यूरिन में इन्फेक्शन को दूर करने के लिए काम आएंगे घरेलू उपाय



खीरा, लौंग का तेल और नीबू देता है फायदा

खबरिस्तान नेटवर्क: कोई भी लड़का हो या लड़की पेशाब करते समय मामूली असुविधा होना आम बात मानी जाती है। बहुत बार ऐसा होता है कि लोगों को पेशाब करते समय जलन या दर्द महसूस होता है। ऐसा किसी इन्फेक्शन की वजह से भी हो सकता है। बता दें पेशाब के दौरान जलन या दर्द होने की समस्‍या को डिस्‍युरिया कहते हैं जैसे डिस्‍युरिया में पेशाब करते समय मूत्र नली में जलन और दर्द होने लगता है। वहीँ ये ज्यादातर 18 साल से 50 उम्र तक के पुरुषों और महिलाओं में होता है। आखिर क्यों होती है पेशाब में जलन, इसके कारण और उपाय के बारे में जान लेते हैं।

क्या है डिस्यूरिया?

यूरीन निकालते समय पेशाब में होने वाले दर्द और जलन को मेडिकल की भाषा में डिस्यूरिया कहा जाता है। यह एक तरह का संक्रमण रोग है। ये पुरुषों की तुलना में महिलाएं अधिक देखा जाता है। डिस्यूरिया या फिर पेशाब में जलन को अधिकतर लोग एसटीडी और यूटीआई से जोड़ते हैं, लेकिन इस स्थिति के लिए कुछ अन्य छिपे हुए कारण हो सकते हैं, जो आप डॉक्टर से चेकअप करवा कर पता लगा सकते हैं।

पेशाब में जलन दर्द का होना

पेशाब करते समय दर्द और जलन होने के कई कारण हो सकते हैं, जैसे कि मूत्रमार्ग में संक्रमण (यूटीआई), किसी दवा के सेवन के कारण (chemotherapy medicine), ओवरी में सिस्‍ट या गुर्दे में पथरी, योनि में संक्रमण, किसी केमिकल, यौन रूप से संक्रामित संक्रमण, पेल्विक हिस्‍से में रेडिएशन थेरेपी लेने, यूरीनरी कैथेटर, इन सब के कारण पेशाब करने में परेशानी हो सकती है।

घरेलू उपाय से पेशाब में जलन को रोक सकते हैं

इलायची सिर्फ माउथ प्रेशनर के रूप में ही नहीं, बल्कि यह कई गंभीर समस्याओं के इलाज में भी काम आता है, वहीँ इसका सेवन करने से डिस्‍यूरिया या यूटीआई के लक्षणों को कम करने में मदद मिलती है। इलायची में प्राकृतिक रूप से मूत्रवर्धक के गुण पाए जाते हैं, जिसके बारे में बहुत ही कम लोगों को पता होगा। किडनी के कार्यों को सूचारू रूप से चलाने के लिए इलायची का सेवन करना चाहिए, इसके सेवन से पेशाब में हो रही जलन शांत होती है। रोजाना दूध में इलायची डालकर इसका सेवन किया जा सकता है।

लौंग के तेल से मिलता है आराम


लौंग एक नहीं, बल्कि कई स्वास्थ्य समस्याओं के लिए गुणकारी है। वजन घटाने से लेकर सर्दी खांसी जुकाम के लिए लौंग काफी कारगर साबित होती है। इसमें संक्रमण संबंधी समस्याओं, बैक्टीरिया, वायरस और परजीवियों को मारने के लिए एंटी इंफ्लामेटरी और एंटी बैक्‍टीरियल गुण होते हैं। हालांकि, लौंग का अधिक सेवन शरीर के लिए सुरक्षित नहीं माना जाता है।. बेहतर है कि लौंग का सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें। लौंग के तेल को गर्म पानी में मिलाकर आप इसका सेवन कर सकते हैं। करीब दो सप्ताह तक इस पानी का सेवन करें। मूत्र संबंधी सभी समस्याओं के लिए पानी एक बहुत ही अच्छा समाधान होता है, इसलिए अधिक से अधिक पानी का सेवन करें।

नींबू देता है राहत

पेशाब करने के दौरान जलन या दर्द की समस्‍या को दूर करने के लिए एक गिलास गुनगुना पानी में एक नींबू डाल कर और उसमे एक चम्‍मच शहद डालकर मिक्‍स करके रोज खाली पेट पीने से राहत मिलती है।

खीरा देता है ठंडक

आप रोज सुबह एक कप खीरे के जूस में एक चम्‍मच शहद और एक नींबू का रस डालकर पीएं। यह मिश्रण आपको दिन में दो बार पीना है और दिनभर में दो से तीन खीरे खाना भी आपके लिए फायदेमंद रहेगा।

पानी पीना है बेहद जरूरी

हम सब जानते हैं की पानी को अमृत कहा गया है, जैसा कि हमने पहले भी बताया कि पानी की कमी के कारण डिस्‍युरिया की प्रॉब्‍लम हो जाती है, इसलिए दिनभर में खूब पानी पीएं। पानी पीने से शरीर से बैक्‍टीरिया और विषाक्‍त पदार्थ अपने आप निकल जाते हैं। पानी युक्‍त फल और सब्जियों का सेवन भी फायदेमंद रहता है।

ये जानकारी आपको जागरूकता मात्र के लिए दी गयी है खबरिस्तान नेटवर्क इसकी कोई पुष्टि नहीं करता है। इन पर अमल करने से पहले या इसके बारे में अधिक जानकारी लेने के लिए एक्सपर्ट्स से राय जरूर ले।

 

 

Related Tags


urine infection Home remedies urine infection

Related Links


webkhabristan