Intermittent Fasting इंटरमिटेंट फास्टिंग से वजन घटाएं



तंदरुस्कत रहने के लिए कम खाएं ज्यादा जिएं.

हेल्थ अपडेट @WK

अगर आप स्लिम और फिट होना चाहते हैं तो इंटरमिटेंट फास्टिंग (Intermittent Fasting for Weight Loss) को इस्तेमाल करके देखिए। इंटरमिटेंट फास्टिंग नाम जरूर नया है, मगर इसका इतिहास पुराना है। प्राचीन काल से इस प्रक्रिया का इस्तेमाल होता आया है। इसमें आपको खाने और न खाने का नियम तय करना है। फास्टिंग यानि व्रत या उपवास। उपवास में आप दिन भर कुछ नहीं खाते और रात को व्रत खोलते हैं और खाते हैं। पर इसमें आप दिन भर खा सकते हैं, मगर रात को नहीं।

कैसे कारगर है? (How Intermittent Fasting works)

इंटरमिटेंट फास्टिंग में, दिन में आठ घंटे के दौरान भोजन करना और दिन के अन्य 16 घंटों के लिए उपवास करना होता है। शरीर अंदर जमा ग्लूकोज का उपयोग करता है और ऊर्जा प्राप्त करने के लिए वसा को खत्म करने लगता है।

  1. डिनर के 12 से 14 घंटे बाद शरीर एनर्जी के लिए फैट को तोड़ देता है। फैट घटता है तो वजन भी घटता है।
  2. इंटरमिटेंट फास्टिंग के फायदे (Benefits of Intermittent Fasting)
  3. इंटरमिटेंट फास्टिंग करने वालों ने महसूस किया कि उनका एनर्जी लेवल बढ़ गया।
  4. लोगों का वजन घटने लगा।
  5. मेटाबोलिज्म में सुधार होने लगा।
  6. दिमाग स्थिर रहने लगा।
  7. दिल सही तरीके से काम करने लगा।
  8. लोग कम बिमार हुए। हुए तो जल्दी ठीक हुए।

इंटरमिटेंट फास्टिंग कैसे करें? (How to do Intermittent Fasting)


इसके अलग-अलग तरीके हैं।

16:8 डाइट प्लान (What is the 16:8 Diet)

इसमें 16 घंटे कुछ नहीं खाना होता। केवल पानी, ग्रीन टी और कॉफी जैसे पेय ले सकते हैं। बाकी के आठ घंटे आप पहले की तरह भोजन करते हैं।

सुबह अगर आपका नाश्ता 10 बजे होता है तो आपके डिनर का समय शाम 6 बजे बनता है। इसे आप अपने हिसाब से ऊपर-नीचे कर सकते हैं। इस तरह 16 घंटे आपने कुछ नहीं लिया।

8 घंटे के दौरान भी खाने की आदतों पर कंट्रोल करना है। हेल्दी डाइट  कैलोरी के हिसाब से लेनी है। 2 से तीन बार भोजन कर सकते हैं। जितना कम कार्ब्स लेंगे उतना जल्दी वजन घटेगा। पानी, ब्लैक काफी, ग्रीन टी पीने की इजाजत है।

प्लीज डांट डू दिस

  1. सोडा या कोई स्वीट ड्रिंक न लें।
  2. कम कार्ब्स वाला पौष्टिक आहार लें।
  3. कैलोरी को काउंट करके खाएं।
  4. जंक और प्रोसेस्ड फूड पूरी तरह बैन हैं।
  5. गर्भवती और स्तनपान करने वाली महिलाएं इसे न करें।
  6. अगर कोई दवाईयां  ले रहें तो पहले अपने डाक्टर से परामर्श कर लें।
  7. शारीर को कम थकाएं।

Related Links