पंजाब के इस जिले का गाँव बन रहा है मक्खियों वाला गांव, लोग जालियां लगाकर घरों में कैद, पढ़िए क्यों

लोगों ने मजबूरन अपने घरों को मच्छरदानियों से ढक लिया है। 

लोगों ने मजबूरन अपने घरों को मच्छरदानियों से ढक लिया है। 



सुनाम का गांव भगवानपुरा पंजाब का मक्खियों वाला गांव के नाम से जाना जाने लगा है

वेब ख़बरिस्तान,संगरूर। सुनाम का गांव भगवानपुरा पंजाब का मक्खियों वाला गांव के नाम से जाना जाने लगा है। मक्खियों की भरमार के कारण गांव के अधिकतर घरों के बाहर मच्छरदानियां लगी है। यहां इतनी ज्यादा मक्खियां हैं कि लोगों का खुले में उठना-बैठना और खाना-पीना मुश्किल हो गया है। तीन साल पहले मक्खियों की समस्या उस समय सामने आई जब गांव के पास एक पोल्ट्री फार्म खोला गया।

लोगों का कहना है कि खाने का सामान सामने रखते ही मक्खियां चाय-पानी में डूब जाती हैं। हालात इस कदर बदतर हो गए हैं कि लोगों ने मजबूरन अपने घरों को मच्छरदानियों से ढक लिया है। 


गांव का हर घर व हर परिवार मक्खियों से परेशान है और अब तो हालात ऐसे हो गए हैं कि घरों में विवाह करके बहुएं भी अपने छोटे बच्चों को लेकर अपने मायके की तरफ रुख कर गई हैं, ताकि बच्चों को मक्खियों के कारण होने वाली बीमारियों से बचाया जा सके। अधिकारियों व प्रशासन तक फरियाद करके अब वे लोग थक चुके हैं। ऐसे में ग्रामीणों ने एलान किया कि वह अगले दिनों में पोल्ट्री फार्म के खिलाफ धरना लगाएंगे।

गांव के एक व्यक्ति ने बताया कि हर जगह मक्खियां ही मक्खियां हैं। घर के आंगन में बैठने पर मक्खियां आ बैठती हैं। खाना बनाने के दौरान घर का एक सदस्य मक्खियां उड़ाने में लगा रहता है। घर पर खाना बनता है। खुले में बैठकर खाना भी नहीं खा पाते, मक्खियां रोटी, दाल-सब्जी में आकर बैठ जाती हैं। एक व्यक्ति को मक्खियां उड़ाने में लगाया जाता है तब दूसरे खाना खा पाते हैं। हर घर का यही हाल है।

ग्राम पंचायत की बैठक हुई 

ग्राम पंचायत की बैठक सरपंच दर्शन कौर की अगुआई में हुई। सर्वसम्मति से प्रस्ताव पास किया गया कि गांव की शेरो रोड पर लगे पोल्ट्री फार्म के कारण गांव निवासी मक्खियों से परेशान हैं। इसके हल के लिए गांव भगवानपुरा निवासियों की तरफ से मुख्यमंत्री भगवंत मान, विधायक अमन अरोड़ा व डिप्टी कमिश्नर संगरूर के पास गुहार लगाई जाएगी। अगर हल न हुआ तो सड़कों पर उतरने को मजबूर होंगे।

डिप्टी कमिश्नर संगरूर जतेंद्र जोरवाल से बात की गई तो उन्होंने कहा कि प्रदूषण बोर्ड के अधिकारियों द्वारा मौके पर पहुंचकर पड़ताल की जाएगी। अगर किसी प्रकार से लोगों को ऐसी परेशानी आ रही है तो उसका गंभीरता से हल किया जाएगा।

Related Links