डायबिटीज कंट्रोल करने के लिए डिनर के बाद जरूर करें ये काम



मधुमेह के मरीजों को एक्सरसाइज, हेल्दी लाइफस्टाइल और संतुलित डाइट लेने की जरूरत

खबरिस्तान नेटवर्क। डायबिटीज के मरीजों को हमेशा चिंता रहती है कि कहीं कुछ खा लेने से उनका ब्लड शुगर लेवल बढ़ ना जाए या थोड़ी सुस्ती दिखाने या अधिक समय तक आराम कर लेने से उनकी समस्याएं बढ़ ना जाएं। डायबिटीज के मरीजों की कोशिश यही रहती है कि उनका ब्लड शुगर लेवल नियंत्रित रहे ताकि इस बीमारी से जुड़ी कॉम्प्लिकेशन्स को बढ़ने से रोका जा सके। मधुमेह के मरीजों को एक्सरसाइज, हेल्दी लाइफस्टाइल और संतुलित डाइट लेने की जरूरत होती है। साथ ही बहुत ही समझदारी और सूझबूझ के साथ उन्हें अपनी कंडीशन को मैनेज करना चाहिए। यहां पढ़ें कुछ ऐसी ही टिप्स जो डायबिटीज मैनेजमेंट में मददगार साबित हो सकती हैं

वॉक करें

हाल ही में प्रकाशित एक स्टडी में कहा गया है कि रात में खाना खाने के बाद यानि डिनर के बाद 5-10 मिनट भी वॉक करने से ब्लड शुगर लेवल संतुलित रह सकता है। आप भी अगर अपने ब्लड शुगर लेवल को अंडर कंट्रोल रखना चाहते हैं और आपको दिनभर एक्सरसाइज करने का समय नहीं मिलता तो ऐसे में उस दिन डिनर के बाद थोड़ी देर वॉक जरूर करें। 

भूख को ना करें इग्नोर


कई बार लोग काम में बहुत व्यस्त होते हैं कि उन्हें भूख का अहसास ही नहीं होता और इसीलिए वे खाना नहीं खाते। लेकिन, डायबिटीज के मरीजों के लिए यह एक बड़ी गलती साबित हो सकता है। एक्सपर्ट्स के अनुसार डायबिटीज के मरीजों को हर दो घंटे बाद कुछ खाना चाहिए। उन्हें अगर भूख ना लगी हो तो भी थोड़ी मात्रा में फल, स्नैक्स, चने या मखाने जैसे फूड्स का सेवन करना चाहिए। इसी तरह भूख लगने पर भी देर तक आनाकानी करने से आपको नुकसान हो सकता है और इससे ब्लड शुगर लेवल भी बुरी तरह प्रभावित हो सकता है।

केल खाएं

अमेरिकन डायबिटीज एसोसिएशन ( American Diabetes Association) के अनुसार, हरी पत्तेदार सब्जियों ( leafy green vegetables) का सेवन करने से ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल कर पाना आसान हो सकता है। विशेषकर केल (kale) का सेवन डायबिटिक्स के लिए बहुत लाभकारी साबित हो सकता है। जर्नल बायोमेडिकल ( journal Biomedical) में प्रकाशित एक स्टडी में कहा गया कि, 42 जापानी लोगों (21-64 वर्ष की आयु वर्ग) पर किए गए अध्ययन में यह पाया गया कि केल का सेवन करने वाले लोगों में एवरेज ब्लड शुगर लेवल ( average blood sugar levels) आसानी से मैनेज हो सका।

हेल्दी फूड्स ही खरीदें और खाएं

अपने लिए खाने-पीने की चीजें खरीदते समय पैकेजिंग और विज्ञापनों पर ध्यान ना देकर उस चीज को बनाने के लिए इस्तेमाल किए गए इंग्रीडिएंट्स पर ध्यान दें। किसी भी तरह के कमर्शियल झांसे में ना आएं क्योंकि विज्ञापनों में जिन चीजों को हेल्दी बताया जाता है जरूरी नहीं कि वे आपके स्वास्थ्य के लिए ठीक हों। इसीलिए,किसी भी पैकेटबंद सामान को खरीदते समय उसमें शक्कर, कार्ब्स, फैट और प्रीज़र्वेटिव्स की मात्रा चेक करें और अपने न्यूट्रशनिस्ट की सलाह के अनुसार उनका सेवन करें। चिप्स,डाइजेस्टिव बिस्किट्स और पैकेटबंद जूस का सेवन ना करें। इसी तरह अपने डाइट में सोडा, अल्कोहल और कार्बोनेटेड ड्रिंक्स की जगह पानी, नारियल पानी और फ्रेश सब्जियों और फलों का जूस शामिल करें।

Related Tags


dinner diabetes sugar control patient khabristan

Related Links


webkhabristan