कहीं आपको तो नहीं यामी गौतम की तरह ‘केराटोसिस पिलारिस’



बांह और जांघ पर होते है लाल दाने

वेब ख़बरिस्तान। क्या आपके भी बाजुओं और जांघों पर छोटे-छोटे उभार हैं?  ड्राई, लाल या सफ़ेद रंग के। तो आपको भी है यामी गौतम की तरह केराटोसिस पिलारिस। आपको बता दें अभिनेत्री यामी गौतम ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट डाल सबको हैरान कर दिया है। उन्होंने इस पोस्ट में बताया कि वे कई वर्षों से कभी न ठीक होने वाली एक स्किन प्रॉब्लम 'केराटोसिस पिलारिस' से जूझ रही हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं इस बीमारी को चिकन स्किनभी बोलते हैं जी वही पक-पक करने वाला चिकन वैसे मेडिकल भाषा में इसे केराटोसिस पिलारिस कहते हैं ये बीमारी बहुत आम है। लेकिन बहुत से लोगों को इसका असल नाम नहीं पता है। तो आज इस ख़बर में आपको इस बीमारी के बारे में बतायेंगे कि आखिर क्या है केराटोसिस पिलारिस

क्या होता है केराटोसिस पिलारिस’?

आपको बता दें हमारी स्किन सेल्स से बनी होती है और ये उभार डेड स्किन का नतीजा है इसमें बालों की जड़ फंसी होती है वैसे ये दानेनुमा उभार ऊपरी बांह, जांघ, गाल और कूल्हों पर ज्यादा होते हैं यह बीमारी किसी के छूने से बिलकुल नहीं फैलती है इसमें दर्द या खुजली भी न के बराबर होती है। यह बीमारी ज्यादातर ठंड के मौसम में स्किन के ड्राई रहने से बढ़ जाती है। अगर इसको सरल भाषा में समझे तो यह स्किन के ऊपर छोटे छोटे दानो के रूप में उभर जाते हैं।  इसके अलावा यह एक जेनेटिक कंडीशन भी हो सकती है, यानी परिवार में माता-पिता को भी यह स्किन कंडीशन हो हुई हो

क्या है इसके लक्षण

स्किन एक्सपर्ट्स के मुताबिक यह एक चिकन की स्किन की तरह ही दिखता है उसमें छोटे-छोटे उभार होते हैं ठीक वैसे ही इंसान की स्किन पर भी होते हैं इसलिए इस स्किन कंडीशन का नाम भी चिकन स्किन पड़ गया है। वैसे यह कुदरती तौर पर बल वाली जगह पर होते हैं जहां बालों की जड़ होती है इसलिए यह तलवों और हथेली पर नहीं होते हैं। मुख्य रूप से ऊपरी बाह पर, जांघ पर दिखाई देते हैं इसके कुछ और लक्षण भी सामने आटे हैं जैसे यह उभार लाल या हलके गुलाबी रंग के दिखाई देते हैं कभी कभी इस पर खुजली होना, अगर स्किन ड्राई है तो भी यह हो जाते हैं

क्या कारण है केराटोसिस पिलारिस होने का


इस बीमारी के होने का मुख्य कारण है एक प्रकार का प्रोटीन, जिसका नाम है केराटिन यह अक्सर बालों की जड़ों में मौजूद होता है आपको बता दें जब यह प्रोटीन ज़्यादा बनने लगता है, यह आपके पोर को भर देने का काम करता है पोर यानी आपकी स्किन पर मौजूद बारीक छेद, उन्हें रोम छिद्र भी कहा जाता है इस तरह यह पूरे शरीर में होता है इसलिए जहां बाल होते हैं वहां एक उभार बन जाता है अगर इस उभार को हल्का सा छीला जाए तो नीचे बाल दिखाई देने लगते हैं

किन लोगों को होने की होती है सम्भावना

चिकन स्किन उन लोगों में बहुत जल्दी से फैलता है जिन्हें ड्राई स्किन की प्रॉब्लम रहती है इसके अलावा एक्जिमा स्किन कंडीशन में एक तरह की सूजन आ जाती है जिसमें खुजली, लालपन, और स्किन फ़ात्नी शुरू हो जाती है वैसे यह बीमारी ज्यादातर औरतों में देखने को मिलती है  साथ ही प्रेग्नेंसी के दौरान भी होने वाले हॉर्मोनल changes की वजह से भी ऐसा होने लगता है

इलाज के लिए क्या करें

एक्सपर्ट्स के मुताबिक इसका कोई खास इलाज नहीं है लेकिन इसे रोका जा सकता है इसके लिए स्किन डॉक्टर एक क्रीम देते हैं लगाने के लिए इसमें रेटेनॉल नाम का केमिकल होता है जो इस प्रॉब्लम को ठीक करने में कारगर है इसके अलावा कुछ केमिकल की हेल्प से स्किन की ऊपरी लेयर को हटाया भी जाता है। जिसे केमिकल पीलिंग कहते हैं

इस ख़बर में दी गयी जानकारी आपको जग्रोक्ता मात्र के लिए दी गयी है। अगर आप एफ्ले से ही ऊपर बताई हुई प्रॉब्लम से ग्रस्त हैं तो एक बार अपने स्किन स्पेशलिस्ट से जरूर कंसल्ट करें

 

 

Related Links