दुनिया

ब्रेन डेड इंसान के शरीर में सूअर की किडनियों को किया ट्रांसप्लांट पढ़ें पूरी खबर

ब्रेन डेड इंसान के शरीर में सूअर की किडनियों को किया ट्रांसप्लांट, पढ़ें पूरी खबर

अमेरिका के डॉक्टरों ने कमाल कर दिया है, उन्होंने एक ब्रेन डेड पेशेंट के शरीर में सूअर की किडनियों को ट्रांसप्लांट किया है और ये दुनिया के मेडिकल इतिहास में पहली बार हुआ है


अमेरिका में यात्री ने की Face Mask ना पहनने की गलती, बीच रास्ते से फ्लाइट हुई वापस

अमेरिका में यात्री ने की Face Mask ना पहनने की गलती, बीच रास्ते से फ्लाइट हुई वापस

वेब ख़बरिस्तान। दुनिया भर में कोरोना महामारी से संक्रमण के बीच लोगों को कई कोविड-19 प्रतिबंधों का भी सामना करना पड़ रहा है। मगर कुछ लोग अभी भी कोविड नियमों का ठीक से पालन नहीं कर रहे हैं। इस बीच अमेरिका में एक विमान यात्री की छोटी सी लापरवाही ने पायलट को विमान वापस करने पर मजबूर कर दिया। दरअसल विमान के एक यात्री ने मास्क नहीं पहना तो फ्लाइट को ही बीच रास्ते से वापस कर लिया गया। फेस मास्क पहनने से इनकार किया मियामी से लंदन जाने वाले एक अमेरिकन एयरलाइंस जेटलाइनर को बीच उड़ान से वापस लौटा लिया गया। बताया जा रहा है कि विमान के यात्री ने कोविड नियमों के तहत फेस्क मास्क पहनने से इनकार कर दिया था, जिसके बाद ये फैसला लिया गया। पुलिस को इस बारे में सूचना दी गई एयरलाइन ने जानकारी देते हुए बताया कि अमेरिकन एयरलाइंस की फ्लाइट 38 मियामी से लंदन को एक यात्री की फेस मास्क न पहनने की जिद की वजह से लौटा दिया गया। पुलिस को इस बारे में सूचना दी गई थी जिसके बाद बोइंग 777, 129 यात्रियों और 14 के चालक दल को लेकर मियामी में वापस उतरा। एक पुलिस अधिकारी ने मीडिया को बताया कि जब विमान उतरा तो पुलिस ने बिना किसी बहस के उस यात्री को विमान से उतार दिया।

https://webkhabristan.com/world/in-america-the-passenger-made-the-mistake-of-not-wearing-a-face-mask-5743
पश्चिमी घाना में भारी विस्फोट, 500 इमारतें हुईं धाराशायी, 59 गंभीर रूप से हुए घायल

पश्चिमी घाना में भारी विस्फोट, 500 इमारतें हुईं धाराशायी, 59 गंभीर रूप से हुए घायल

वेब ख़बरिस्तान। घाना के ग्रामीण पश्चिमी क्षेत्र में गुरुवार को एक विस्फोट में सैकड़ों इमारतें धराशायी हो गईं और हादसे में 17 स्थानीय निवासियों की मौके पर ही मौत हो गई। यह हादसा तब हुआ जब एक सोने की खदान में विस्फोटक ले जा रहा एक ट्रक मोटरसाइकिल से टकरा गया। इतना ही नहीं इस हादसे में आस-पास की सैकड़ों इमारते नष्ट हो गईं। ट्रक ने एक मोटरसाइकिल को टक्कर मारी <blockquote class="twitter-tweet"><p lang="en" dir="ltr">An explosion in Ghana&#39;s rural Western Region on Thursday razed hundreds of buildings and killed an unknown number of residents when a truck carrying explosives to a gold mine collided with a motorcycle: Reuters</p>&mdash; ANI (@ANI) <a href="https://twitter.com/ANI/status/1484281758967558144?ref_src=twsrc%5Etfw">January 20, 2022</a></blockquote> <script async src="https://platform.twitter.com/widgets.js" charset="utf-8"></script> यह दुर्घटना पश्चिम अफ्रीकी देश की राजधानी अक्करा के पश्चिम में 300 किमी (180 मील) पश्चिम में बोगोसो के खनन शहर के पास अपियेट में दोपहर के आसपास हुई। खनिज समृद्ध क्षेत्र में दो सोने की खदानों के बीच विस्फोटक ले जा रहे ट्रक ने एक मोटरसाइकिल को टक्कर मार दी। विस्फोट काफी भयानक था। इससे वहां की जमीन में बड़ा गड्ढा बन गया। वहीँ हताहतों की सही संख्या की आधिकारिक तौर पर पुष्टि की जा चुकी है। रिपोर्ट के मुताबिक अब तक 17 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं 59 गंभीर रूप से घायल हैं। आपातकालीन अधिकारियों ने कहा कि कम से कम 59 घायलों को स्थानीय अस्पतालों में ले जाया जा चूका है। 500 ​​से अधिक इमारतें नष्ट राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन संगठन के उप महानिदेशक सेजी साजी अमेदोनू ने कहा कि 500 ​​इमारतें नष्ट हुई हैं। देश के पश्चिमी क्षेत्र के बोगोसो और बावडी के शहरों के बीच पड़ने वाले अपियेट में विस्फोट हुआ है। यहां एक मोटरसाइकिल विस्फोटक ले जा रहे ट्रक के नीचे आ गई थी, जो कनाडा की किनरोस कंपनी द्वारा संचालित चिरानो सोने की खान की तरफ जा रहा। किनरोस के एक प्रवक्ता ने घटना की पुष्टि करते हुए कहा कि जहां घटना हुई है, वो जगह खदान से 140 किलोमीटर (87 मील) दूर है। प्रत्यक्षदर्शियों ने क्या कहा? प्रत्यक्षदर्शियों ने स्थानीय अधिकारियों को बताया कि टक्कर के बाद, दुर्घटना में शामिल एक चालक ने मोटरसाइकिल में आग लगने के बाद स्थानीय निवासियों को भागने की चेतावनी देने की कोशिश की। ड्राइवर नीचे उतर गया और लोगों को भागने के लिए कह रहा था।और कुछ लोग यह पता लगाने की कोशिश कर रहे थे कि वास्तव में क्या हो रहा है। जब ड्राइवर चिल्ला रहा था कि लोग भाग जाएं... करीब 10 मिनट बाद ही विस्फोट हो गया। इसलिए जिन लोगों ने घटनास्थल पर पहुंचने की कोशिश की थी, वे ज्यादातर प्रभावित हुए हैं।

https://webkhabristan.com/world/massive-explosion-in-western-ghana-500-buildings-collapsed-59-seriously-injure-5728
ग्रैमी अवार्ड्स हुआ पोस्‍टपोन, लास वेगास में 3 अप्रैल को होगा आयोजन 

ग्रैमी अवार्ड्स हुआ पोस्‍टपोन, लास वेगास में 3 अप्रैल को होगा आयोजन 

वेब ख़बरिस्तान। दुनियाभर में कोरोना के केस तेजी से बढ़ रहे हैं। इसके साथ ही कोविड-19 के ओमिक्रॉन वैरिएंट के मामले भी लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं। इसी बात को ध्यान में रखते हुए 64वें ग्रैमी अवॉर्ड्स 2022 के इवेंट को एक बार फिर पोस्‍टपोन कर दिया गया है। इसके साथ ही इवेंट के वेन्यू को भी चेंज कर दिया गया है। अब यह इवेंट लास वेगास में 3 अप्रैल को आयोजित होगा। जो पहले अमेरिका के लॉस एंजेलिस में 31 जनवरी को होना था। जस्टिन बीबर, बिली इलिश और ओलिविया रोड्रिगो जैसे कई कलाकार ग्रैमी अवॉर्ड्स के लिए नॉमिनेटेड हैं। 3 अप्रैल को लास वेगास में होगा इवेंट ग्रैमी अवॉर्ड एक बहुत बड़ा समारोह है, जो कि म्यूजिक से जुड़ा हुआ है। आपको बता दें इससे जुड़ी एक बड़ी खबर सामने आई है, दरअसल, रिकॉर्डिंग अकादमी ने मंगलवार को घोषणा की कि 2022 ग्रैमी अवॉर्ड्स 3 अप्रैल को लास वेगास के एमजीएम ग्रैंड गार्डन एरिना में आयोजित होंगे। 1973 के बाद से ये पहली बार होगा जब प्रसारण लॉस एंजिल्स या न्यूयॉर्क के अलावा कहीं और होगा। इतना ही नहीं ये भी पहली बार ही होगा जब किसी शहर में रिकॉर्डिंग अकादमी के एक चैप्टर के बिना संगीत कार्यक्रम को होस्ट किया गया है। पहले भी हो चूका है रीशेड्यूल्ड बिलबोर्ड के मुताबिक, 13 अप्रैल, 1965 को कैलिफोर्निया के बेवर्ली हिल्स के बेवर्ली हिल्टन होटल में सातवें वार्षिक ग्रैमी अवॉर्ड्स की मेजबानी के बाद पहली बार कैलेंडर वर्ष के आखिर में ग्रैमी का आयोजन किया जाएगा। इस साल ग्रैमी टेलीकास्ट में तेजी से फैलने वाले ओमिक्रॉन वेरिेएंट की वजह से तीन हफ्ते की देरी हो चुकी है, जो लॉस एंजिल्स में छुट्टी के बाद COVID-19 के बढ़ने की वजह से भी हुआ था। वहीँ 2021 के ग्रैमी अवार्ड्स को 31 जनवरी से 14 मार्च तक रीशेड्यूल्ड किया गया था। अब साल 2022 में ग्रैमी को उनकी ऑरिजिनल 31 जनवरी की टेलीकास्ट डेट से हटाकर आगे कर दिया गया है। ग्रैमी से पहले होगा ऑस्कर का आयोजन अगर अकादमी पुरस्कार 27 मार्च को निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार टेलीकास्ट होते हैं, तो 1965 के बाद ये पहली बार होगा कि ऑस्कर, ग्रैमी से पहले होंगे। द ग्रैमी सबसे बड़े एनुअल म्यूजिक अवॉर्ड्स समारोह में से एक है। बिग थ्री के तौर पर आयोजित होने वाले तीन सबसे बड़े एनुअल म्यूजिक अवॉर्ड्स समारोह में से एक है। इनमें अमेरिकन म्यूजिक अवॉर्ड्स, ग्रैमी अवॉर्ड्स और बिलबोर्ड म्यूजिक अवॉर्ड्स शामिल हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, पहला ग्रैमी अवॉर्ड्स समारोह 4 मई 1959 को आयोजित किया गया था, जिसमें साल 1958 के लिए कलाकारों के जरिए म्यूजिक अचीवमेंट्स का सम्मान किया गया था।

https://webkhabristan.com/world/grammy-awards-postponed-to-be-held-on-april-3-in-las-vegas-5687
कोरोना के साथ आई नई बीमारी

कोरोना के साथ आई नई बीमारी 'ट्विंडेमिक', एक सप्ताह में 43 लोग हुए ICU में भर्ती

वेब ख़बरिस्तान। यूरोप में एक साथ दो महामारियों ने सरकार की चिंता बढ़ा दी है। दरअसल, कोरोनावायरस के बढ़ते मामलों के बीच इंफ्लूएंजा ने यूरोप में फिर से दस्तक दे दी है। इस बीमारी को 'ट्विंडेमिक' का नाम दिया गया है। वहीँ इस स्थिति की वजह से पहले से ही दबाव में चल रहे हेल्थ सिस्टम पर और अधिक दबाव बढ़ गया है। पिछली सर्दियों में ये माना गया था कि कोविड की वजह से फ्लू अस्थायी रूप से खत्म हो चूका है। आपको बता दें फ्लू एक ऐसी बीमारी है, जिसकी वजह से हर साल दुनियाभर में 6,50,000 लोगों की मौत होती है। 43 लोग ICU में भर्ती यूरोपियन सेंटर फॉर डिजीज प्रिवेंशन एंड कंट्रोल द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, दिसंबर में ICU में फ्लू के मामलों की संख्या में इजाफा हुआ था। वहीँ साल के अंतिम सप्ताह में कम से कम 43 लोग ICU में भर्ती हुए थे। इन्फ्लूएंजा पर ECDC के शीर्ष विशेषज्ञ पासी पेंटिनन ने कहा, अगर हम सभी उपायों को उठाना शुरू कर देते हैं, तो मुझे इंफ्लूएंजा को लेकर बड़ी चिंता है, क्योंकि यूरोपीय आबादी में इसके फैलने की घटना को लंबा वक्त हो गया है। इस वजह से अब ये अधिक घातक होगा। WHO ने ओमिक्रॉन को लेकर दी चेतावनी फ्रांसीसी स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा प्रकाशित आंकड़ों के अनुसार, पेरिस सहित फ्रांस के तीन क्षेत्र फ्लू महामारी का सामना कर रहे हैं. अधिकारियों ने खुलासा किया कि फ्रांस ने 6,00,000 से 6,50,000 मुर्गियां, बत्तख और अन्य मुर्गों को मार डाला है। ये सभी घटनाक्रम ऐसे वक्त में सामने आया है, जब यूरोप पहले से ही कोरोनावायरस के घातक ओमिक्रॉन वेरिएंट का सामना कर रहा है। हाल ही में, विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा कि अगले दो महीनों में यूरोप में आधे से अधिक लोग कोरोना के ओमिक्रॉन वेरिएंट के चपेट में आ सकते हैं।

https://webkhabristan.com/world/ new-disease-twindemic-with-corona-43-people-admitted-in-icu-in-a-week-5659
ट्रेन के सामने महिला को दिया धक्का, इमरेंजसी ब्रेक लगाकर ड्राइवर ने बचाई जान

ट्रेन के सामने महिला को दिया धक्का, इमरेंजसी ब्रेक लगाकर ड्राइवर ने बचाई जान

वेब ख़बरिस्तान,नई दिल्ली। बेल्जियम की राजधानी ब्रसेल्स में मेट्रो स्टेशन पर एक सनकी व्यक्ति ने एक महिला को प्लेटफार्म से चलती मेट्रो ट्रेन के सामने धक्का दे दिया। मगर सतर्क मेट्रो ड्राइवर ने पूरे मौके पर इमरजेंसी ब्रेक लगाकर उस महिला की जान बचा ली। यह घटना रोजियर मेट्रो स्टेशन की है। काफी देर से इधर उधर घूम रहा था एक युवक काफी देर से प्लेटफॉर्म पर इधर से उधर घूम रहा था। जैसे ही मेट्रो ट्रेन के आने का समय हुआ, वो भागकर आया और उसने प्लेटफार्म पर आगे खड़ी महिला को रेलवे ट्रैक पर धक्का दे दिया। ड्राइवर ने इमरजेंसी ब्रेक लगा दिए। इस वजह से महिला की जान बच गई। महिला को धक्का देने के बाद आरोपी युवक वहां से भागने में सफल रहा। उसे दूसरे मेट्रो स्टेशन पर हत्या का प्रयास करने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया है। इस घटना के बाद महिला और मेट्रो ड्राइवर दोनों सदमे में आ गए। दोनों को अस्पताल ले जाया गया, जहां उनका इलाज शुरू कर दिया गया है।

https://webkhabristan.com/world/pushed-the-woman-in-front-of-the-train-the-driver-saved-his-life-by-applying-em-5646
चीन में कोरोना के शक में लोगों को जबरन लोहे के बक्सों में रखा जा रहा

चीन में कोरोना के शक में लोगों को जबरन लोहे के बक्सों में रखा जा रहा

वेब ख़बरिस्तान। दुनिया में कोरोना महामारी एक चिंता का विषय बना हुआ है। ऐसे में चीन ने कोरोना नियंत्रण के लिए 'जीरो कोविड पॉलिसी' लागू की है। जिसमे चाइनीज सरकार आम लोगों पर भयानक अत्याचार कर रही है। इसका एक उदाहरण शांक्सी प्रांत के शियान शहर से सामने आया हैं। आपको बता दें,यहां पर लोगों को कोरोना के शक के चक्कर में क्वारैंटाइन करने के नाम पर लोहे के बक्सों में बंद किया जा रहा है। वहीँ इस बात का खुलासा इंटरनेशनल मीडिया ने किया है, जिससे दुनिया सकते में आ गयी है। बक्सों में रहने के लिए मजबूर हैं लोग इंटरनेशनल मीडिया, प्रेग्नेंट महिलाओं, बच्चों और बुजुर्गों को भी बक्शा नहीं जा रहा है, उन्हें भी बक्सों में रहने के लिए मजबूर किया जा रहा है। अगर किसी इलाके में एक भी कोरोना संक्रमित मिलता है, तो उस इलाके के सभी लोगों को बक्सों में डाला जा रहा है। 2 करोड़ से ज्यादा के लोग घरों में कैद चीन में 'ट्रैक-एंड-ट्रेस' रणनीति के तहत पॉजिटिव के संपर्क में आने वाले लोगों का पता लगाकर उन्हें क्वारैंटाइन सेंटर में भेज दिया जाता है। फिलहाल लगभग 2 करोड़ लोगों को उनके घरों में कैद कर रखा गया है। इन लोगों को खाना खरीदने के लिए भी बाहर निकलने की अनुमति नहीं है। 2 ओमिक्रॉन मिलने पर 55 लाख घर में कैद कोरोना नियंत्रण के लिए चीन की सरकार इतनी ज्यादा सख्ती बरत रही है कि अनयांग शहर में 2 ओमिक्रॉन संक्रमित मिलने के बाद ही लॉकडाउन लगा दिया गया। इस शहर की आबादी 55 लाख है। इससे पहले यहां के 1 करोड़ 30 लाख आबादी वाले शीआन शहर और 11 लाख की आबादी वाले युझोउ शहर में लॉकडाउन लगाया जा चुका है। चीन में अब कुल 1.96 करोड़ आबादी लॉकडॉउन में है। बड़े पैमाने पर कोविड जांच के लिए यह लॉकडॉउन लगाया गया है।

https://webkhabristan.com/world/people-are-being-forcibly-kept-in-iron-boxes-on-suspicion-of-corona-in-china-5571
इंसान के शरीर में धड़केगा सुअर का दिल, 57 वर्षीय मरीज को लगा जेनेटिकली मोडिफाइड सुअर का हार्ट

इंसान के शरीर में धड़केगा सुअर का दिल, 57 वर्षीय मरीज को लगा जेनेटिकली मोडिफाइड सुअर का हार्ट

वेब ख़बरिस्तान,मैरीलैंड। अमेरिका के डॉक्टरों ने बड़ा कारनामा करते हुए जेनेटिकली मोडिफाइड सुअर के दिल को 57 वर्षीय बुजुर्ग के शरीर में ट्रांसप्लांट किया है। यूनिवर्सिटी ऑफ मैरीलैंड मेडिकल के डॉक्टरों ने बताया कि 7 घंटे तक चली सर्जरी के बाद मरीज की हालत में सुधार हो रहा है। दरअसल मैरीलैंड में रहने वाले डेविड बेनेट लंबे समय से हार्ट प्रॉब्लम का सामना कर रहे थे। परेशानी ज्यादा बढ़ने पर आखिरी ऑप्शन के तौर पर सुअर का दिल ट्रांसप्लांट करने का प्लान बनाया गया। जब बेनेट को इस बारे में बताया गया तो उनका कहना था कि मेरे सामने दो ही ऑप्शन हैं मौत या फिर ट्रांसप्लांट। लेकिन मैं जीना चाहता हुं। मरीज के चेहरे पर मुस्कान देख अच्छा लगा सर्जरी करने वाले डॉ. बार्टली ग्रिफिथ ने कहा कि सर्जरी के बाद हमें हर दिन नई जानकारी मिल रही है। इस ट्रांसप्लांट के फैसले से काफी खुश हैं। मरीज से चेहरे पर मुस्कान देखकर अच्छा लग रहा है। सुअर के हार्ट के वॉल्व का भी इंसानों के लिए दशकों से सफलतापूर्वक इस्तेमाल किया जाता रहा है। अगर यह सर्जरी सफल हो जाती है तो ये विज्ञान के क्षेत्र में एक बड़ा चमत्कार होगा। सूअर का दिल ठीक तरह से काम कर रहा सालों से जानवरों के अंगों को इंसानी शरीर में ट्रांसप्लांट करने की खोज में एक बड़ा कदम साबित होगा। ट्रांसप्लांट के बाद सुअर का दिल ठीक तरह से काम कर रहा है। फिलहाल बेनेट को हार्ट-लंग बाइपास मशीन पर रखा गया है। डॉक्टरों की एक टीम लगातार उनकी निगरानी कर रही है। अगले कुछ हफ्ते उनके लिए बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण हैं। सुअर का दिल इन्सान शरीर एक्सेप्ट नहीं कर पाता ऑर्गन ट्रांसप्लांट की रिपोर्ट्स में लिखा हुआ है कि सुअर का दिल इंसान में ट्रांसप्लांट करने के लिए उपयुक्त होता है। मगर सुअर के सेल्स में एक अल्फा-गल शूगर सेल होता है। इस सेल को इंसान का शरीर एक्सेप्ट नहीं करता है। इस कारण मरीज की मौत भी हो सकती है। इस परेशानी को दूर करने के लिए ही पहले सुअर को जेनेटिकली मोडिफाइ किया गया।

https://webkhabristan.com/world/pigs-heart-will-beat-in-human-body-57-year-old-patient-felt-genetically-modifi-5567
दुनिया में कोरोना की बारिश: अमेरिका में कोरोना से एक दिन में 14 लाख से अधिक केस

दुनिया में कोरोना की बारिश: अमेरिका में कोरोना से एक दिन में 14 लाख से अधिक केस

वेब ख़बरिस्तान। कोरोना की बारिश पूरी दुनिया में थमने का नाम नहीं ले रही है। अमेरिका से लेकर यूरोप तक, कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। वाही यह आशंका जताई जा रही है कि अगले दो महीने मे यूरोप की आधी आबादी को ओमिक्रॉन से संक्रमित होने का खतरा है। दुनियाभर में कोरोना किम रफ़्तार हुई तेज अमेरिका में कोरोना वायरस के एक बार फिर रिकॉर्ड तोड़ मामले सामने आये हैं। यहां सोमवार को 14 लाख से अधिक मामले दर्ज किए गए थे। इससे पहले कभी इतने मामले ना तो अमेरिका में दर्ज हुए हैं और ना ही दुनिया के किसी दूसरे देश में। वहीँ देश में ओमिक्रॉन वेरिएंट और डेल्टा वेरिएंट भी थमने का नाम नहीं ले रहा है। जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के ट्रैकर के अनुसार, अमेरिका में 1,481,375 नए कोविड-19 मामले सामने आए हैं। जबकि इससे पहले 3 जनवरी को 11.7 लाख मामले सामने आए थे। 141,000 लोग अस्पताल में भर्ती हुए आपको बता दें अमेरिका में अब कुल मामलों की संख्या बढ़कर 6,15,58,085 हो गई है। जबकि सोमवार को 1,906 मौत होने के बाद मृतकों की कुल संख्या 8,39,500 के पार पहुंच गई थी। वहीँ सबसे अधिक मामले सोमवार को इसलिए दर्ज किए गए क्योंकि उससे पहले वीकेंड पर कई राज्य मामलों की जानकारी नहीं देते हैं। रिकॉर्ड मामले जिस दिन सामने आए, उसी दिन अस्पतालों में भी भर्ती होने वाले लोगों की संख्या में इजाफा हो गया। अमेरिका में कोरोना वायरस के कारण 141,000 लोग अस्पताल में भर्ती हुए हैं। जबकि इससे पहले बीते साल जनवरी में ये आंकड़ा रिकॉर्ड 132,051 दर्ज किया गया था। यूरोप की आधी से ज्यादा आबादी ओमिक्रॉन से संक्रमित फ्रांस के स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया है कि यहां 24 घंटे में रिकॉर्ड 368,149 मामले दर्ज किए गए हैं। स्वीडन में शुक्रवार के बाद रिकॉर्ड 70,641 मामले सामने आए। इस दौरान यहां 54 लोगों की मौत हुईं। दूसरी तरफ विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक आने वाले दो महीनों तक अगर संक्रमण के मामले इसी तरह सामने आते रहेंगे, तो यूरोप की आधी से ज्यादा आबादी ओमिक्रॉन से संक्रमित हो सकती है। ऑस्ट्रेलिया में भी बढ़ रहे मामले ऑस्ट्रेलिया में भी कोरोना का मामले लगातार बढ़ रहे हैं। न्यू साउथ वेल्स में एक दिन में 34,759 मामले सामने आए हैं और 2,242 लोग अस्पताल में भर्ती हुए हैं। जबकि विक्टोरिया राज्य में कोरोना के अकेले 40,127 मामले सामने आए और अस्पताल में भर्ती होने वाले मरीजों की संख्या 946 रही। दोनों ही राज्यों में 21 मौत दर्ज की गई हैं। वहीँ अगर ब्रिटेन की बात करें, तो यहां 24 घंटों के भीतर 120,821 नए मामले सामने आ चुकें हैं। इस दौरान 379 मरीजों की मौत की पुष्टि हो चुकी है।

https://webkhabristan.com/world/more-than-14-lakh-cases-in-a-day-from-corona-in-america-5548