ज्ञान हमें शक्ति देता है, प्रेम हमें पूर्णता...का विचार देने वाले डा. राधाकृष्णन का है आज जन्मदिन

डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्म दिन को शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है

डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्म दिन को शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है



शिक्षक दिवस पर आइए जानें डा. सर्वपल्ली राधाकृष्णन के विचारों के बारे में

वेब ख़बरिस्तान। पांच सितंबर को डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्म दिन को शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है। यूं तो दुनिया भर में शिक्षक दिवस मनाया जाता है, मगर इस मनाने की तारीख सब जगह अलग-अलग है। 

कई देशों में इस दिन छुट्टी घोषित नहीं है। शिक्षकों के सम्मान में अंतर्राष्ट्रीय शिक्षक दिवस 5 अक्टूबर को मनाया जाता है। यूनेस्को ने 5 अक्टूबर को अंतर्राष्ट्रीय शिक्षक दिवस घोषित किया था। साल 1994 से ही इसे मनाया जा रहा है। 

इस शुभ दिन पर आइए जानते हैं उस मान शख्सियत को विचारों के जिनके नाम पर ये दिन मनाया जाता है। 

हर्ष और आनंद से परिपूर्ण जीवन केवल ज्ञान और विज्ञान के आधार पर संभव है।डॉ. राधाकृष्णन

मौत कभी अंत या बाधा नहीं है बल्कि नए कदमों की अधिक से अधिक शुरुआत है।डॉ. राधाकृष्णन

शांति, सियासत या आर्थिक बदलाव से नहीं आ सकती बल्कि मनुष्य के स्वभाव में बदलाव से आ सकती है।डॉ. राधाकृष्णन

ज्ञान हमें शक्ति देता है, प्रेम हमें पूर्णता है।डॉ. राधाकृष्णन

जीवन का सबसे बड़ा उपहार एक महान जीवन का सपना है।डॉ. राधाकृष्णन

पूजा भगवान की नहीं होती बल्कि उनकी होती है जो उनके नाम पर बोलने का दावा करते हैं।डॉ. राधाकृष्णन

दुनिया के सारे संगठन निष्प्रभावी हो जायेंगे अगर ये सत्य जोकि प्रेम द्वेष से शक्तिशाली होता है, उन्हें प्रेरित नही करता।डॉ. राधाकृष्णन


केवल निर्मल मन ही जीवन के आध्यात्मिक अर्थ को समझ सकता है। स्वयं के साथ ईमानदारी, आध्यात्मिक अखंडता की अनिवार्यता है।डॉ. राधाकृष्णन

हम उतने ही नौजवान या बूढें हैं जितना हम महसूस करते हैं। हम अपने बारे में क्या सोचते हैं, यही मायने रखता है। उम्र या युवावस्था का काल-क्रम से लेना-देना नहीं है। डॉ. राधाकृष्णन

पुस्तकें वो साधन हैं जिनके जरिए हम विभिन्न संस्कृतियों के बीच पुल का निर्माण कर सकते हैं।डॉ. राधाकृष्णन

कला मानवीय आत्मा की गहरी परतों को उजागर करती है। कला तभी संभव है जब स्वर्ग धरती को छुए।डॉ. राधाकृष्णन

 लोकतंत्र सिर्फ विशेष लोगों के नहीं बल्कि हर एक मनुष्य की आध्यात्मिक संभावनाओं में एक यकीन है।डॉ. राधाकृष्णन

एक साहित्यिक प्रतिभा, कहा जाता है कि हर एक की तरह दिखती है, लेकिन उस जैसा कोई नहीं दिखता।डॉ. राधाकृष्णन

मनुष्य को सिर्फ तकनीकी दक्षता नही बल्कि आत्मा की महानता प्राप्त करने की भी ज़रुरत है।डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन

धन, शक्ति और दक्षता केवल जीवन के साधन हैं, खुद जीवन नहीं।डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन

जीवन को बुराई की तरह देखना और दुनिया को एक भ्रम मानना महज कृतध्नता है।डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन

हमें मानवता को उन नैतिक जड़ों तक वापस ले जाना चाहिए, जहाँ से अनुशासन और स्वतंत्रता दोनों का उद्गम हो।डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन

शिक्षा का परिणाम एक मुक्त रचनात्मक व्यक्ति होना चाहिए, जो ऐतिहासिक परिस्थितियों और प्राकृतिक आपदाओं के विरुद्ध लड़ सके।

डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन

किताब पढना हमें एकांत में विचार करने की आदत और सच्ची ख़ुशी देता है।डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन

कवी के धर्म में किसी निश्चित सिद्धांत के लिए कोई जगह नहीं है।डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन

कहते हैं कि धर्म के बिना इंसान लगाम के बिना घोड़े की तरह है।डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन

यदि मानव दानव बन जाता है तो ये उसकी हार है, यदि मानव महामानव बन जाता है तो ये उसका चमत्कार है, यदि मनुष्य मानव बन जाता है तो ये उसकी जीत है।डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन

धर्म भय पर विजय है; असफलता और मौत का मारक है।डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन

राष्ट्र, लोगों की तरह सिर्फ जो हांसिल किया उससे नहीं बल्कि जो छोड़ा उससे भी निर्मित होते हैं।डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन

मानवीय जीवन जैसा हम जीते हैं वो महज हम जैसा जीवन जी सकते हैं उसक कच्चा रूप है।डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन

कोई भी जो स्वयं को सांसारिक गतिविधियों से दूर रखता है और इसके संकटों के प्रति असंवेदनशील है वास्तव में बुद्धिमान नहीं हो सकता।डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन

आध्यात्मक जीवन भारत की प्रतिभा है।डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन

मानवीय स्वाभाव मूल रूप से अच्छा है, और आत्मज्ञान का प्रयास सभी बुराईयों को ख़त्म कर देगा।

Related Links