खास ख़बर

शक्स ने निगला भगवान श्रीकृष्ण की धातु वाली मूर्ति को और फिर क्या हुआ जानें पूरा मामला

शक्स ने निगला भगवान श्रीकृष्ण की धातु वाली मूर्ति को और फिर क्या हुआ, जानें पूरा मामला

मूर्ती का एक पैर फंसा खाने की नली में फंस गया था, जिसके कारण बहुत ही परेशानी हुई

father’s day 2022 परिवार में होता है पिता का बहुत ही अहम रोल

Father’s Day 2022: परिवार में होता है पिता का बहुत ही अहम रोल

पिता के प्रेम और स्नेह और त्याग के सम्मान में फादर्स डे की शुरुआत हुई थी


लग गयी Lottery :  ATM से पैसा निकालने गये व्यक्ति के निकले पांच गुना ज्यादा रुपये, पैसे निकालने के लिए उमड़ी भीड़

लग गयी Lottery :  ATM से पैसा निकालने गये व्यक्ति के निकले पांच गुना ज्यादा रुपये, पैसे निकालने के लिए उमड़ी भीड़

वेब खबरिस्तान । महाराष्ट्र के नागपुर जिले में एक प्राइवेट बैंक के एटीएम से पांच गुना ज्यादा रुपये निकलने की खबर सामने आई है। पांच सौ रुपये निकालने गए एक व्यक्ति को एटीएम से 2500 रुपये मिले। पांच गुना ज्याद रुपये पाकर व्यक्ति चौंक गया और उसने दोबारा रुपये निकालने की कोशिश की, जिसमें उसे फिर से पांच सौ की जगह 2500 रुपये मिले। यह घटना नागपुर से 30 किलोमीटर दूर खारपारखेड़ा कस्बे के एक प्राइवेट बैंक के एटीएम की है। एटीएम पर लोगों का हुजूम जमा एटीएम से ज्यादा पैसे निकलने की खबर आग की तरह पूरे क्षेत्र में फैल गई। इसके बाद एटीएम पर लोगों का हुजूम जमा हो गया। इसकी सूचना मिलने पर पुलिस पहुंच गई और एटीएम को बंद करवा दिया। पुलिस ने बताया कि एटीएम में सौ रुपये के नोट के ट्रे में गलती से पांच सौ के नोट रख दिए गए थे। इस संबंध में फिलहाल कोई केस दर्ज नहीं किया गया है।

https://webkhabristan.com/special-news/person-who-went-to-withdraw-money-from-the-atm-came-out--five-times-more-money-9917
मोमोज खाने से हुई एक व्यक्ति की मौत, एम्स ने जारी की चेतावनी : कैसे खाएं मोमोज 

मोमोज खाने से हुई एक व्यक्ति की मौत, एम्स ने जारी की चेतावनी : कैसे खाएं मोमोज 

वेब खबरिस्तान,नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली में अजीब मामला सामने आया है। दरअसल स्ट्रीट फूड मोमोज से एक व्यक्ति की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि गले में मोमोज फंसने से व्यक्ति की मौत हुई है। इस घटना के बाद अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के विशेषज्ञों ने मोमोज को चेतावनी जारी की है। एम्स की ओर से जारी चेतावनी में मोमोज को ध्यान से निगलने की बात कही गई है। प्रकाशित एम्स की रिपोर्ट में मोमोज खाने के दौरान दम घुटने से 50 वर्षीय व्यक्ति की मौत होना बताया गया है। बताया जा रहा है कि व्यक्ति को कथित तौर पर दक्षिणी दिल्ली से एम्स लाया गया था। इस मामले में पुलिस की जांच में आगे खुलासा हुआ कि एक दुकान पर मोमोज खाने के बाद वह व्यक्ति गिर पड़ा. पोस्टमार्टम के दौरान सीटी स्कैन से पता चला कि मोमोज के गले में फंसने से दम घुटने से व्यक्ति की मौत हुई है।

https://webkhabristan.com/special-news/person-died-after-eating-momos-aiims-issued-a-warning--9850
अनोखी शादी - एक ही मंडप में व्यक्ति ने दो–दो बीवियों के साथ रचाई शादी

अनोखी शादी - एक ही मंडप में व्यक्ति ने दो–दो बीवियों के साथ रचाई शादी

खबरिस्तान नेटवर्क। कहते हैं प्यार और जंग में सब जायज होता है मगर प्यार होता सिर्फ एक से ही है। मगर अगर प्यार दो दो से हो जाए तो क्या। ऐसा ही हुआ एक युवक के साथ जिसने दो लड़कियों से प्यार हुआ और उसने एक ही मंडप में दोनों से शादी कर ली। ये अनोखी शादी हुई छत्तीसगढ़ में। अभी कहानी खत्म नहीं हुई है इस कहानी का जो हीरो है वह दो बच्चों का पिता है और दोनों प्रेमिकाओं से उसे एक-एक बेटी भी है। शादी रचाने के लिए दोनों दुल्हनें बेटियों के साथ मंडप में पहुंची थीं। शादी के बाद दूल्हे ने कहा कि मुझे तो दोनों से प्यार हो गया, अब जीवन भर उनका साथ भी दूंगा। शादी के कार्ड में दोनों ही युवतियों का नाम लिख था। 8 मई को लगन और टिकावान था। 500 से 600 लोग आशीर्वाद देने पहुंचे। सगाई के बाद साथ रहने लगी थी दुर्गेश्वरी गांव आडेंगा निवासी दुर्गेश्वरी मरकाम के परिवार वालों ने पहले गांव के रजनसिंह सलाम से शादी का प्रस्ताव रखा। दोनों की सगाई हो गई और दुर्गेश्वरी रहने के लिए रजनसिंह के घर आ गई। कुछ माह बाद उसने एक बेटी को जन्म दिया। इस बीच रजनसिंह को आंवरी की सन्नो बाई गोटा से भी प्रेम हो गया। दोनों बीवियों ने दी रजामंदी रजनसिंह और सन्नों का प्रेम प्रसंग भी हद पार कर गया और वह भी गर्भवती हो गई। उसने भी एक बेटी को जन्म दिया। इसका पता जब लोगों को चला तो बातें शुरू हो गईं। रजनसिंह ने परिवार से बात की। समाज में जब मुद्दा उठा तो दोनों युवतियों ने रजनसिंह के साथ शादी की हामी भर दी। रजनसिंह ने दोनों युवतियों से शादी का फैसला ले लिया।

https://webkhabristan.com/special-news/unique-marriage---man-married-with-two-wives-in-the-same-mandap-9744
British Queen Elizabeth: गजब का हुनर दिखाया आर्टिस्ट ने, बना डाली महारानी की 1 mm की मूर्ति

British Queen Elizabeth: गजब का हुनर दिखाया आर्टिस्ट ने, बना डाली महारानी की 1 mm की मूर्ति

खबरिस्तान नेटवर्क: ब्रिटेन में महारानी क्वीन एलिज़ाबेथ-2 पिछले 70 सालों से राजगद्दी संभाल रही हैं। इस मौके पर पूरे ब्रिटेन में चार दिन का प्लेटिनम जुबली समारोह का आयोजन किया गया था। यहां लोगों ने अपने अपने ढंग से महारानी के प्रति अपना प्यार और सम्मान जाहिर किया। इस बीच एक आर्टिस्ट ने महारानी की इतनी छोटी मूर्ति बना डाली, जिसे देखने के लिए माइक्रोस्कोप की जरूरत पड़ रही है। 1 मिली मीटर से भी छोटी मूर्ति बता दें माइक्रो आर्टिस्ट डेविड लिंडन ने महारानी एलिजाबेथ द्वितीय की 0.6 मिमी चौड़ी और 1 मिमी लंबी मूर्ति बना कर सबको हैरान कर दिया है। वहीँ ताज पहने महारानी की यह नन्ही सी मूर्ति प्लेटिनम की छड़ के सिरे पर बनाई गई है। ब्रिटेन की महारानी की यह मूर्ति इतनी छोटी है कि इसे सुई के सुराख से बहुत ही आसानी से निकाला जा सकता है। तीन महीने में पूरी हुई मूर्ति डेविड के मुताबिक ताज पहने महारानी की ये मूर्ति को बनाने में तीन महीने से ज्यादा का वक्त लगा। मूर्ति को तराशते वक्त बेहद सावधानी बरती गई, क्योंकि ये बहुत ही बारीक़ काम था। वहीँ इस बात पर खास ध्यान दिया गया कि कहीं छींक या खांसी न आ जाए। अगर काम करते वक्त गलती से भी छींक या खांसी आ जाती तो पूरी मेहनत बर्बाद हो जाती। इतना ही नहीं इसे बनाने के लिए रात के समय काम किया जाता था, ऐसा इसलिए क्यों घर के बाहर से गुजरने वाले वाहनों की वजह से होने वाले कंपन और शोर से मूर्ति का नुक्सान हो सकता था। माइक्रो आर्ट को बनाया जीवन बता दें कि माइक्रो आर्टिस्ट डेविड लिंडन पेशे से इंजीनियर हैं। उन्होंने ब्रिटिश रक्षा मंत्रालय के लिए एयरक्राफ्ट सिस्टम और यूरोफाइटर पर भी काम किया है। लेकिन 5 साल पहले इंजीनियरिंग छोड़ उन्होंने दुनिया में सबसे बेहतरीन मानी जाने वाली माइक्रो आर्ट को जीवन बना लिया। इसके बाद उन्होंने रिकॉर्ड सुई के सुराख में फिट आ जाएं, ऐसी कई मूर्तियां बनाईं, लेकिन डेविड अपनी इस मूर्ति को सबसे छोटी और सबसे बेहतर मानते हैं। सुई की आंख में बना दी युवा महारानी एक अन्य माइक्रो आर्टिस्ट डॉ. विलार्ड विगन ने महारानी के युवावस्था के दौरान की एक मूर्ति बनाई है। इस मूर्ति में महारानी व्हाइट गाउन पहने ताज पहनने के लिए तैयार नजर आ रहीं हैं। यह मूर्ति सुई के सुराख में बनाई गई है, जिसे माइक्रोस्कोप से ही देखा जा सकता है। डॉ. विलार्ड कहते हैं कि इसे 200 पार्ट में पूरा किया गया है। महारानी के प्रति मेरा यह अब तक का सबसे बड़ा सम्मान है। साल 2007 में 65 वर्षीय डॉ. विलार्ड को कला के क्षेत्र में उत्कृष्ट सेवा देने के लिए एमबीई सम्मान से सम्मानित किया जा चुका है। इससे पहले उन्होंने महारानी की डायमंड जुबली के लिए 24 कैरेट सोने का छोटा सा ताज बनाया था।

https://webkhabristan.com/special-news/british-queen-elizabeth-artist-made-a-1-mm-statue-of-her---9616
मास्टर मदन पुण्य तिथि 5 जून: प्रतिभाशाली ग़ज़ल और गीत गायक थे जालंधर के मास्टर मदन, 14 साल की उम्र में हुई मौत

मास्टर मदन पुण्य तिथि 5 जून: प्रतिभाशाली ग़ज़ल और गीत गायक थे जालंधर के मास्टर मदन, 14 साल की उम्र में हुई मौत

खबरिस्तान नेटवर्क: भारत के जालन्धर शहर का रिश्ता गायकी से बहुत पुराना जुड़ा हुआ है। आजादी से पहले भी इस शहर के काफी गायक अपनी गायकी से लोगों का मनोरंजन किया करते थे। बता दें ऐसे ही एक कलाकार थे मास्टर मदन, जिनके बारे में बहुत कम लोगों को मालूम है। बता दें मास्टर मदन प्रतिभाशाली ग़ज़ल और गीत गायक थे। तो चलिए आज इनके बारे में जानते हैं। ग़ज़ल गायकी के लिए हुए मशहूर मास्टर मदन जालंधर शहर के खानखाना गांव में 28 दिसम्बर 1927 को पैदा हुए थे। बता दें इस गाँव के नाम की कहानी भी काफी दिलचस्प है। कहते हैं कि इस गाँव की खोज अकबर के नवरत्न अब्दुल रहीम खानखाना द्वारा की गई थी। उन्हीं के नाम पर इस गाँव का नाम पड़ा। मास्टर मदन भारत की आज़ादी से पहले के एक प्रतिभाशाली ग़ज़ल और गीत गायक थे। मास्टर मदन एक ऐसे कलाकार थे जो 1930 के दशक में एक किशोर के रूप में ख्याति प्राप्त करके मात्र 14 वर्ष की उम्र में 1940 के दशक में इस दुनिया को अलविदा कह गये। लेकिन वे अपने पीछे अपने द्वारा गाई हुई कुछ गज़लें छोड़ गये जिन्हें आज भी बहुत से लोग सुना करते हैं। महज साढ़े तीन साल की उम्र में शुरू किया था गाना यूं तो जानकर हैरानी होगी कि मास्टर मदन ने साढ़े तीन साल की उम्र में अपना पहला पब्लिक परफॉर्मेंस दिया था। 1930 के आस पास इस कार्यक्रम का आयोजन हिमाचल प्रदेश में हुआ था। हिमाचल प्रदेश के जिस शहर में ये कार्यक्रम हुआ वे मास्टर मदन के गाँव से ज्यादा दूर नहीं था। लिहाजा इतनी कम उम्र में उन्हें वहां जाने और कार्यक्रम करने की इजाजत मिल गई। कहते हैं कि उस कार्यक्रम के बाद लोग उनकी आवाज और अदायगी के दीवाने हो गए। इतनी कम उम्र के बच्चों को इस तरह गाते हुए कभी किसी ने सुना ही नहीं था। लिहाजा मास्टर मदन पर ईनामों की बरसात हुई। ईनाम भी ऐसा वैसा नहीं, उन्हें इनाम में शॉल, सोने की अंगूठी वगैरह मिलीं। गाने के लिए मिलती थी ऊँची रकम बता दें कि मास्टर मदन को आकाशवाणी और अनेक रियासतों के दरबार में गाने के लिए बहुत ऊँची रकम मिलती थी। मास्टर मदन उस समय के प्रसिद्ध गायक कुंदन लाल सहगल के बहुत करीबी थे जिसका कारण दोनों का ही जालंधर का निवासी होना माना जाता था। 8 नगमें ही हुए थे रिकॉर्ड अब भला क्या आप सोच सकते हैं कि हिंदुस्तानी संगीत में एक ऐसा भी कलाकार हुआ जिसके सिर्फ 8 नगमें ही रिकॉर्ड हुए थे और वो उन्हीं आठ नगमों के दम पर अब भी लाखों संगीत प्रेमियों के दिलों पर राज करता है। यूं तो कोई भी ये बात दावे से नहीं कह सकता कि मास्टर मदन ने कितने गाने गाए। लेकिन ये बात तय है कि रिकॉर्ड 8 ही हुए थे। बता दें उस कलाकार की मौत हिंदुस्तान की आजादी से काफी पहले ही हो गई थी यानि आठ दशक से भी पहले। लेकिन आज भी उस कलाकार को हम उसके उन्हीं 8 नगमों की वजह से जानते हैं और याद भी करते हैं। दो गज़ले हुई काफी मशहूर बता दें कि मास्टर मदन के रिकॉर्ड हुए दो गाने आज भी आसानी से आपको सुनने के लिए मिल जायेंगे। इनमें से सबसे लोकप्रिय ग़ज़ल को 1935 में रिकॉर्ड किया गया था। ग़ज़ल लिखने वाले शायर थे सागर निज़ामी। इस ग़ज़ल के शेर कुछ इस तरह हैं। यूं ना रह रह के हमें तरसाइए/ आइए, आ जाइए, आ जाइए/ इस ग़ज़ल के अलावा हैरत से तक रहा है जहाने वफा मुझे ग़ज़ल भी काफी मशहूर हुई। इन दो गजलों के अलावा रिकॉर्ड किए हुए नगमों में मास्टर मदन के दो पंजाबी गीत भी शामिल हैं, दो ठुमरियां हैं और दो गुरबानी। गोरी गोरी बहियां और मोरी बिनती मानो कान्हा रे उनकी ठुमरियों के बोल हैं। मदन गाने के लिए देश के कई हिस्सों में गया बता दें कि मास्टर मदन छोटी सी उम्र में इतने फेमस हो चुके थे कि लोग उनको देखने और उनसे मिलने के लिए बेताब रहने लगे। इसी के चलते मदन देश के अलग अलग हिस्सों में गाने के लिए जाते। महज सात साल की उम्र में उन्होंने पंडित अमरनाथ से सीखना शुरू किया। पंडित अमरनाथ मशहूर संगीतकार जोड़ी हुस्नलाल-भगतराम के बड़े भाई थे। जिन दो ग़ज़लों का जिक्र हमने आपको पहले बताया उसका संगीत पंडित अमरनाथ ने ही दिया था। ये सोचकर भी ताज्जुब होता है कि आठ साल की उम्र में मास्टर मदन रेडियो के लोकप्रिय गायक बन चुके थे। आखिरी परफॉरमेंस कलकत्ता में हुआ 14 साल की उम्र में उनका आखिरी पब्लिक परफॉर्मेंस कलकत्ता में हुआ। इसके बाद वो दिल्ली आए। उनके नाम की तब तक धूम मच चुकी थी। कलकत्ता से लौटने के बाद मास्टर मदन ने तीन-चार महीने ही और गाया होगा कि अचानक उनकी तबियत बिगड़ने लगी। वो शिमला चले गए। जहां उनके माथे और जोड़ों पर अजीब सी चमक दिखाई देने लगी। कोई इलाज काम नहीं आया। आखिरकार 5 जून 1942 को करीब चौदह साल की उम्र में उनका निधन हो गया। उनकी मौत पर शिमला को बंद रखा गया। पदक पहने हुए ही मास्टर मदन का अंतिम संस्कार किया गया। आज भले ही उनकी पुण्य तिथि हो, लेकिन उनकी ग़ज़लों की गूंज हमेशा संगीतप्रेमियों के कानों में गूंजती रहेंगी।

https://webkhabristan.com/special-news/master-madan-talented-ghazal-and-geet-singer-death-anniversery--5-june-9520
फिरोजपुर में डेढ़ लाख रुपए में बिकती है मशीन गन !

फिरोजपुर में डेढ़ लाख रुपए में बिकती है मशीन गन !

खबरिस्तान नेटवर्क। सिद्ध मूसेवाला की हत्या के बाद एक यू ट्यूबर पंजाब को लेकर ऐसे फर्जी दावे किए कि वह सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। इस यू ट्यूबर जोड़ी का नाम है (Abhi and Niyu) । सिद्धू की मौत के बाद दोनों ने उन्होंने एक वीडियो बनाई जिसमें अभी ने दावा कि भारत-पाकिस्तान बार्डर स्थित फिरोजपुर इललीगल हथियारों का हब बन चुका है। वीडियो बनाने वाली ये जोड़ी महाराष्ट्र की रहने वाली है और खुद को वीडियो क्रिएटर कहती है। ये हवाला उन्होंने एक समाचार पत्र की 2015 की एक खबर के हवाले से किया है। यहां डेढ़ लाख रुपए में मशीन गन खरीदी जा सकती है। फिर आई नियू की बारी। नियू ने कहा कि यहीं से हथियार यूपी, हरियाणा और अन्य राज्यों में पहुंचते हैं। यही नहीं हथियारों के फेक लाइसेंस भी यहां मिल जाते हैं। इनके मुताबिक पंजाब के अलग-अलग जिलों में अलग-अलग गैंग हैं। इससे पहले दोनों कुछ अखबारों की हेडलाइन के साथ पंजाब में असलहे को लेकर कुछ आंकड़े पेश किए। आखिर में दोनों ने गन कल्चर का सवाल उठाया। बाकी राज्यों के मुकाबले कम हैं मामले राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) के अनुसार, पंजाब में 2016-2020 के बीच हथियारों से संबंधित 2,073 मामले दर्ज किए गए हैं। जो प्रति वर्ष औसतन लगभग 400 मामले बनते हैं। वहीं, पश्चिमी उत्तर प्रदेश के शहर गाजियाबाद में इस अवधि में औसतन 1,204 मामले दर्ज किए गए। आबादी के हिसाब से पंजाब में हथियारों और विस्फोटकों से संबंधित मामलों के तहत दर्ज होने वाले अपराधों की कम घटनाएं भी हैं। पिछले पांच वर्षों में, औसतन, प्रत्येक 1 लाख आबादी के लिए, पंजाब ने एक वर्ष में 1.4 हथियारों से संबंधित मामले दर्ज किए, जो कि राष्ट्रीय औसत 4.8 से लगभग 3-4 गुना कम है। मध्य प्रदेश में हथियारों से जुड़े मामलों की दर सबसे अधिक है। हर 1 लाख लोगों पर, राज्य में साल में कम से कम 14 मामले दर्ज होते हैं, जो हर महीने एक से अधिक बार होते हैं। इंदौर, इसके प्रमुख शहरों में से एक, देश में हथियारों से संबंधित दूसरे सबसे बड़े मामलों की रिपोर्ट करता है। अकेले 2020 में, इंदौर में 1,406 हथियार और संबंधित मामले दर्ज किए गए, जो कि 32 लाख की आबादी के लिए एक वर्ष में 65 मामले और एक महीने में पांच से अधिक मामले सामने आते हैं। उत्तर प्रदेश में, यह दर 13 प्रति लाख है, इसके बाद दिल्ली में नौ और उत्तराखंड और राजस्थान में आठ-आठ हैं। हालात हरियाणा के खराब हरियाणा में हर साल प्रति लाख आबादी पर औसतन सात हथियार और संबंधित मामले सामने आते हैं। समस्या गंभीर हरियाणा है। राज्य में दुश्मनी ने कई खिलाड़ियों के जीवन का भी दावा किया है । बंदूक हिंसा जोर पकड़ रही है। हथियारों से संबंधित मामले 2016 में 6.8 प्रति लाख थे, जो 2020 में बढ़कर आठ प्रति लाख हो गए। पंजाब में, ये इसी अवधि में 1.6 से घटकर 1.4 हो गया है। YouTube पर बस 'बदमाशी हरियाणवी गाने' (बदमाशी का अर्थ शरारती) टाइप करें और आपको उनके थंबनेल के रूप में बंदूकों और पिस्तौल के साथ कई ट्रैक मिलेंगे। लेकिन उनके खिलाफ नाराजगी कहां है? पंजाब में लाइसेंसी हथियार लोक सभा में 2018 में प्रस्तुत सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, राज्य में करीब 385000 लाइसेंसी हथियार हैं। इस तरह पंजाब में पुलिस से ज्यादा हथियार तो लोगों के पास हैं। देश के लगभग हर राज्य में अवैध हथियार की समस्या भी किसी से छिपी नहीं है। अक्सर अपराधियों के पास से अवैध कट्टे और रिवॉल्वर बरामद होते रहते हैं। इनका डेटा किसी भी सरकार के पास नहीं है। राज्य सरकार ने नियमों में की सख्ती 2019 में पंजाब सरकार ने लाइसेंसी हथियारों के मामले में केंद्र सरकार के संशोधित कानून को पंजाब में लागू कर दिया था। पंजाब में असलहा लाइसेंस हासिल करने की प्रक्रिया काफी सख्त कर दी गई है। नए नियमों के मुताबिक, असलहा लाइसेंस लेने के लिए लोगों को डोप टेस्ट से गुजरना होगा और नशे का आदी होने पर हथियार का लाइसेंस नहीं दिया जाएगा।

https://webkhabristan.com/special-news/machine-gun-is-sold-in-firozpur-for-15-lakh-rupees-9528
बांग्लादेश से तैरकर भारत आई 22 वर्षीय लड़की, प्रेमी से शादी की और अब हुई गिरफ्तार

बांग्लादेश से तैरकर भारत आई 22 वर्षीय लड़की, प्रेमी से शादी की और अब हुई गिरफ्तार

वेब खबरिस्तान,कोलकाता। बांग्लादेश से भारत आई 22 वर्षीय कृष्णा मंडल की कहानी सुनकर आप चौंक जायेंगे। वे भारत में अपने प्रेमी से मिलने जानवरों से भरे सुंदरबन डेल्टा को पार करके पश्चिम बंगाल आ गईं। शादी भी कर ली, मगर पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया है। अब पुलिस उन्हें वापस बांग्लादेश भेजने की तैयारी कर रही है। फेसबुक पर हुई दोस्ती कृष्णा मंडल की कुछ समय पहले फेसबुक के जरिए भारत में रहने वाले आशिक मंडल से दोस्ती हुई थी, जो प्यार में बदल गई। उन्होंने शादी का फैसला कर लिया। कृष्णा के पास पासपोर्ट नहीं था इसलिए उसे भारत में एंट्री नहीं मिल रही थी। परेशान होकर उसने सुंदरबन डेल्टा तैरकर भारत आने का फैसला किया।कृष्णा लगभग एक घंटे नदी में तैरीं और भारत की सीमा में पहुंची। उसने पिछले हफ्ते कोलकाता के मंदिर में शादी कर ली। जब इस बारे में पुलिस को खबर लगी तो कृष्णा को गिरफ्तार कर लिया। अधिकारियों का कहना है कि उसके पास भारत आने के जरूरी दस्तावेज नहीं हैं। उसे बांग्लादेश बॉर्डर पर अधिकारियों को सौंप दिया जाएगा। अब कृष्णा का पति आशिक मंडल काफी परेशान है और कानूनी मदद लेने की सोच रहा है। युवक चॉकलेट खरीदने घुसा था यह पहली बार नहीं है जब किसी ने इस तरह सुंदरबन को तैरकर भारत में घुसपैठ की हो। इस साल की शुरुआत में भी एक युवक चॉकलेट खरीदने के लिए ऐसे ही भारत में घुसा था। तब अदालत ने उसे 15 दिन की जेल की सजा सुनाई थी।

https://webkhabristan.com/special-news/22-year-old-girl-came-to-india-by-swimming-from-bangladesh-married-her-lover-9409
कुत्ते को मिली पांच सितारा होटल में नौकरी, साथ ही लेता है हर महीने मोटी कमाई, आखिर कौन है ये कुत्ता

कुत्ते को मिली पांच सितारा होटल में नौकरी, साथ ही लेता है हर महीने मोटी कमाई, आखिर कौन है ये कुत्ता

खबरिस्तान नेटवर्क: यूं तो आपने इन्टरनेट पर बहुत से जानवरों की वायरल विडियो देखें होंगे। लेकिन इस बार एक ऐसा विडियो वायरल हो रहा है जो आपको सोचने पर मजबूर कर देगा और जिसे देखने के बाद शायद एक मिनट के लिए आप भी सोच में पड़ जाए और खुद की आंखों पर यकीन न कर पाएं। दरअसल बंगलौर में एक कुत्ते को नौकरी पर रखा गया है और वो हर महीने सैलरी भी लेता है। तो चलिए जानते है पूरा मामला आखिर क्या है। 5 स्टार होटल में मिली नौकरी <blockquote class="instagram-media" data-instgrm-captioned data-instgrm-permalink="https://www.instagram.com/tv/Cate0sRAMcJ/?utm_source=ig_embed&amp;utm_campaign=loading" data-instgrm-version="14" style=" background:#FFF; border:0; border-radius:3px; box-shadow:0 0 1px 0 rgba(0,0,0,0.5),0 1px 10px 0 rgba(0,0,0,0.15); margin: 1px; max-width:540px; min-width:326px; padding:0; width:99.375%; width:-webkit-calc(100% - 2px); width:calc(100% - 2px);"><div style="padding:16px;"> <a href="https://www.instagram.com/tv/Cate0sRAMcJ/?utm_source=ig_embed&amp;utm_campaign=loading" style=" background:#FFFFFF; line-height:0; padding:0 0; text-align:center; text-decoration:none; width:100%;" target="_blank"> <div style=" display: flex; flex-direction: row; align-items: center;"> <div style="background-color: #F4F4F4; border-radius: 50%; flex-grow: 0; height: 40px; margin-right: 14px; width: 40px;"></div> <div style="display: flex; flex-direction: column; flex-grow: 1; justify-content: center;"> <div style=" background-color: #F4F4F4; border-radius: 4px; flex-grow: 0; height: 14px; margin-bottom: 6px; width: 100px;"></div> <div style=" background-color: #F4F4F4; border-radius: 4px; flex-grow: 0; height: 14px; width: 60px;"></div></div></div><div style="padding: 19% 0;"></div> <div style="display:block; height:50px; margin:0 auto 12px; width:50px;"><svg width="50px" height="50px" viewBox="0 0 60 60" version="1.1" xmlns="https://www.w3.org/2000/svg" xmlns:xlink="https://www.w3.org/1999/xlink"><g stroke="none" stroke-width="1" fill="none" fill-rule="evenodd"><g transform="translate(-511.000000, -20.000000)" fill="#000000"><g><path d="M556.869,30.41 C554.814,30.41 553.148,32.076 553.148,34.131 C553.148,36.186 554.814,37.852 556.869,37.852 C558.924,37.852 560.59,36.186 560.59,34.131 C560.59,32.076 558.924,30.41 556.869,30.41 M541,60.657 C535.114,60.657 530.342,55.887 530.342,50 C530.342,44.114 535.114,39.342 541,39.342 C546.887,39.342 551.658,44.114 551.658,50 C551.658,55.887 546.887,60.657 541,60.657 M541,33.886 C532.1,33.886 524.886,41.1 524.886,50 C524.886,58.899 532.1,66.113 541,66.113 C549.9,66.113 557.115,58.899 557.115,50 C557.115,41.1 549.9,33.886 541,33.886 M565.378,62.101 C565.244,65.022 564.756,66.606 564.346,67.663 C563.803,69.06 563.154,70.057 562.106,71.106 C561.058,72.155 560.06,72.803 558.662,73.347 C557.607,73.757 556.021,74.244 553.102,74.378 C549.944,74.521 548.997,74.552 541,74.552 C533.003,74.552 532.056,74.521 528.898,74.378 C525.979,74.244 524.393,73.757 523.338,73.347 C521.94,72.803 520.942,72.155 519.894,71.106 C518.846,70.057 518.197,69.06 517.654,67.663 C517.244,66.606 516.755,65.022 516.623,62.101 C516.479,58.943 516.448,57.996 516.448,50 C516.448,42.003 516.479,41.056 516.623,37.899 C516.755,34.978 517.244,33.391 517.654,32.338 C518.197,30.938 518.846,29.942 519.894,28.894 C520.942,27.846 521.94,27.196 523.338,26.654 C524.393,26.244 525.979,25.756 528.898,25.623 C532.057,25.479 533.004,25.448 541,25.448 C548.997,25.448 549.943,25.479 553.102,25.623 C556.021,25.756 557.607,26.244 558.662,26.654 C560.06,27.196 561.058,27.846 562.106,28.894 C563.154,29.942 563.803,30.938 564.346,32.338 C564.756,33.391 565.244,34.978 565.378,37.899 C565.522,41.056 565.552,42.003 565.552,50 C565.552,57.996 565.522,58.943 565.378,62.101 M570.82,37.631 C570.674,34.438 570.167,32.258 569.425,30.349 C568.659,28.377 567.633,26.702 565.965,25.035 C564.297,23.368 562.623,22.342 560.652,21.575 C558.743,20.834 556.562,20.326 553.369,20.18 C550.169,20.033 549.148,20 541,20 C532.853,20 531.831,20.033 528.631,20.18 C525.438,20.326 523.257,20.834 521.349,21.575 C519.376,22.342 517.703,23.368 516.035,25.035 C514.368,26.702 513.342,28.377 512.574,30.349 C511.834,32.258 511.326,34.438 511.181,37.631 C511.035,40.831 511,41.851 511,50 C511,58.147 511.035,59.17 511.181,62.369 C511.326,65.562 511.834,67.743 512.574,69.651 C513.342,71.625 514.368,73.296 516.035,74.965 C517.703,76.634 519.376,77.658 521.349,78.425 C523.257,79.167 525.438,79.673 528.631,79.82 C531.831,79.965 532.853,80.001 541,80.001 C549.148,80.001 550.169,79.965 553.369,79.82 C556.562,79.673 558.743,79.167 560.652,78.425 C562.623,77.658 564.297,76.634 565.965,74.965 C567.633,73.296 568.659,71.625 569.425,69.651 C570.167,67.743 570.674,65.562 570.82,62.369 C570.966,59.17 571,58.147 571,50 C571,41.851 570.966,40.831 570.82,37.631"></path></g></g></g></svg></div><div style="padding-top: 8px;"> <div style=" color:#3897f0; font-family:Arial,sans-serif; font-size:14px; font-style:normal; font-weight:550; line-height:18px;">View this post on Instagram</div></div><div style="padding: 12.5% 0;"></div> <div style="display: flex; flex-direction: row; margin-bottom: 14px; align-items: center;"><div> <div style="background-color: #F4F4F4; border-radius: 50%; height: 12.5px; width: 12.5px; transform: translateX(0px) translateY(7px);"></div> <div style="background-color: #F4F4F4; height: 12.5px; transform: rotate(-45deg) translateX(3px) translateY(1px); width: 12.5px; flex-grow: 0; margin-right: 14px; margin-left: 2px;"></div> <div style="background-color: #F4F4F4; border-radius: 50%; height: 12.5px; width: 12.5px; transform: translateX(9px) translateY(-18px);"></div></div><div style="margin-left: 8px;"> <div style=" background-color: #F4F4F4; border-radius: 50%; flex-grow: 0; height: 20px; width: 20px;"></div> <div style=" width: 0; height: 0; border-top: 2px solid transparent; border-left: 6px solid #f4f4f4; border-bottom: 2px solid transparent; transform: translateX(16px) translateY(-4px) rotate(30deg)"></div></div><div style="margin-left: auto;"> <div style=" width: 0px; border-top: 8px solid #F4F4F4; border-right: 8px solid transparent; transform: translateY(16px);"></div> <div style=" background-color: #F4F4F4; flex-grow: 0; height: 12px; width: 16px; transform: translateY(-4px);"></div> <div style=" width: 0; height: 0; border-top: 8px solid #F4F4F4; border-left: 8px solid transparent; transform: translateY(-4px) translateX(8px);"></div></div></div> <div style="display: flex; flex-direction: column; flex-grow: 1; justify-content: center; margin-bottom: 24px;"> <div style=" background-color: #F4F4F4; border-radius: 4px; flex-grow: 0; height: 14px; margin-bottom: 6px; width: 224px;"></div> <div style=" background-color: #F4F4F4; border-radius: 4px; flex-grow: 0; height: 14px; width: 144px;"></div></div></a><p style=" color:#c9c8cd; font-family:Arial,sans-serif; font-size:14px; line-height:17px; margin-bottom:0; margin-top:8px; overflow:hidden; padding:8px 0 7px; text-align:center; text-overflow:ellipsis; white-space:nowrap;"><a href="https://www.instagram.com/tv/Cate0sRAMcJ/?utm_source=ig_embed&amp;utm_campaign=loading" style=" color:#c9c8cd; font-family:Arial,sans-serif; font-size:14px; font-style:normal; font-weight:normal; line-height:17px; text-decoration:none;" target="_blank">A post shared by The Lalit Ashok Bangalore (@thelalitbangalore)</a></p></div></blockquote> <script async src="//www.instagram.com/embed.js"></script> इंटरनेट पर एक विडियो वायरल हो रहा है जो बेंगलुरु का बताया जा रहा है। इस विडियो में एक क्यूट सा डॉगी (Doggy) दिख रहा है और जिसे एक आदमी बहुत ही प्यार कर रहा है। दरअसल ये कुत्ता एक 5 स्टार होटल (5 Star Hotel) में नौकरी करता है। जहां वो अन्य कर्मचारियों की तरह ही अच्छी खासी तनख्वाह भी लेता है। बता दें कि सैलरी के रूप में उसको सबका ढेर सारा प्यार मिलता है। होटल वालों ने दिया आसरा दरअसल, वीडियो में दिख रहे इस क्यूट से डॉगी के पास पहले न तो छत थी और न ही ठिकाना। लेकिन कुछ समय पहले इसे आसरा दिया बैंगलोर के एक फाइव स्टार होटल ने। इसके साथ ही इसे एक प्यारा सा नाम भी दिया गया है, 'बर्नी द ललित अशोक'। यही पर ये कुत्ता यहां आने वालों का मनोरंजन करता है। बदले में उसे ढेर सारा प्यार मिलता है। सैलरी के रूप में मिलता है बहुत सा प्यार वीडियो में बर्नी द ललित अशोक के गले में एक आईडी कार्ड को देखा जा सकता है। उसके मुताबिक, बर्नी द ललित अशोक को होटल ने 'Chief Happiness Officer' के पद पर रखा है। बता दें कि अन्य कर्मचारियों की तरह अब वह लॉबी की बैठकों में भाग लेता है, पेट की मालिश की मांग भी करता है और सभी प्यारे (cute) काम करता है। वहीँ होटल के महाप्रबंधक के मुताबिक, सैलरी के रूप में सभी बर्नी द ललित अशोक को गले लगाते हैं और प्यार करते हैं। 'thelalitbangalore' नाम के अकाउंट से शेयर किया गया सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर इस वीडियो को 'thelalitbangalore' नाम के अकाउंट से शेयर किया गया है। वहीँ इस वीडियो को लाखों लोगों द्वारा देखा गया है और लोगो के रिएक्शन भी सामने आ रहे हैं।

https://webkhabristan.com/special-news/the-dog-works-in-a-five-star-hotel-9340