प्री टीन ऐज के बच्चों से जरूर शेयर करें कुछ खास बातें



प्युबिक एरिया से लेकर अंडर आर्म्स तक को रखें क्लीन, इन बातों को अपने प्री टीन ऐज ग्रुप के बच्चों को बता कर रख सकते हैं उनकी लाइफ को हेल्दी

कपिला अवस्थी, वेब ख़बरिस्तान। पर्सनल हायजीन का ख्याल न रख पाने के कारण बैक्टीरिया और वायरस आपके बच्चे के इम्यून सिस्टम पर हमला कर उनको बीमार कर सकते हैं। ऐसे में जरूरी है कि आप अपने बच्चों को पर्सनल हायजीन को क्लीन रखने के बारे में जल्द से जल्द बताएं और उनको कुछ खास बातों ध्यान रखने के भी कहें। यहां हम बता दें कि प्री-टीन यानी 9-12 साल की उम्र के बच्चे। इन बच्चों में शारीरिक विकास होने लगता है, ऐसे में उन्हें बॉडी हाइजीन का ख़ास ख़्याल रखने की भी ज़रूरत होती है। लेकिन इस उम्र में बच्चे शरीर की साफ सफाई के प्रति लापरवाही बरतने लगते हैंI  ऐसे में हम बड़ों का फर्ज बनता है कि उन्हें इस बारे में जागरूक करें और पर्सनल हायजीन से जुड़ी हर चीज के बारे में बताएं। तो चलिए जान लेते हैं कि किन बातों का ध्यान रखने की जरूरत है।

पर्सनल हायजीन  

हेल्थ और साफ सफाई एक साथ चलते हैं। सही हायजीन के बिना आप एक हेल्दी लाइफ नहीं जी सकते हैं। ऐसे में जरूरत है कि पर्सनल हायजीन को मेन्टेन रखा जाए। इसलिए बच्चों को सबसे पहले प्युबिक एरिया की सफाई के बारे में पूरी जानकारी देना जरूरी है।

क्या है होता है प्युबिक एरिया की सफाई


कमल हॉस्पिटल की डॉ. कमल बताती हैं कि प्युबिक एरिया की साफ़ सफाई के लिए बालों को काटना बहुत ज़रूरी हैंI  इस एरिया को साफ़ करने के लिए बच्चे लूफा का इस्तेमाल कर सकते हैंI  प्री-टीन ऐज की लड़कियों की बात करें, तो लड़कियों को दिन में 2-3 बार गर्म या ठंडे पानी से प्यूबिक एरिया की सफ़ाई करनी चाहिए। अगर आपकी बेटी को पीरियड्स शुरू हो चुके हैं, तो उसे व्हाइट डिस्चार्ज भी होता होगा। ऐसे में हायजीन का ख़ास ध्यान रखना बेहद जरूरी होता है। इसलिए टाइम रहते अपनी लाडली से दिन में दो बार अंडरवियर चेंज करने को जरूर कहेंI  पीरियड्स के समय भी दो से तीन बार नैपकीन बदलना जरूरी है। वहीँ अगर बॉयज की बात करें, तो उनको भी कुछ सावधानियां बरतने की जरूरत हैं। लड़कों को नहाते समय साबुन या एंटीसेप्टिक्स से प्यूबिक एरिया की सफ़ाई करनी चाहिए।

अंडर आर्म्स को भी क्लीन रखना है जरूरी

वैसे तो हम अपने बच्चों को फुल बॉडी के बारे में गाइड करते हैं,  लेकिन उसके साथ-साथ सबसे जरूरी है कि उनको बॉडी को हायजीन रखने के लिए अंडरआर्म्स के बालों को काटने के बारे में भी बताना। लेकिन इसका यह मतलब नहीं कि आप उनको वैक्सिंग करने के लिए बॉडी हेयर रेमोविंग क्रीम यूज़ करवाएं I आपको अपनी बेटी को सही तरीके से गाइड करना होगा, बताना होगा कि वैक्सिंग हेयर रिमूवल क्रीम से उसकी त्वचा का रंग गहरा हो सकता है। साथ ही वैंक्सिंग के दौरान स्किन खिंचने से त्वचा में जलन और इन्फेक्शन की शिकायत भी हो सकती है। इसलिए सबसे बेस्ट ऑप्शन है कि आप मार्केट से किड्स फ्रेंडली रेज़र या शेविंग क्रीम ले आएंI  प्री-टीन बच्चों को एंटी पर्सपीरैंट्स (दुर्गंधनाशक) से भी दूर रखें।  इसकी जगह डियोड्रेंट का इस्तेमाल करने के लिए बता सकती हैं। मार्केट में बच्चों के लिए 100 प्रतिशत एल्कोहल फ्री डिओ मिलते हैं। इसके आलावा आप उनको खुशबूदार वेट वाइप्स दे सकती हैं, जो वह अपने तरीके से इस्तेमाल कर सकती है। इसके अलावा फ्रेश फील के लिए टैलकम पाउडर भी यूज़ कर सकती है,  लेकिन ध्यान रहे कि बच्चे को इससे इरिटेशन न होI

यह खबर एक्सपर्ट्स से बात करके तैयार की गयी है। अगर आपको लगता है की आपके बच्चे को कोई दिक्कत आ रही है, तो तुरंत डॉक्टर को दिखाएं।

Related Links