Pregnancy – इसे न लेने से प्रीमेच्योर डिलीवरी का खतरा



गर्भावस्था मे आयरन लेना बेहद जरूरी, होती है दोगुनी जरूरत

हेल्थ डेस्क @wk

गर्भावस्था (Pregnancy) में पोषक तत्वों के साथ आयरन न लेने से प्रीमेच्योर डीलिवरी का खतरा बढ़ जाता है। ये तो हम सभी जानते ही हैं कि गर्भावस्था में पौष्टिक आहार लेना चाहिए। मगर ये खनिज पदार्थ प्रेगनेंट महिलाओं के लिए बेहद जरूरी है। पेट में शिशु आने के बाद महिलाओं को दोगुनी मात्रा में आयरन लेना होता है। एक सर्वे के मुताबिक भारत में आयरन की कमी से 50 प्रतिशत से ज्यादा महिलाओं को परेशानी आती है।

गर्भावस्‍था में खून की सप्‍लाई पचास फीसदी बढ़ने पर आयरन शरीर में रेड ब्लड सैल के निर्माण में मदद करता है। खून की सप्लाई बढ़ने से रेड ब्लड सैल अधिक मात्रा में बनने लगते हैं। गर्भावस्था में ज्यादा से ज्यादा आयरन लेना लाभदायक होता है। आयरन की कमी से एनीमिया (आयरन डेफिशिएंसी एनीमिया ) होने का डर रहता है। भारतीय महिलाओं में ये समस्या आम है। इससे प्रीटर्म बर्थ और शिशु का वजन सामान्‍य से कम होने का खतरा रहता है। (Pregnancy)


प्रेगनेंट महिला को कितने आयरन की जरूरत

प्रेगनेंट महिला को रोज 27 मिग्रा आयरन की जरूरत होती है। 19 से पचास साल की उम्र के बीच की सामान्‍य वयस्‍क महिला को रोज 18 मिग्रा आयरन की जरूरत होती है। प्रीनैटल विटामिन्स में पर्याप्‍त आयरन होता है लेकिन खून बनाने की बढ़ती डिमांड की वजह से गर्भावस्‍था (Pregnancy) में आयरन डेफिशिएंसी एनीमिया हो जाता है। डाइट में आयरन युक्‍त आहार शामिल कर समस्‍या से बच सकते हैं।

दो तरह का आयरन – आयरन का संबंध एनीमल प्रोटीन से होता है लेकिन शाकाहारी चीजों से भी आयरन की पूर्ति हो सकती है। आयरन दो प्रकार का होता है एक हेम आयरन और दूसरा नॉन हेम आयरन। हेम आयरन : मीट, मछली और अन्‍य एनीमल प्रोटीन के स्रोतों से इस प्रकार का आयरन मिल सकता है। इसे शरीर आसानी से पचा लेता है। नॉन हेम आयरन : अनाज, बींस, सब्जियों, फलों, सूखे मेवों और बीजों में यह पाया जाता है। भोजन से शरीर को इस प्रकार के आयरन को पचाने में लंबा समय लगता है।

सैल्मन मछली अच्छी सोर्समांसाहारी महिलाएं सैल्‍मन फिश और चिकन ले सकती हैं। सैल्‍मन में अन्‍य मछलियों की तुलना में मर्करी कम होता है। आयरन के अलावा सैल्‍मन में ओमेगा 3 फैटी एसिड और अन्‍य पोषक तत्‍व भी होते हैं जो गर्भवती महिला को स्‍वस्‍थ बनाते हैं। (Pregnancy)शाकाहारी महिलाओं के लिएबींस और दालें : फाइबर और प्रोटीन भरपूर मात्रा में होता है। एक कप दाल में 6.6 मिग्रा आयरन होता है।पालक : इसमें एंटीऑक्‍सीडेंट, विटामिन और आयरन होता है। एक कप पकी हुई पालक में 6.4 मिग्रा आयरन होता है।ब्रोकली : एक कप ब्रोकली में एक मिग्रा आयरन होता है। इसमें प्रचुर मात्रा में विटामिन सी भी होता है । (Pregnancy)

Related Links