बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने विराट को दी थे ये ऑफर, मगर कोहली ने ये कहकर ठुकराई पेशकश, पढ़ें खबर

विराट कोहली ने कहा - एक मैच से कोई अंतर पैदा नहीं होता

विराट कोहली ने कहा - एक मैच से कोई अंतर पैदा नहीं होता



विराट कोहली बीसीसीआई के साथ किसी भी किस्म के समझौते के मूड में नहीं

वेब ख़बरिस्तान,मुंबई। टेस्ट टीम की कप्तानी छोड़ने वाले विराट कोहली बीसीसीआई के साथ किसी भी किस्म के समझौते के मूड में नहीं हैं। दरअसल बोर्ड प्रेसिडेंट सौरव गांगुली ने उन्हें अपने 100वें टेस्ट में कप्तानी करने का ऑफर दिया था लेकिन विराट कोहली ने इसे ठुकरा दिया है। विराट कोहली अब तक 99 टेस्ट मैच खेल चुके हैं। श्रीलंका के खिलाफ 25 फरवरी को होने वाला मैच उनके करियर का 100वां टेस्ट होगा।

टीम की जीत सबसे अहम


विराट कोहली अपने करियर में बहुत बार यह संकेत दे चुके हैं कि निजी रिकॉर्ड्स में उनकी कोई दिलचस्पी नहीं है। वे टीम की जीत को सबसे ज्यादा अहमियत देते हैं। विराट कोहली ने अपनी कप्तानी में 68 में से 40 टेस्ट में टीम को जीत दिलाई। अगर वे दो साल और कप्तान रह जाते तो मुमकिन है कि साउथ अफ्रीका के ग्रीम स्मिथ को पीछे छोड़ दुनिया में सबसे ज्यादा टेस्ट जीतने वाले कप्तान बन जाते। मगर उन्होंने इस रिकॉर्ड को तवज्जो नहीं दी। इसलिए माना जा रहा है कि 100 टेस्ट में कप्तानी कर वे फेयरवेल लेने के मूड में नहीं हैं।

विराट कोहली ने कहा – एक मैच से कोई फर्क नहीं पड़ता

कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार बीसीसीआई ने फोन पर विराट कोहली को 100वें टेस्ट में कप्तानी करने का ऑफर दिया था। मगर विराट कोहली ने कहा - एक मैच से कोई अंतर पैदा नहीं होता है। मैं इस तरह से नहीं सोचता हूं।

विराट ने टी-20 वर्ल्ड कप से पहले टी-20 क्रिकेट की कप्तानी से इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद बोर्ड ने उनसे वनडे की कप्तानी भी ले ली। अब विराट ने टेस्ट की कप्तानी भी छोड़ने का फैसला कर लिया।

Related Links