खालिस्तान का किया सपोर्ट तो लोग बोले– भारत में रहने का हक़ नहीं, हरभजन सिंह ने माफी मांगी



भारतीय क्रिकेट टीम के प्लेयर हरभजन सिंह को सोशल मीडिया पर जमकर ट्रोल का सामना करना पड़ा।

वेब खबरिस्तान, नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम के प्लेयर हरभजन सिंह को सोशल मीडिया पर जमकर ट्रोल का सामना करना पड़ा। दरअसल उन्होंने अमृतसर के दरबार साहिब में मारे गए जरनैल सिंह भिंडरावाले को शहीद कहा। उन्होंने ऑपरेशन ब्लू स्टार की 37वीं बरसी पर अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर स्टोरी शेयर कर लिखा - सम्मान के साथ जीना और धर्म के लिए मरना। 1 जून से 6 जून 1984 को सचखंड श्री हरिमंदर साहिब पर शहीद होने वाले सिंह-सिंहनियों की शहादत को प्रणाम।


बाद में भज्जी (Harbhajan Singh) ने गलती मानते हुए पोस्ट के लिए माफी मांगी। उन्होंने कहा कि ये वॉट्सऐप पर आया फॉरवर्ड मैसेज था, जिसे जल्दीबाजी में इंस्टाग्राम पर पोस्ट करने की गलती हो गई। उन्होंने कहा कि वह देशविरोधी किसी भी बात का समर्थन ना करते हैं और ना कभी करेंगे.

    इंस्टा स्टोरी में फोटो शेयर की

    उन्होंने अपनी इंस्टा स्टोरी में जरनैल सिंह भिंडरावाले का नाम नहीं लिया, लेकिन उन्होंने जो फोटो शेयर की, उसमें भिंडरावाले की तस्वीर भी थी। इस पोस्ट पर सोशल मीडिया यूजर्स ने लिखा है कि हरभजन को भारत में रहने का अधिकार नहीं है। यूजर्स ने उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की भी मांग की है।

    हरभजन पर हो कारवाई

    यूजर अनामिका यादव ने लिखा- इस तरह के बयान को लेकर बीसीसीआई  को तुरंत हरभजन पर कार्रवाई करनी चाहिए। उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज होनी चाहिए। हरभजन को मिले अवॉर्ड भी वापस ले लेने चाहिए। सूरज कौल ने लिखा- हरभजन सिंह ने पहले शाहिद अफरीदी की फाउंडेशन के लिए डोनेशन की अपील की थी। अब वह आतंकी, जिसने हजारों लोगों की हत्या की, उसे शहीद कह रहे हैं। ये शर्मनाक है।

    Related Links