प्रेगनेंसी में कैल्शियम लेने से मिलेंगे बहुत से लाभ, पढ़ें पूरी ख़बर



मां बनना किसी भी महिला की जिंदगी की सबसे बड़ी खुशी होती है। इस ख़ुशी के दौरान पोषण से भरपूर डाइट लेना न सिर्फ प्रेग्नेंट महिला के लिए जरूरी होता है, बल्कि होने वले बच्चे के लिए भी लाभदायक होता है

वेब ख़बरिस्तान मां बनना किसी भी महिला की जिंदगी की सबसे बड़ी खुशी होती है। इस ख़ुशी के दौरान पोषण से भरपूर डाइट लेना न सिर्फ प्रेग्नेंट महिला के लिए जरूरी होता है, बल्कि होने वाले बच्चे के लिए भी। बच्चा अपने विकास के लिए सारे पोषक तत्व मां से ही लेता है। प्रेग्नेंसी के दौरान प्रोटीन और फैट के अलावा विटामिंस और मिनरल्स की भी जरूरत होती है। खासतौर पर फॉलिक एसिड, आयरन, आयोडीन और कैल्शियम की प्रेग्नेंसी में विशेष जरूरत होती है। तो आईये जान लेते हैं कि प्रेगनेंसी के दौरान आपको कैल्शियम लेना क्यों जरूरी है। इसकी कमी से गर्भवती महिलाओं पर क्या असर पड़ता है? कैल्शियम की पूर्ति के लिए क्या किया जा सकता है? गर्भावस्था के दौरान कैल्शियम का जिक्र आते ही जहन में ऐसे सवालों का आना लाजमी है। इस पोस्ट में हम आपको यही बताने वाले हैं I

कितनी मात्रा में लें कैल्शियम

प्रेगनेंसी में माँ को कैल्शियम उतनी ही मात्रा में खाना चाहिए, जितना उनके doctor ने recommend किया है। वैसे आपको बता दें कि प्रेग्नेंसी में हर रोज मां से बच्चे को 50 से 330 मिलीग्राम कैल्शियम मिलता है, जो बच्चे की हड्डियों के विकास के लिए जरूरी है। करीब 1000 मिलीग्राम कैल्शियम प्रतिदिन लेने की सलाह दी जाती है, ताकि बच्चे के विकास के लिए जरूरी कैल्शियम की खपत को पूरा किया जा सके। लेकिन हर शहर के पर्यावरण और व्यक्ति विशेष की शारीरिक स्थिति के हिसाब से इसमें थोड़ा बहुत परिवर्तन संभव है।

क्यों जरूरी है कैल्शियम लेना

प्रेगनेंसी में कैल्शियम प्रमुख खनिज पदार्थ होता है। इससे गर्भ में पल रहे शिशु के विकास में मदद मिलती है। उम्र के हिसाब से शरीर में पर्याप्‍त कैल्शियम न होने या बहुत ज्‍यादा या कम मात्रा में कैल्शियम होने की वजह से प्रेग्‍नेंसी में कुछ प्रोब्लम्स सामने आ सकती हैं।

क्या काम करता है कैल्शियम


कैल्शियम गर्भ में पल रहे शिशु की विकसित हो रही हड्डियों को मजबूती देता है I मांसपेशियों, दिल और नसों के विकास को भी बढ़ावा देता है। अगर आप प्रेग्‍नेंसी में अपनी डाइट से पर्याप्‍त कैल्शियम नहीं लेती हैं तो शरीर में पहले से जमा कैल्शियम बच्‍चे को मिलने लगता है। प्रेग्‍नेंसी की तीसरी तिमाही में खासतौर पर मां और बच्‍चे को कैल्शियम चाहिए होता है क्‍योंकि इस समय शिशु की हड्डियों का विकास अपने चरम पर होता है।

कैल्शियम के बिना हड्डियां हो सकती हैं कमजोर

अगर आप प्रेग्नेंट हैं और कैल्शियम सही मात्रा में नहीं ले पा रहीं तो आप आज ही अपने doctor से सलाह लेंI अगर आपके अन्दर कैल्शियम की कमी है तो उसको पूरा करें। नहीं तो बच्चे की हड्डियां कमजोर होने का खतरा हो सकता है

इस डाइट से लें कैल्शियम

प्रेगनेंसी में आप अपनी डेली डाइट में ऐसी चीजें खाएं, जिससे आपको कैल्शियम भरपूर मात्रा में मिल सके। कैल्शियम की कमी होने या शरीर की रोजाना कैल्शियम की आवश्‍यकता को दूध, चीज, दही, ब्रोकली, सोयाबीन, बींस, बादाम, हरी पत्तेदार सब्जियों, तिल, किशमिश, आदि से लिया पूरा किया जा सकता है।

Related Links