वर्ल्ड अल्जाइमर डे 2021 : जानिए क्या है इसके लक्षण



तेज़ी से पनप रही युवाओं में भी

वेब ख़बरिस्तान। आककल की लाइफ स्टाइल में दुनिया के लगभग हर इंसान को बहुत सी बिमारियों ने घेर रखा है। इसमें से एक बीमरी है जिसमे हम कोई चीज रख कर कहीं भूल जाते हैं या फिर कभी कभी किसी बात को बोल कर भूल जाते हैं। जी हां हम बात कर रहे हैं अल्जाइमर बीमारी की। ये बीमारी एक उम्र के बाद लोगों में होने लग जाती है,  जिसमें लोग चीजों को याद रख पाने में सक्षम नहीं होते हैं। आपको बता दें पहले ये बीमारी सिर्फ बुजुर्गों में देखी जाती थी, लेकिन अब युवा इस बीमारी का ज्यादा शिकार हो रहे हैं। हर साल 21 सितम्बर को वर्ल्ड अल्जाइमर डे मनाया जाता है। इस दिन को सेलिब्रेट करने का मुख्य उद्देश्य लोगों को इसके बारे में जागरुक करना है। इस बीमारी में रोगी चीजों को भूलना शुरू कर देता है। कहीं पर कुछ रखकर भूल जाना, कुछ ही देर पहले की हुई बात को भूल जाना आदि। वहीँ कुछ लोग इसे आम समझकर ध्यान नहीं देते हैं और फिर इस बीमारी का शिकार हो जाते हैं।

क्या होता है अल्जाइमर

यह बीमारी एक मानसिक विकार है, जिसकी वजह से मरीज़ की याददाश्त कमजोर हो जाती है। देखा जाये तो यह बुढ़ापे में होने वाली बीमारी मानी जाती है, लेकिन आपको बता दें एक सर्वे के अनुसार अब यह बीमारी युवाओं में भी पनप रही है। इस बीमारी को डिमेंशिया भी कहा जाता है जिसमे व्यक्ति की सोचने की क्षमता और रोजमर्रा की गतिविधियों पर असर पड़ना शुरू हो जाता है माइंड में प्रोटीन की संरचना में गड़बड़ी होने की वजह से इस बीमारी के होने खतरा बढ़ जाता है। माइंड से जुड़ी बीमारी होने के कारण व्यक्ति धीरे-धीरे अपनी याददाश्त खोने लगता है। इस बीमारी में व्यक्ति छोटी से छोटी बात को भी याद नहीं रख पाता है।

अल्जाइमर के लक्षण

अगर आपको भी रात में नींद नहीं आ रही हो और रखी हुई चीजों को बहुत जल्दी भूल रहे हों व आंखों की रोशनी भी कम होनी शुरू हो गयी है। इसके अलावा छोटे-छोटे कामों में भी परेशानी का सामना करना, अपने फॅमिली मेम्बेर्स न पहचान पाना, कुछ याद करने की कोशिश करने के टाइम पर ज्यादा देर तक सोचते रहना और समय से निर्णय न ले पाना इसके लक्षण हो सकते हैं। यदि आपको किसी तरह का डिप्रेशन है तो भी अल्जाइमर के लक्षण हो सकते हैं। इसलिए अगर आपको इस तरह के लक्षण खुद में या किसी में भी नजर आ रहे हों तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

बचने के लिए क्या करें


इस बीमारी से बचने के लिए रेगुलर exersize या फिर योग करें। साथ ही पोषक तत्वों से भरपूर डाइट लें। हो सकें तो अपने अस पास के लोगों से regular मिलें,  जिससे डिप्रेशन न हो। रेगुलर घर के मेम्बेर्स और लोगों से मिलते रहने से उनके चेहरे आपको याद रहेंगे। खुद को दिमागी तौर पर बिजी रखने के लिए किताबें पढ़ें,  फ्रेंड्स और फॅमिली के साथ टाइम स्पेंड करें। डिप्रेशन से दूर रहने के लिए अपना कोई भी मनपसंद गाना सुनिए।

इस ख़बर में दी घई जानकारी आपको जागरूकता मात्रा के लिए दी गयी है। अगर आप ऊपर बताई हुई बीमारी से ग्रस्त हैं तो एक बार अपने डॉक्टर से जरूर सलाह करें।

 

 

 

Related Links