आज है वर्ल्ड निमोनिया डे, घरेलू उपाय दे सकते हैं राहत



हेल्दी लाइफस्टाइल को अपनाकर लंग्स पर होने वाले वाएरस अटैक से बचा जा सकता है

वेब ख़बरिस्तान। निमोनिया लंग्स से जुड़ा एक आम इंफेक्शन है, जो बैक्टिरिया या वायरस के कारण होता है। इस बीमारी को आम होने के कारण लोग इसे हलके में ले लेते हैं। लेकिन आपको बता दें इस बीमारी से हर साल कई लोगों की मौत हो जाती है। खासतौर पर कोरोना वायरस के इस दौर में, जहां यह वायरस सीधा लंग्स पर ही अटैक करता है। कोविड-19 की वजह से भी कई लोगों को निमोनिया हो चूका है, जिससे उनकी रिकवरी होनी मुश्किल हो गई थी। वहीँ विश्व निमोनिया दिवस माने जा रहा है जो हर साल 12 नवंबर को होता है। इस गंभीर बीमारी के प्रति लोगों के बीच जागरुकता पैदा करने और इसकी गंभीरता उजागर करने के उद्देश्य से इस दिन को मनाने की शुरुआत हुई थी। साल 2009 में पहली बार वर्ल्ड निमोनिया डे सेलिब्रेट हुआ था। हर साल किसी न किसी थीम पर विश्व निमोनिया डे मनाया जाता है। इस साल ‘स्टॉप निमोनिया, एवरी ब्रीथ काउंट्स’  थीम को रखा गया है।

हेल्दी लाइफस्टाइल अपनाकर करे निमोनिया होने के रिस्क को कम

निमोनिया वैसे तो एक ख़तरनाक बीमारी मानी जाती है। लेकिन अगर सही समय पर इसका इलाज हो जाए, तो रिकवरी आसानी से हो जाती है। क्या आप जानते हैं इसका इलाज घर पर ही ऐंटिबायॉटिक मेडिसिन के इस्तेमाल से किया जा सकता है। लेकिन कई गंभीर मामलों में हॉस्पिटल में भी भर्ती होने की ज़रूरत होती है। वहीं निमोनिया से बचाव के लिए एक हेल्दी लाइफस्टाइल अपनाकर निमोनिया के रिस्क को कम कर सकते हैं। आज विश्व निमोनिया दिवस पर हम आपको निमोनिया के लक्षण और बचाव  के लिए कुछ घरेलू उपाय बता रहे हैं।

जानते हैं निमोनिया होने लक्षण

कोविड-19 और फ्लू की तरह निमोनिया भी एक संक्रामक रोग है, जो खांसने, छींकने, छूने और यहां तक की सांस के ज़रिए भी हमारे लंग्स को नुक्सान पहुंचता है। बहुत से लोग ऐसे भी होते हैं जिनमें निमोनिया के कोई लक्षण साफतौर पर दिखाई नहीं देते हैं। इसके कुछ प्रमुख लक्षण हैं।

निमोनिया के लक्षण

1.खांसी

2. बुखार

3. सिरदर्द

4. सांस लेने में दिक्कत


5. सीने में दर्द

6. कंपकपी लगना

7. मांसपेशियों में दर्द

8. उल्टी होना

9. चक्कर आना

निमोनिया होने पर गर्मागर्म सूप पिएं

अब मौसम बदल गया है और ठण्ड ने अपनी पकड़ बना ली है। ऐसे में आप निमोनिया से बचने के लिए मौसम के हिसाब से ताज़ा सब्ज़ियों से बना सूप पि सकते हैं। जिससे आपको काफी आराम मिलेगा। इतना ही नहीं इंफेक्शन से लड़ने के लिए यह सूप ज़रूरी फ्लूयड की ज़रूरत भी पूरी करेगा। गर्म लिक्विड पीने से शरीर को गर्माहट मिलती है और ज़ुकाम से राहत मिलना शुरू हो जाता है।

अदरक या हल्दी की चाय पिएं

निमोनिया में खांसी काफी हो जाती है, जिससे सीने में दर्द की शिकायत होने लगती है। ऐसा माना जाता है कि निमोनिया में अगर अदरक या फिर हल्दी की चाय पी ली जाए, तो लगातार आ रही खांसी में काफी आराम मिलना शुरू हो जाता है। अदरक और हल्दी सेहत के लिए काफी लाभदायक मानी जाती हैं।

निमोनिया में शहद भी लाभदायक

आपको बता दें आयुर्वेदिक के अनुसार शहद में ऐंटिबैक्टिरियल, ऐंटिफंगल और ऐंटिऑक्सिडेंट गुण भरी मात्रा में पाए जाते हैं। जो निमोनिया में भी फायदा पहुंचाते हैं। निमोनिया में होने वाले कफ और कोल्ड में शहद के सेवन से काफी आराम मिलता है। इसके लिए 1/4 गिलास में गर्म पानी में एक चम्मच शहद मिलाकर हर रोज़ पीने से निमोनिया में आराम मिलता है।

पेपरमिंट की चाय

पेपरमिंट ऐंटी-इन्फ्लेमेट्री होने कारण सीने में मौजूद कंजेशन को कम करने में हेल्प करता है। इतना ही नहीं यह पेनकिलर का काम भी करता है। अगर पेपरमिंट की गर्मागर्म चाय पी जाए,  तो इससे गले में होने वाली खिंच खिंच दूर होती है और कफ भी बाहर निकलना शुरू हो जाता है। जिससे काफी राहत मिलती है।

कॉफी पिएं

अगर आपको चाय पीनी ज़्यादा पसंद नहीं, तो आप गर्म कॉफी भी पि सकते हैं। इसे पीने से निमोनिया की वजह से होने वाली सांस से जुड़ी दिक्कत में राहत मिलनी शुरू हो जाती है। कॉफी में मौजूद कैफीन से फेफड़ों का कंजेशन ख़त्म होता है और सांस लेने में आसानी होती है।

इस खबर में दी गयी जानकारों आपको जागरूकता मात्रा के लिए दी गयी है। अगर आप पहले से ही किसी गंभीर बीमारी से ग्रस्त हैं और बताई हुई जानकारी को अमल में लाना चाहते हैं तो एक बार अपने डॉक्टर से जरुर सलाह कर लें।

Related Links