मोबाइल दे रही मायोपिया जैसी बीमारी को दस्तक, क्या कहा एक्सपर्ट ने, जानें



मायोपिया का सबसे ज्यादा असर बच्चों में देखने को मिल रहा है

खबरिस्तान नेटवर्क आज की लाइफस्टाइल में डिजिटल डिवाइस का यूज़ इतना ज्यादा बड़ गया है कि उसके बिना एक पल भी रह पाना मुश्किल हो जाता है ऐसे में मोबाइल की बात करें तो वह हर उम्र के लोग यूज़ करते हैं और वो भी इतना ज्यादा की अब तो उसके यूज़ का असर हमारी और आप सबकी आंखों पर भी पड़ रहा है मेरे कहने का मतलब है कि मोबाइल का बहुत पास से देखना मायोपिया जैसी बीमारी को दावत दे रहा है। वहीँ मायोपिया का सबसे ज्यादा असर बच्चों में देखने को मिल रहा है

बच्चों पर पड़ रहा सबसे ज्यादा असर

बता दें कि अब बच्चों के मनोरंजन का मुख्य साधन ही मोबाइल है। बच्चों का अधिकतर समय मोबाइल पर ही बीत रहा है। जिस कारण बच्चों की कोमल आंखें प्रभावित होने लगी हैं। वहीँ करीब 20 फीसदी बच्चे मायोपिया के शिकार हो रहे हैं। ये कहना है जालंधर के eye स्पेशलिस्ट डॉ. रोहन bowry का। बता दें कि इसके बारे में और भी जानकारी लेने के लिए नीचे दी गयी विडियो को देखें। इस विडियो में विस्तार से बताया गया है कि मायोपिया कि इसकी वजह से क्या क्या परेशानियां होती है।


अगर ये ख़बर आपके काम की है तो इसे अधिक से अधिक शेयर और लाइक करें। 

इसे भी पढ़ें...https://webkhabristan.com/tandrustai-namah/what-is-the-relation-between-asthma-and-gym-8551

Related Links