भक्त आस्था: 13 भारतीय भाषाओं में 32,200 बार लिखा जय श्री राम, जानें पूरा मामला



आंध्र प्रदेश के बुनकरों ने 60 मीटर लंबी रेशमी साड़ी में दिखाई आस्था, लोग भी हुए हैरान

खब्रिस्तान नेटवर्क। आंध्र प्रदेश के एक करघे ने 60 मीटर लंबी रेशमी साड़ी को बना कर सबको हैरान कर दिया है। इस साड़ी की सब जगह बहुत चर्चा हो रही है। बता दें कि इस साड़ी की खास बात यह है कि इसमें 13 भारतीय भाषाओं में 32200 बार जय श्री राम लिखा गया है। इसे तैयार श्री सत्य साईं जिले के धर्मावरम के जुजारू नागराजू ने बनाया है।

चार महीने में हुई यह साड़ी तैयार 


धर्मावरम के रहने वाले नागराजू का कहना है कि इसे बनाने के लिए 1.5 लाख रुपए खर्च हुए हैं। यही नहीं इसे तैयार करने में चार महीने का समय लगा है,  जिसका वजन 16 किलो बताया जा रहा है। हर रोज तीन बुनकर इसे बनाते थे। नागराजू इस साड़ी अयोध्या रामालयम को गिफ्ट करना चाहते हैं और अब वे इसकी तैयारी में जुटे हुए हैं।

168 अलग-अलग चित्र है भगवान राम के

आपको बता दें कि यह खास साड़ी 60 मीटर लम्बी और 44 इंच चौड़ी है जिसमें रामायण के सुंदरकांड से भगवान राम के 168 अलग-अलग चित्र भी बुने गए है। इस साड़ी को तैयार करने वाले जुजारू नागराजू ने इसे अपने आप में एक खास साड़ी बताया है और इसे अपनी भाषा में "राम कोटि वस्त्रम" कहा है। 40 साल के नागराजू ने इस साड़ी को अपने पर्सनल सेविंग्स से तैयार किया है और अब उनकी इच्छा है कि वह इस साड़ी को अयोध्या रामालयम में बतौर तौफा दें।

Related Links