ग और एडिटर-इन-चीफ एलेसेंड्रा गैलोनी ने कहा कि सिद्दीकी एक आउटस्टैंडिंग जर्नलिस्ट, एक समर्पित पति और पिता थे। हमारी संवेदनाएं उनके परिवार के साथ हैं।' दानिश ने 2007 में ली थी मास कम्युनिकेशन डिग्री दानिश ने दिल्ली की जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के मास कम्युनिकेशन रिसर्च सेंटर से मास कम्युनिकेशन की डिग्री साल 2007 में ली थी। उन्होंने अपना करियर टीवी से शुरू किया और साल 2010 में रॉयटर्स से जुड़ गए। सिद्दीकी ने रोहिंग्या शरणार्थियों की समस्या को अपनी तस्वीरों से दिखाया जिसे देखकर देखकर लोगों को रोहिंग्या संकट की गंभीरता का अंदाजा लगा। 2018 में उनकी टीम को पुलित्जर अवॉर्ड मिला था।

https://webkhabristan.com/world/taliban-said---we-did-not-attacked-on-photojournalist-danish-siddiqui-2890
उपराष्ट्रपति अमरुल्ला सालेह ने लगाया आरोप- तालिबान को सहायता दे रहा पाकिस्तान

उपराष्ट्रपति अमरुल्ला सालेह ने लगाया आरोप- तालिबान को सहायता दे रहा पाकिस्तान

वेब खबरिस्तान,काबुल। अफगानिस्तान की सेना की ओर से पाकिस्तान सीमा पर तालिबान के खिलाफ अभियान शुरू किया गया है। स्पिन बोल्डक जिले में अफगानी सैनिक और तालिबानी लड़ाके भिड़ गए चूंकि बोल्डक के व्यापारिक मार्ग, बाजार और सैन्य चौकियों पर तालिबान ने कब्जा कर लिया था। इसलिए अफगान सेना इसे छुड़ाने की कोशिश कर रही है। अफगानिस्तान के उपराष्ट्रपति अमरुल्ला सालेह ने पाकिस्तान पर तालिबान की मदद करने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा - पाकिस्तानी एयरफोर्स की ओर से अफगान आर्मी और एयरफोर्स को चेतावनी दी गई है कि वे स्पिन बोल्डक जिले से तालिबान को हटाने का प्रयास ना करें। अगर ऐसी कोशिश की तो पाकिस्तान जवाब में कड़ी कार्रवाई करेगा। उन्होंने कहा कि पाक वायुसेना ने तालिबान को कुछ क्षेत्रों में हवाई सहायता भी दी है।' सालेह के आरोप अनुचित हैं इस पर पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने कहा कि सालेह के आरोप अनुचित हैं। हमने केवल अपने अधिकार क्षेत्र में अपने सैनिकों और लोगों की हिफाजत के लिए जरूरी उपाय किए हैं। तालिबान ने शुक्रवार को मुठभेड़ में कपिसा प्रांत के डिप्टी गवर्नर अजीज-उर-रहमान की हत्या कर दी। बोल्डक जिले में हुई मुठभेड़ को लेकर वहां मौजूद पत्रकारों ने बताया कि दर्जनों तालिबानी लड़ाके घायल हुए हैं, जिनका पाकिस्तानी अस्पताल में इलाज चल रहा है। भारतीय विदेश मंत्री जयशंकर ने राष्ट्रपति गनी से की मुलाकात भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर ने अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी से मुलाकात की। जयशंकर ने कहा- अफगानिस्तान में शांति, स्थिरता और विकास के प्रति हमने अपना समर्थन दोहराया। गनी के कार्यालय ने कहा कि जयशंकर ने उन्हें बताया कि भारत अफगान को मानवीय मदद जारी रखेगा। अफगानिस्तान के समर्थन में भारत क्षेत्रीय सहमति मजबूत बनाने के लिए काम करता रहेगा।

https://webkhabristan.com/world/afghanistans-vice-president-amrullah-saleh-says-pakistan-helping-taliban-2870
जर्मनी और बेल्जियम में बाढ़ का कहर, अब तक 70 लोगों की मौत

जर्मनी और बेल्जियम में बाढ़ का कहर, अब तक 70 लोगों की मौत

वेब ख़बरिस्तान। जर्मनी और बेल्जियम में रिकॉर्ड बारिश के बाद नदियां उफ़ान पर हैं और नदियों के किनारे टूट गए हैं। बारिश का कहर बाढ़ बनकर बह रहा है और इस आपदा के कारण अब तक कम से कम 70 लोगों की मौत हो चुकी है। कई लोग लापता हो चुके हैं। ज़्यादातर मौतें जर्मनी में हुई हैं लेकिन बेल्जियम में भी कम से कम 11 लोगों की मौत हुई है। बाढ़ का सबसे ज़्यादा असर जर्मनी के राइनलैंड-पलाटिनेट और उत्तरी राइन-वेस्टफेलिया प्रांतों में है। साथ ही नीदरलैंड मे भी स्थिति बेहद गंभीर है। आज भी पूरे क्षेत्र में भारी बारिश का अनुमान है। स्थानीय अधिकारियों का कहना है कि यह आपदा जलवायु परिवर्तन का परिणाम है। नॉर्थ राइन-वेस्टफ़ेलिया के प्रीमियर आर्मिन लैसेट ने बारिश-बाढ़ से प्रभावित एक इलाक़े के दौरे के दौरान ग्लोबल वॉर्मिंग को इसके लिए प्रमुख कारण बताया। उन्होंने कहा, "हमें आगे भी इस तरह की घटनाओं का सामना करना पड़ेगा और इसका मतलब है कि हमें जलवायु संरक्षण के उपायों को तेज़ करने की ज़रूरत है क्योंकि जलवायु परिवर्तन के प्रभाव किसी एक राज्य तक ही सीमित नहीं है." जर्मनी की चांसलर ने मृतकों के प्रति जताई संवेदना अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन के साथ एक बैठक के सिलसिले में अमेरिका पहुंचीं जर्मनी की चांसलर एंगेला मर्केल ने कहा है कि उन्हें इस आपदा से "गहरा धक्का लगा" है। एंगेला मर्केल ने अपने एक संबोधन में जर्मनी में बाढ़ की स्थिति को तबाही बताया। उन्होंने बाढ़ के कारण अपनी जान गंवाने वालों के प्रति भी संवेदना ज़ाहिर की। उन्होंने कहा, "मेरी संवेदनाए आपके साथ हैं और आप इस बात पर भरोसा कर सकते हैं कि हमारी सरकार हर तरह से लोगों के जीवन की रक्षा करने, ख़तरे को कम करने और इस संकट को दूर करने के लिए सबकुछ करेगी।” जर्मनी में प्रभावित इलाक़ों में बाढ़ में फंसे हुए लोगों की मदद के लिए पुलिस, हेलीकॉप्टर और सैकड़ों सैनिकों को तैनात किया गया है। 25 घर ऐसे जो कभी भी ढह सकते हैं जर्मनी के पश्चिम इलाक़े में स्कूलों को बंद कर दिया गया है। इस इलाक़े में परिवहन व्यवस्था को बुरी तरह से नुकसान पहुंचा है और संपर्क बाधित हुआ है। जर्मन ब्रॉडकास्टर एसडब्ल्यूआर के अनुसार, पहाड़ी एफ़ेल क्षेत्र के शुड बी अडेनौ ज़िले में लगभग 25 घर ऐसे हैं जो कभी भी ढह सकते हैं। इस इलाक़े में आपातकाल स्थिति की घोषणा कर दी गई है।

https://webkhabristan.com/world/flood-havoc-in-germany-and-belgium-70-people-died--2857
पाकिस्‍तान में चीनी इंजीनियर्स को ले जा रही बस में धमाका, आठ की मौत

पाकिस्‍तान में चीनी इंजीनियर्स को ले जा रही बस में धमाका, आठ की मौत

वेब ख़बरिस्तान, पेशावर। चीन के इंजीनियर्स से भरी बस में बुधवार सुबह धमाका हो जाने से आठ लोगों की मौत हो गई है। घटना उत्तरी पाकिस्तान में हुई। बस में ये धमाका चीनी नागरिकों को निशाना बनाने के लिए ही किया गया था। ये धमाका ऊपरी कोहिस्‍तान में हुआ था। हजारा क्षेत्र के वरिष्‍ठ प्रशासनिक अधिकारी ने बताया है कि इसमें आठ लोगों की मौत हुई है। उन्‍होंने बताया कि ये बस करीब 30 चीन के इंजीनियर्स को लेकर ऊपरी कोहिस्‍तान के दायू बांध की साइट पर जा रही थी। इस हादसे में चीन के इंजीनियर के अलावा दो संसदीय सुरक्षाकर्मियों की भी मौत हुई है। पाकिस्‍तान में चीन द्वारा बनाए जा रहे विभिन्‍न प्रोजेक्‍टों के सिलसिले में भारी संख्‍या में चीनी नागरिक पाकिस्‍तान में रह रहे हैं। हालांकि कुछ जगहों पर चीन के शुरू किए विभिन्‍न प्रोजेक्‍ट्स को लेकर लोगों में रोष है। अगस्‍त 2018 में भी क्‍वेटा में चीनी नागरिकों पर इसी तरह का हमला किया गया था। इसमें छह लोग मारे गए थे, जिनमें से 3 चीन के इंजीनियर थे। इस हमले की जिम्‍मेदारी बलूचिस्‍तान लिबरेशन आर्मी ने ली थी।

https://webkhabristan.com/world/explosion-in-bus-carrying-chinese-engineers-in-pakistan-eight-killed-2832
दक्षिण अफ्रीका की जेल में बंद पूर्व राष्‍ट्रपति जैकब जुमा के समर्थन में भीषण हिंसा

दक्षिण अफ्रीका की जेल में बंद पूर्व राष्‍ट्रपति जैकब जुमा के समर्थन में भीषण हिंसा

वेब खबरिस्तान, जोहानिसबर्ग। दक्षिण अफ्रीका के पूर्व राष्‍ट्रपति जैकब जुमा के समर्थन में भीषण दंगे हो रहे हैं। वहां हिंसा भड़क गई है। दरअसल ये दंगाई जुमा को कोर्ट की अवमानना करने के आरोप में जेल भेजे जाने के खिलाफ हैं और उसका विरोध कर रहे हैं। हालात बेकाबू हुए तो दक्षिण अफ्रीका की सेना ने जोहानिसबर्ग शहर समेत दो राज्यों में बड़ी तादाद में सैनिकों को तैनात कर दिया है। यह दंगे ऐसे समय पर हो रहे हैं जब सुप्रीम कोर्ट की ओर से जुमा के 15 महीने की जेल को चुनौती देने वाली याचिका पर सुनवाई शुरू कर दी गई है। 6 लोगों की मौत, 200 से ज्यादा अरेस्ट पुलिस की ओर से दी गई जानकारी अनुसार इस हिंसा में अब तक 6 लोगों की मौत हो गई है। 200 से ज्‍यादा लोगों को अरेस्‍ट किया गया है। हर तरफ हिंसा के माहौल को देखते हुए गौटेंग और क्वाजुलू-नताल में सेना को तैनात किया गया है, ताकि दंगे को रोका जा सके। क्वाजुलू-नताल जुमा का गृह प्रांत है। जुमा 2009 से 2018 तक दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति रहे। उनके कार्यकाल में कथित भ्रष्टाचार के मामले में जांच कर रहे एक न्यायिक आयोग के समक्ष उपस्थित नहीं होने के बाद अदालत की अवमानना के मामले में जुमा इस समय एस्टकोर्ट करेक्शनल सेंटर में बंद हैं। जुमा को 15 महीने जेल की सजा जुमा को 15 महीने जेल की सजा सुनाई गयी थी। उन्होंने बुधवार को पुलिस को अपनी गिरफ्तारी दी। लेकिन 79 वर्षीय नेता ने भ्रष्टाचार के आरोपों को खारिज किया है। उनकी गिरफ्तारी के बाद देशभर में उनके समर्थकों ने हिंसक प्रदर्शन शुरू कर दिये। उन्होंने टायर जलाकर और अन्य अवरोधक डालकर रास्तों को बाधित कर दिया। दंगाइयों ने वाहनों को जलाया और दुकानों को लूट लिया। राष्ट्रपति ने विरोध-प्रदर्शनों की निंदा की एसएएनडीएफ ने कहा कि उसने कानून प्रवर्तन एजेंसियों की मदद के लिए मिले अनुरोध के बाद तैनाती कर दी है। दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामाफोसा ने देश के पूर्व राष्ट्रपति जैकब जुमा की सजा के विरोध में आर्थिक रूप से महत्वपूर्ण प्रांतों में पिछले कुछ दिनों से चल रहे हिंसक विरोध-प्रदर्शनों की निंदा की है। रामाफोसा ने कहा, राष्ट्रीय राजमार्ग जैसे महत्वपूर्ण बुनियादी ढांचे प्रभावित हुए हैं और सामान और सेवाओं की आवाजाही धीमी पड़ने से हमारी अर्थव्यवस्था को नुकसान पहुंचा है। दक्षिण अफ्रीका के चैंबर ऑफ कॉमर्स ने चेतावनी दी है कि इससे देश की अर्थव्यवस्था को बड़ा झटका लग सकता है। दंगाइयों से कोविड-19 के तेजी से फैलने की भी आशंकाएं हैं।

https://webkhabristan.com/world/in-support-of-ex-president-jacob-zuma--protestors-turns-violent--2823