नवरात्री के दौरान मखाने से रखें सेहत को हेल्दी



एनर्जी लेवल भी बढेगा

वेब ख़बरिस्तान। यूँ तो नवरात्री में कुछ लोग फ़ास्ट रखते हैं और खाने के नाम पर फल, फ़ास्ट स्नैक्स और कुट्टू के आटे की टिक्की आदि खाते हैं। लेकिन वह यह भूल जाते हैं की इस तरह की डाइट को लेने से उनका वेट भी बढ़ सकता है और हेल्थ भी ख़राब हो सकती है। ऐसे में यदि आप भी फ़ास्ट के दौरान अपना वेट लोस करना कहते हैं तो मखाना को अपनी डाइट में ऐड कर सकते हैं। इसको खाने के और भी बहुत से फायदे हैं। आपको बता दें मखाना हल्का -फुल्का स्नैक है  जिसे अक्सर हम ड्राय फ्रूट्स में शामिल कर खाते हैं। कहने को तो यह बेस्वाद होता है। लेकिन किचन में खाना बनाने के दौरान मसालों और गार्निशिंग के साथ इसको यूज़ किया जाता है। खासतौर से जो लोग नवरात्रि के दिनों में व्रत रखते हैं, उनके लिए ये सबसे अच्छा आप्शन है।

मखाने में है बहुत से पोषक तत्व

लोटस नट्स यानी मखाना भूख लगने पर आप खा सकते हैं। इसमें मौजूद हाई फाइबर और लो कैलोरी होने के कारण ये वेट लोस में काफी कारगर साबित होता है। इन्हें खाने के बाद आपको काफी देर तक भूख नहीं लगती है। इसलिए व्रत के दिनों में लोग इसको खाना पसंद करते हैं। इसमें बहुत हेल्दी कार्बोहाइड्रेट, विटामिन बी और जरूरी मिनरल्स ऐड होते हैं जो बॉडी को फिट और हेल्दी रखने के लिए काफी हैं। व्रत के दौरान इसे आप बेक करके या फिर भूनकर इस स्नैक लुत्फ़ उठा सकते हैं।

​वेट लोस में कारगर

उपवास के दिनों के अलावा मखाना कई लोगों की डेली डाइट में भी शामिल होता है। अगर आप वजन कम करने की सोच रहे हैं,  तो यह एक बेहतर विकल्प साबित होता है। इसको खाने से काफी लंबे समय तक आपका पेट भरा रहता है और आपको बार-बार भूख नहीं लगती, इसलिए आम दिनों में या व्रत के दिनों में जब भी आपको भूख लग रही हो।  तो मूखाना खा कर भूक को शांत कर सकते हैं। इसके अलावा मखाना नवरात्रों में वेट लोस का कारण भी है।

​बीपी को कण्ट्रोल करने में भी कारगर


व्रत के दौरान बहुत से लोग तला हुआ खाना खा लेते हैं जिससे ब्लड प्रेशर की समस्या शुरू हो जाती है। ऐसे में आप चाहते है की बीपी कण्ट्रोल में रहे तो मखाना खाएं। खासतौर से बीपी की समस्या से जूझ रहे लोगों को व्रत के दिनों में मखाने को अपनी डाइट में लेना चाहिए। इसमें अच्छी मात्रा में मौजूद पोटेशियम और कम सोडियम हाई ब्लड प्रेशर को कण्ट्रोल करता है। इसका मतलब ये है कि मखाने का सेवन ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने में काफी हेल्पफुल है।

​हार्ट प्रॉब्लम से बचाए

अगर आप हार्ट पेशेंट हैं तो नवरात्री के व्रत के दौरान मखाने का सेवन करें। मखाना में अधिक मात्रा में मैग्रीशियम होता है। जो ह्दय रोग  के लिए काफी अच्छा है। अपने शरीर की मैग्नीशियम की जरूरत को पूरा करने के लिए रोजाना एक मुठ्ठी मखाने का सेवन फायदेमंद है। इसमें मौजूद सोडियम की कम मात्रा हृदय रोगों से पीडि़त लोगों के लिए एक अच्छा आप्शन है।

डायबिटीज कंट्रोल करे

फास्टिंग फूड के तौर पर पॉपुलर मखाना डायबिटीज कंट्रोल करने में हेल्पफुल है। इसमें सैचुरेटेड फैट , मैग्नीश्यिम, पोटेशियम की अच्छी मात्रा होने और कम ग्लाइकेमिक इंडेक्स की वजह से डायबिटीज रोगियों इसको खाने की सलाह डॉक्टर भी देते हैं।

कैल्शियम से भरपूर मखाना

कैल्शियम से भरपूर मखाना को हड्डियों के लिए सुपरफूड माना गया है। मखाने का नियमित रूप से सेवन करने से हड्डियां मजबूत बनती है। केवल इतना ही नहीं, यह किसी भी हड्डी या जोड़ों की समस्या से पीडि़त लोगों के लिए बहुत अच्छा और स्नैक फ़ूड भी माना गया है।

इस ख़बर में दी गयी जानकारी आपको जागरूकता मात्र के लिए दी गयी है। अगर आप पहले से ही किसी बीमारी से ग्रस्त हैं तो एक बार अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लें। इसके अलावा  नवरात्रि व्रत के दिनों में मखाना न केवल भूख शांत करेगा बल्कि कई तरह से स्वास्थ्य को स्वस्थ भी बनाए रखेगा।

 

Related Links