एक विदेशी महिला ने डिजाईन किया था परमवीर चक्र



स्विट्ज़रलैंड में पैदा हुई थी परमवीर चक्र की डिज़ाइनर सावित्री विक्रम खानोलकर

वेब ख़बरिस्तान। परमवीर चक्र के बारे हम सभी जानते हैं। इस चक्र को  युद्ध में बहादुरी के लिए दिया जाता है। इसे भारत का सर्वोच्च शौर्य सैन्य अलंकरण भी कहा जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं  इस चक्र को किसने डिजाईन किया था। आपका जवाब होगा नहीं। मेरा भी यही था। लेकिन आज हम आपको इस चक्र के डिज़ाइनर के बारे में बताने वाले हैं। इस सर्वोच्च सैन्य सम्मान यानि परमवीर चक्र का डिजाइन तैयार किया था।

एक विदेशी महिला ने किया था डिजाईन


आपको जान कर हैरानी होगी की एक विदेशी महिला ने इस परमवीर चक्र को डिजाईन किया था। जिसका नाम था सावित्री विक्रम खानोलकर इस महिला का शादी से पहले नाम इवा योन्ने मैडे डीमारोस था। लेकिन, उन्होंने भारतीय इंडियन आर्मी में कैप्‍टन रहे विक्रम रामजी खानोलकर के साथ शादी करने के बाद अपना नाम सावित्री विक्रम खानोलकर रख लिया था सावित्री विक्रम खानोलकर का जन्म स्विट्जरलैंड में 20 जुलाई 1913 को हुआ था। साल 1932 में उन्होंने विक्रम रामजी खानोलकर से शादी के बाद भारत में ही रहने का फैसला किया था  

परमवीर चक्र समेत और भी चक्कार के डिजाईन किये थे तैयार 

ऐसा कहा जाता है कि आजादी के बाद जनरल मेजर जनरल हीरा लाल अटल ने सावित्री से परमवीर चक्र को डिजाइन करने के लिए बोला था। आपको बता दें एक विदेशी महिला होने के बावजूद सावित्री बाई खानोलकर को भारतीय संस्‍कृति और वेदों की गहरी जानकारी थी। जिस कारण सावित्री को यह काम करने के लिए बोला गया था और सावित्री ने इस काम को बखूबी निभाया भी था। इसके अलावा यह भी कहा जाता है कि परमवीर चक्र के साथ-साथ उन्होंने महावीर चक्र, कीर्ति चक्र, वीर चक्र, शौर्य चक्र और अशोक चक्र के डिजाईन भी तैयार किये थे

आखिर कौन थे सावित्री विक्रम खानोलकर और विक्रम रामजी खानोलकर

सावित्री विक्रम खानोलकर और कैप्‍टन विक्रम रामजी की लाइफ स्टोरी काफी interesting थी। आपको बता दें विक्रम रामजी यूनाइटेड किंगडम में मिलिट्री की ट्रेनिंग ले रहे थे, उसी दौरान उनकी मुलाकात सावित्री से हुई और फिर कुछ दिनों की मुलाकात के बाद दोनों ने शादी करने का फैसला लिया। वहीँ  सावित्री के पिता इस रिश्ते से खुश नहीं थे। ऐसे में सावित्री शादी के लिए अपने पिता तक से लड़ पड़ी थी और फिर साल 1932 में दोनों ने शादी कर ली थी

Related Links