शातिर चोरों ने अफसर बनकर गायब कर दिया 500 टन लोहे का पुल

पुल को काटने के लिए बाकायदा डिच मशीन और गैस कटर इस्तेमाल हुए

पुल को काटने के लिए बाकायदा डिच मशीन और गैस कटर इस्तेमाल हुए



सिंचाई विभाग के कर्मचारियों से ही कटवाया लोहे का पुल, ट्रकों में भरकर ले गए लोहा

खबरिस्तान नेटवर्क। बिहार में कुछ भी संभव है। रोहतास जिले में भी बीते दिन अजीबो-गरीब घटना घटी। अफसर बनकर आए चोरों ने 60 फुट लंबा 500 टन का लोहे का पुल ही चुरा लिया। इसमें तीन दिन का समय लगा। खास बात ये है कि इस पुल को चोरों ने सिंचाई विभाग के कर्मचारियों से ही कटवाया। उनसे ही गाड़ियों में रखवाकर गायब हो गए।नासरीगंज थाना क्षेत्र के अमियावर में आरा कैनाल नहर पर 1972 के आसपास लोहे का पुल बना था। इसी पुल को तीन दिन में चोरों ने बेहद चालाकी से कटवाया और फिर इसका लोहा ट्रकों में भरकर रफूचक्कर हो गए। पुल को काटने के लिए बाकायदा डिच मशीन और गैस कटर इस्तेमाल हुए।

गांव के लोगों को बुद्धू बनाया


चोरों ने इतनी चालाकी से इस घटना को अंजाम दिया कि गांववासियों से लेकर स्थानीय कर्मचारी तक उनके झांसे में आ गए। चोर सिंचाई विभाग के अधिकारी बनकर गांव पहुंचे और विभागीय आदेश बताकर पुल कटवाना शुरू कर दिया। इस तरह लगभग 60 फीट लंबा और 12 फीट ऊंचा लोहे का पुलिस चोरी हो गया। मामला सामने आने के बाद जूनियर इंजीनियर अरशद कमान शम्सी ने बताया कि, चोरों के खिलाफ कंप्लेंट दर्ज करवाई है।

जर्जर हो चुका था पुल

दरअसल, पुल जर्जर हो चुका था, इसलिए विभाग की ओर से इसके समानांतर कंक्रीट का पुल बनाया गया था। गांव के लोग कई बार लोहे का पुल हटवाने का आवेदन दे चुके थे। चोरों ने इसी आवेदन को हथियार बनाया और गांव वालों को भरोसे में लेकर पुल गायब कर दिया।

Related Links