दुनिया

हमास और इजराइल के बीच हवाई हमले अब तक 38 जानें गईं केरल की महिला की भी मौत

हमास और इजराइल के बीच हवाई हमले, अब तक 38 जानें गईं, केरल की महिला की भी मौत

हमास और इजराइल के बीच हवाई हमले हुए, जिसमें 38 लोगो की जान चली गई है। दरअसल इजराइल और फिलिस्तीन के बीच रविवार को शुरू हुआ विवाद जंग की ओर बढ़ रहा है

141 अरब हो गई चीन की जनसंख्या 538 फीसद की हुई बढ़ोतरी

1.41 अरब हो गई चीन की जनसंख्या, 5.38 फीसद की हुई बढ़ोतरी

2010 की जनगणना में चीन की आबादी थी 1.39 अरब, 15 से 59 वर्ष वालों की संख्या 89.40 करोड़


स्कूल में अंधाधुंध फायरिंग, दो बच्चे खिड़की से कूदे , मौत

स्कूल में अंधाधुंध फायरिंग, दो बच्चे खिड़की से कूदे , मौत

वेब खबरिस्तान। रूस के काजान शहर में हमलावरों ने मंगलवार को एक स्कूल में घुसकर फायरिंग कर दी। इसमें अब तक 13 लोगों की मौत हो चुकी है। बताया जा रहा है कि मरने वालों में 8 बच्चे और एक टीचर शामिल है। दरअसल हमला होने पर दो बच्चे तीसरी मंजिल की खिड़की से कूद गए। ज्यादा ऊंचाई से गिरने के कारण उनकी मौत हो गई। स्कूल के अन्दर हुआ धमाका रूस की न्यूज एजेंसी आरआईऐ ने बताया कि स्कूल की चौथी मंजिल पर एक हमलावर ने कुछ लोगों को बंधक भी बना रखा है। 12 घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। स्कूल के अंदर एक धमाका भी हुआ है। सुरक्षाबलों ने दो हमलावर को मार गिराया है। जबकि एक संदिग्ध को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने बताया कि हमले का मकसद अभी साफ नहीं है।

https://webkhabristan.com/world/firing-in-school-two-children-died-by-jumping-from-window-1792
नेपाल में गिरी ओली सरकार, समर्थन में 93 व विरोध में 124 सांसदों ने दिया वोट

नेपाल में गिरी ओली सरकार, समर्थन में 93 व विरोध में 124 सांसदों ने दिया वोट

वेब खबरिस्तान। नेपाल में प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली संसद में विश्वास मत हार गए, जिसके बाद उनकी सरकार गिर गई। टोटल 275 सदस्यों वाली प्रतिनिधि सभा में हुए मतदान में ओली के समर्थन में केवल 93 वोट पड़े। हालांकि सरकार बचाने के लिए 136 वोट चाहिए थे। दरअसल सहयोगी दल नेपाली कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी केंद्र) के समर्थन वापस लेने से यह स्थिति पैदा हुई। पुष्प कमल दहल प्रचंड की अगुवाई वाली पार्टी के प्रतिनिधि सभा में 49 सदस्य हैं। विश्वास मत के लिए प्रतिनिधि सभा का विशेष सत्र कोरोना संक्रमण के बीच आहूत किया गया था। ओली की नेपाली कम्युनिस्ट पार्टी के चार सांसदों की सदस्यता इस समय निलंबित चल रही है। इस वजह से सदन में बहुमत का आंकड़ा घटकर 136 हो गया था। मतदान में ओली के पक्ष में 93 वोट पड़े जबकि विरोध में 124 वोट पड़े। 15 सदस्यों ने मतदान में भाग नहीं लिया। विश्वास मत की कार्यवाही के दौरान सदन में कुल 232 सदस्य मौजूद थे। नेपाल के संविधान के अनुच्छेद 100 (3) के प्रविधान के मुताबिक़ संसद में विश्वास मत हारने की घोषणा होने के तुरंत बाद ओली सरकार अस्तित्वविहीन हो गई। सदन की बैठक अनिश्चित काल के लिए स्थगित कर दी गई है। मुख्य विपक्षी दल नेपाली कांग्रेस के 61 और नेकपा (माओवादी केंद्र) के 49 सदस्यों ने विश्वास मत के खिलाफ मतदान किया। जबकि जनता समाजवादी पार्टी के 32 सदस्यों में से कुछ ने सरकार के समर्थन में तो कुछ ने विरोध में मतदान किया। इसका महंत ठाकुर धड़ा मतदान से अलग रहा जबकि उपेंद्र यादव धड़े ने ओली के विरोध में मतदान किया। ओली विरोधी मुहिम में शामिल नेपाली कम्युनिस्ट पार्टी के माधव नेपाल और झालानाथ खनाल की अगुवाई वाले धड़े के 28 सांसद विश्वास मत की प्रक्रिया से अनुपस्थित रहे। नई सरकार के गठन की प्रक्रिया शुरू करने की मांग नेपाली कांग्रेस के अध्यक्ष शेर बहादुर देउबा, नेकपा (माओवादी केंद्र) के प्रमुख पुष्प कमल दहल प्रचंड और जनता समाजवादी पार्टी के चेयरमैन उपेंद्र यादव ने राष्ट्रपति भंडारी से संवैधानिक प्रविधान के अनुसार वैकल्पिक सरकार के गठन की प्रक्रिया शुरू करने की मांग की। नई सरकार गठबंधन सरकार होगी।

https://webkhabristan.com/world/oli-government-dismissed-as-only-got-93-votes-in-favour-1790
बर्थडे पार्टी में हुई गोलीबारी,  हमलावर की प्रेमिका समेत 7 की मृत्यु

बर्थडे पार्टी में हुई गोलीबारी,  हमलावर की प्रेमिका समेत 7 की मृत्यु

वेब खबरिस्तान, वाशिंगटन : अमेरिका के कोलोराडो में एक बर्थडे पार्टी चल रही थी, तभी एक व्यक्ति ने अचानक गोलीबारी शुरू कर दी। इसमें हमलावर की प्रेमिका समेत छह लोगों की मौत हो गई। इसके बाद उसने खुद को भी गोली मार ली। कोलोराडो स्प्रिंग्स पुलिस के मुताबिक़ घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे। देखा गया कि वहां पर छह लोग के शव पड़े हुए थे। एक घायल व्यक्ति को अस्पताल पहुंचाया गया, जहां उसकी मौत हो गई। बताया गया कि हमलावर पार्टी में मौजूद एक महिला का प्रेमी था। पार्टी में बच्चे भी मौजूद थे, लेकिन सब सुरक्षित हैं। मेयर जॉन सदर्स ने इसे मूर्खतापूर्ण हादसा बताया।

https://webkhabristan.com/world/firing-in-birthday-party-accuseds-girlfriend-died-1786
अमेरिकी दस्तावेजों से चीन की कोरोना साजिश का खुलासा

अमेरिकी दस्तावेजों से चीन की कोरोना साजिश का खुलासा

वेब खबरिस्तान। चीन पिछले छह साल से कोरोना पर रिसर्च कर रहा था। चीनी विज्ञानियों और स्वास्थ्य अधिकारियों के 2015 में लिखे दस्तावेज से ये खुलासा हुआ है। दस्तावेज में वायरस को कृत्रिम तरीके से इंसानों में बीमारी फैलाने वाले वायरस में बदलकर हथियार की तरह इस्तेमाल करने की बात कही गई है। विदेशी मीडिय ने इस हवाले से खबरें प्रकाशित की हैं। ऑस्ट्रेलिया के समाचार पत्र 'द ऑस्ट्रेलियन में छपी रिपोर्ट के मुताबिक चीन के सैन्य विज्ञानियों और वरिष्ठ स्वास्थ्य अफसरों ने इन दस्तावेजों को लिखा था। सार्स कोरोना वायरस को नए युग के जैविक हथियार के तौर पर पेश करने की बात कही गई है। अमेरिकी वायुसेना के कर्नल माइकल जे एन्सकफ का भी संदर्भ दिया गया है, जिन्होंने कहा था कि तीसरा विश्व युद्ध जैविक हथियारों से लड़ा जाएगा। सार्स महामारी के बाद की बात चीनी विज्ञानियों के मुताबिक वायरस को कृत्रिम रूप से इंसानों में बीमारी फैलाने वाला वायरस बनाया जा सकता है। दस्तावेज लिखने वालों में चीन में स्वास्थ्य व्यवस्था से जुड़ी हस्तियों के नाम हैं। दस्तावेज में कहा गया है कि 2003 में चीन को चीन सार्स महामारी का सामना करना पड़ा था, वह मानव निर्मित जैविक हथियार हो सकता है, जिसे आतंकियों ने छोड़ा हो।ऑस्ट्रेलियन स्ट्रेटजिक पॉलिसी इंस्टीट्यूट (एएसपीआइ) के एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर पीटर जेनिंग्स ने न्यूज डॉट कॉम डॉट एयू से कहा, 'ये दस्तावेज अहम सुबूत है। मुझे लगता है कि ये महत्वपूर्ण है, क्योंकि इसमें स्पष्ट है कि चीन के वैज्ञानिक कोरोना वायरस के अलग-अलग स्ट्रेन का इस्तेमाल हथियार के तौर पर करने का विचार कर रहे थे। इस दस्तावेज से यह बात भी समझ आती है कि क्यों चीन कोरोना महामारी के फैलने की जांच अन्य देशों को नहीं करने देना चाहता है।

https://webkhabristan.com/world/chinas-corona-plot-revealed-1762
कोरोना के बीच पुतिन ने मास्को में करवाई सैन्य परेड

कोरोना के बीच पुतिन ने मास्को में करवाई सैन्य परेड

वेब खबरिस्तान। मास्को में रूस ने दूसरे विश्वयुद्ध में मिली जीत की याद में सैन्य परेड निकाली, जिसका निरीक्षण राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने किया। सेना ने अपनी सैन्य ताकत का प्रदर्शन किया। ये पश्चिमी देशों को पुतिन का संदेश माना जा रहा है। जर्मनी पर रूस की विजय की 76 वीं वर्षगांठ पर निकाली परेड में दस हजार से ज्यादा सैनिकों ने विध्वंसकारी सैन्य हथियारों का प्रदर्शन किया गया। 80 लड़ाकू विमानों ने कौशल का प्रदर्शन भी किया। 1999 से रूस की सत्ता पर राष्ट्रपति या प्रधानमंत्री के रूप में काबिज पुतिन ने लाल चौक पर बने मंच से सेना से रिटायर्ड बुजुर्ग सैन्य योद्धाओं के साथ बैठकर परेड देखी। पुतिन ने दिया संदेश पुतिन ने कहा, दुर्भाग्य से एक बार फिर नाजियों की विचारधारा वाली चीजों को तैयार किया जा रहा है। ऐसा कïट्टरपंथी और अंतरराष्ट्रीय आतंकी समूहों द्वारा ही नहीं हो रहा, बल्कि कुछ देश भी इसमें शामिल हैं। उनका उद्देश्य यूरोप में नव नाजीवाद की स्थापना करना है। रूस हर संभव तरीके से अंतरराष्ट्रीय नियमों का पालन करेगा। लेकिन वह राष्ट्रीय हितों और अपने लोगों की सुरक्षा को सबसे ऊपर रखेगा। ये बात सबको ध्यान में रखनी चाहिए। परेड तब हुई है उस समय यूक्रेन और जेल में बंद विपक्षी नेता एलेक्सई नवलनी को लेकर रूस के पश्चिमी देशों से तनावपूर्ण संबंध चल रहे हैं। अमेरिका और रूस ने अपने-अपने देशों से एक-दूसरे के राजनयिकों को कुछ समय पहले ही निष्कासित किया है। यूरोपीय यूनियन के सदस्य देशों ने भी रूस के साथ ऐसा ही व्यवहार किया है।

https://webkhabristan.com/world/military-parade-in-moscow-1761
अमेरिका में अब राह चलते लोग भी लगवा सकेंगे वैक्सीन

अमेरिका में अब राह चलते लोग भी लगवा सकेंगे वैक्सीन

वेब खबरिस्तान। अमेरिका के लोगों के लिए खुशखबरी है। अब यहाँ कोई भी राह चलते आसानी से टीका लगवा सकता है। इसके लिए हजारों फार्मेसी और मोबाइल क्लीनिक की व्यवस्था की गई है। सरकार की ओर से यह कदम कोरोना महामारी के खिलाफ टीकाकरण अभियान में तेजी लाने के लिए उठाया गया है। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने टीकाकरण को बढ़ावा देने के लिए इस सुविधा का एलान किया था। उन्होंने कहा, 'हम टीकाकरण को आसान बनाने जा रहे हैं। बाइडन की ओर से यह एलान ऐसे समय में किया गया , जब अमेरिका में टीकाकरण अभियान की गति धीमी पडऩे लगी थी। अमेरिका में अब तक 15 करोड़ लोगों का टीकाकरण हो चुका है। अमेरिका में नए मामलों में काफी गिरावट आ गई है। यहां अब तक कुल तीन करोड़ 33 लाख से अधिक मामले पाए गए हैं। पांच लाख 94 हजार मरीजों की मौत हुई है।

https://webkhabristan.com/world/covid-vaccines-to-every-people-in-america--1731
पहली बार : पाकिस्तान में हिंदू लड़की असिस्टेंट कमिश्नर बनी

पहली बार : पाकिस्तान में हिंदू लड़की असिस्टेंट कमिश्नर बनी

वेब खबरिस्तान, कराची। हमारे पड़ोसी देश पाकिस्तान में पहली बार एक हिंदू लड़की असिस्टेंट कमिश्नर बनी है। सना रामचंद नाम की लड़की को यह मुकाम हासिल करने के लिए सेंट्रल सुपीरियर सर्विस पास करनी पड़ी। इसके बाद उनका सिलेक्शन पाकिस्तान प्रशासनिक सेवा में हुआ। दरअसल यह पाकिस्तान की सबसे बड़ी प्रशासनिक परीक्षा है। सना पेशे से एमबीबीएस डॉक्टर भी हैं। परीक्षा में 18,553 कैंडिडेट्स शामिल हुए लिखित परीक्षा में 18,553 कैंडिडेट्स शामिल हुए। इनमें केवल 221 पास हुए। सना ने इंटरव्यू में कहा, 'मैं बहुत खुश हूं, लेकिन हैरान नहीं। बचपन से ही कामयाबी की ललक रही। मैं अपने स्कूल, कॉलेज और एफसीपीएस की परीक्षा में भी टॉप कर चुकी हूं।' सर्जन भी बनेंगी सना सना सिंध प्रांत के शिकारपुर जिले की रहने वाली हैं। चंदका मेडिकल कॉलेज से एमबीबीएस किया। वे अभी सिंध इंस्टिट्यूट ऑफ यूरोलॉजी एंड ट्रांसपेरेंट से एफसीपीएस की पढ़ाई कर रही हैं। जल्द ही सर्जन बनने वाली हैं।

https://webkhabristan.com/world/hindu-girl-became-assisstant-commissioner-in-pakistan-1727
छठी क्लास की बच्ची ने स्कूल में चलाई गोलियां, 2 बच्चों समेत तीन घायल

छठी क्लास की बच्ची ने स्कूल में चलाई गोलियां, 2 बच्चों समेत तीन घायल

वेब खबरिस्तान, वाशिंगटन। अमेरिका के इडाहो के एक स्कूल में एक बच्ची ने फायरिंग शुरू कर दी। इस घटना में 2 बच्चों समेत 3 लोग घायल हो गए हैं। इसके बाद टीचर ने इस बच्ची से बंदूक छीन ली। घायलों को बांह और पैरों में गोलियां लगी हैं, हालाँकि किसी की स्थिति गंभीर नहीं है। हैंड गन से कई राउंड फायरिंग की अमेरिकी पुलिस के मुताबिक बच्ची ने अपने स्कूल बैग में रखी हैंड गन निकाली और फिर कई राउंड फायरिंग की। जिस टीचर ने इस बच्ची के हाथ से गन छीनी, उसने पुलिस के आने तक बच्ची को काबू में रखा। ये बच्ची इडाहो फाल्स सिटी की रहने वाली है। स्कूल में पढ़ते हैं 1200 बच्चे स्कूल में करीब 1200 बच्चे पढ़ते हैं। फायरिंग की घटना होने के बाद छात्रों को पास के एक करीबी स्कूल में ले जाया गया। 12 वर्षीय छात्र येंडल रोड्रिगुएज ने बताया कि हम सभी पढ़ाई कर रहे थे। तभी कई तेज आवाजें आईं। इसके बाद चीख-पुकार मच गई। जब हमारे टीचर देखने गए तो वहां पर खून ही खून था। पुलिस पड़ताल कर रही है कि बच्ची के पास गन कहां से आई। अपने ही साथी स्टूडेंट पर गोली चलाने के पीछे उसका मकसद क्या था।

https://webkhabristan.com/world/sixth-class-student-shot-fire-in-school-1706