कोरोना के कारण कोमा में चली गयी लेडी ने एक स्वस्थ बच्ची को दिया जन्म



40 दिन के बाद मिली अस्पताल से छुट्टी

वेब ख़बरिस्तान। कोरोना वायरस ने बीते साल दुनियाभर में कोहराम मचा दिया और जमकर तबाही हुई। दुनिया भर के लोगों ने अपने बहुत से परिजनों को खोया है इस दौरान पहले से किसी बीमारी का सामना कर रहे लोग और प्रेग्नेंट महिलायों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। कई बार तो ऐसे मामले भी सामने आए जिसमें कोरोना पीड़ित व प्रेग्नेंट महिला ने हेल्दी बच्चे को जन्म दिया लेकिन अब एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। जिसमे एक कोरोना पीड़ित प्रेग्नेंट महिला ने कोमा में होने के बावजूद एक स्वस्थ बच्चे को जन्म दिया है

28 वीक की प्रेग्नेंट महिला थी इंड्यूज्ड कोमा में

एक रिपोर्ट के मुताबिक, यूके की रहने वाली केल्सी राउट्स 28 वीक प्रेग्नंर थीं जब उन्हें सांस लेने में तकलीफ हो रही थी, उस दौरान उन्हें अस्पताल ले जाया गया और वहां जांच के बाद उनमें कोरोना की पुष्टि पाई गयीडॉक्टरों ने महिला का इलाज तो शुरू किया लेकिन इस्लाज के दौरान उनके शरीर को आराम मिल सके इसके लिए उसे इंड्यूज्ड कोमा में भेज दिया गया था 

प्रेग्नेंसी के दौरान हुआ कोरोना फिर कोमा में चली गई महिला


आपको बता दें  अनवैक्सीनेटेड प्रेग्नेंट महिला को प्रेगनेंसी के दौरान कोरोना हो गया थाउस दौरान कैल्सी की उसकी हालत इतनी बिगड़ कई उसको इंड्यूज्ड कोमा में रखना पड़ा इंड्यूज्ड कोमा लेकिन जब उसे होश आया तब तक वह एक स्वस्थ बच्ची को जन्म दे चुकी थी डॉक्टर्स के मुताबिक अब दोनों माँ और बच्ची स्वस्थ हैं 

डॉक्टरों ने इमर्जेंसी सीजेरियन सेक्शन का बचायी महिला-बच्ची की जान

डॉक्टर्स के मुताबिक केल्सी तब भी बेहोश थीं जब डॉक्टरों ने एक इमर्जेंसी सीजेरियन सेक्शन कर उनकी डिलीवरी की थीकेल्सी की डिलीवरी डेट से 12 हफ्ते पहले ही डिलीवरी की गयी और बच्ची के जन्म के 7 दिन बाद वह कोमा से बाहर आ गयीअपनी बच्ची को देख कैल्सी की आंखों में ख़ुशी के आंसू आ गयेअ और उसकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा

केल्सी के मुताबिक ये एक 'चमत्कार' जैसा था

रिपोर्ट्स के मुताबिक केल्सी का कहना है कि मैं जानती हूं कि डॉक्टरों ने मुझे और मेरी बच्ची को बचाने के लिए यह सब किया लेकिन मैं शॉक्ड हो गयी थी उन्होंने कहा कि जो भी हुआ है हम उससे बेहद खुश हैं। केल्सी पहले भी 2 बच्चों को जन्म दे चुकी हैं। केल्सी ने कहा कि यह एक 'चमत्कार' जैसा था, डॉक्टरों ने मेरी और मेरी बच्ची दोनों की जान बचा कर दोनों को एक नया जीवन दिया है

Related Links