खास ख़बर

युवक ने जन्मदिन पर एक साथ अलग-अलग फ्लेवर के काटे 550 केक

युवक ने जन्मदिन पर एक साथ अलग-अलग फ्लेवर के काटे 550 केक

जन्मदिन के मौके पर केक काटना तो आम बात है

जिसने बचाई थी जान उसी की गोद में ‘माउंटेन गोरिल्ला’ ने ली आखिरी सांस

जिसने बचाई थी जान, उसी की गोद में ‘माउंटेन गोरिल्ला’ ने ली आखिरी सांस

14 वर्षीय गोरिल्ला की लंबी बीमारी के चलते मौत हो गई है


कोरोना के कारण कोमा में चली गयी लेडी ने एक स्वस्थ बच्ची को दिया जन्म

कोरोना के कारण कोमा में चली गयी लेडी ने एक स्वस्थ बच्ची को दिया जन्म

वेब ख़बरिस्तान। कोरोना वायरस ने बीते साल दुनियाभर में कोहराम मचा दिया और जमकर तबाही हुई। दुनिया भर के लोगों ने अपने बहुत से परिजनों को खोया है। इस दौरान पहले से किसी बीमारी का सामना कर रहे लोग और प्रेग्नेंट महिलायों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। कई बार तो ऐसे मामले भी सामने आए जिसमें कोरोना पीड़ित व प्रेग्नेंट महिला ने हेल्दी बच्चे को जन्म दिया। लेकिन अब एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। जिसमे एक कोरोना पीड़ित प्रेग्नेंट महिला ने कोमा में होने के बावजूद एक स्वस्थ बच्चे को जन्म दिया है। 28 वीक की प्रेग्नेंट महिला थी इंड्यूज्ड कोमा में एक रिपोर्ट के मुताबिक, यूके की रहने वाली केल्सी राउट्स 28 वीक प्रेग्नंर थीं। जब उन्हें सांस लेने में तकलीफ हो रही थी, उस दौरान उन्हें अस्पताल ले जाया गया और वहां जांच के बाद उनमें कोरोना की पुष्टि पाई गयी। डॉक्टरों ने महिला का इलाज तो शुरू किया लेकिन इस्लाज के दौरान उनके शरीर को आराम मिल सके इसके लिए उसे इंड्यूज्ड कोमा में भेज दिया गया था। प्रेग्नेंसी के दौरान हुआ कोरोना फिर कोमा में चली गई महिला आपको बता दें अनवैक्सीनेटेड प्रेग्नेंट महिला को प्रेगनेंसी के दौरान कोरोना हो गया था। उस दौरान कैल्सी की उसकी हालत इतनी बिगड़ कई उसको इंड्यूज्ड कोमा में रखना पड़ा इंड्यूज्ड कोमा लेकिन जब उसे होश आया तब तक वह एक स्वस्थ बच्ची को जन्म दे चुकी थी। डॉक्टर्स के मुताबिक अब दोनों माँ और बच्ची स्वस्थ हैं। डॉक्टरों ने इमर्जेंसी सीजेरियन सेक्शन का बचायी महिला-बच्ची की जान डॉक्टर्स के मुताबिक केल्सी तब भी बेहोश थीं जब डॉक्टरों ने एक इमर्जेंसी सीजेरियन सेक्शन कर उनकी डिलीवरी की थी। केल्सी की डिलीवरी डेट से 12 हफ्ते पहले ही डिलीवरी की गयी और बच्ची के जन्म के 7 दिन बाद वह कोमा से बाहर आ गयी। अपनी बच्ची को देख कैल्सी की आंखों में ख़ुशी के आंसू आ गयेअ और उसकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा। केल्सी के मुताबिक ये एक 'चमत्कार' जैसा था रिपोर्ट्स के मुताबिक केल्सी का कहना है कि मैं जानती हूं कि डॉक्टरों ने मुझे और मेरी बच्ची को बचाने के लिए यह सब किया लेकिन मैं शॉक्ड हो गयी थी। उन्होंने कहा कि जो भी हुआ है हम उससे बेहद खुश हैं। केल्सी पहले भी 2 बच्चों को जन्म दे चुकी हैं। केल्सी ने कहा कि यह एक 'चमत्कार' जैसा था, डॉक्टरों ने मेरी और मेरी बच्ची दोनों की जान बचा कर दोनों को एक नया जीवन दिया है।

https://webkhabristan.com/special-news/lady-who-went-into-coma-due-to-corona-gave-birth-to-a-healthy-baby-girl-4108
ट्विटर पर टैगिंग से परेशान हुए फुटबॉलर अमरिंदर,बोले- मैं कैप्टन अमरिंदर नहीं हूँ

ट्विटर पर टैगिंग से परेशान हुए फुटबॉलर अमरिंदर,बोले- मैं कैप्टन अमरिंदर नहीं हूँ

वेब ख़बरिस्तान,लुधियाना। पंजाब में कैप्टन अमरिंदर सिंह के इस्तीफे के बाद एक ओर सियासी घमासान मचा हुआ है वहीँ एक रोचक मामला भी सामने आया है। माहिलकलां के अंतरराष्ट्रीय फुटबॉलर अमरिंदर सिंह ट्विटर पर न्यूज टैगिंग के बाद इतने परेशान हो गए कि उन्होंने ट्वीट कर अपनी परेशानी बयां की। उन्होंने कैप्टन अमरिंदर सिंह से संबंधित न्यूज में टैग न करने की अपील भी की। राजनीतिक खबरों में लगातार टैग किया जा रहा अमरिंदर सिंह भारतीय फुटबॉल टीम के गोलकीपर हैं। उन्होंने कहा कि कैप्टन अमरिंदर सिंह के इस्तीफे के बाद उन्हें राजनीतिक खबरों में लगातार टैग किया जा रहा है। उन्होंने हाथ जोड़ते हुए अपील की कि, ""दोस्तो मैं अमरिंदर सिंह इंडियन फुटबॉल टीम का गोलकीपर हूं। न कि कैप्टन अमरिंदर सिंह। इसलिए ट्वीट में मुझे टैग करना बंद कर दें।'' शुक्र हो आप गोलकीपर हो, कैप्टन नहीं फुटबॉलर अमरिंदर सिंह को टैग करने के साथ-साथ तरह-तरह के कमेंट्स किए जा रहे हैं। कोई कह रहा है कि - शुक्र है कि आप गोलकीपर हो, टीम के कैप्टन नहीं, नहीं तो और और समस्या हो जाती। एक अन्य यूजर ने कमेंट किया कि गोल पर गोल पड़े गोलकीपर को। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने रीट्वीट किया फुटबॉलर अमरिंदर के ट्वीट को पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी ट्वीट किया। उन्होंने कहा कि, मेरी सहानुभूति तुम्हारे साथ है दोस्त! तुम्हारे अच्छे खेल के लिए शुभकामनाएं। इसके अलावा कैप्टन अमरिंदर सिंह के मुख्यमंत्री पद से हटने के बाद से उनके लिए हजारों ट्वीट किए जा रहे हैं।

https://webkhabristan.com/special-news/footballer-amarinder-upset-due-to-tagging-on-twitter-said-–-i-am-not-captain-4035
6 महीने के बच्चे ने वॉटर स्कीइंग में बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड, सोशल मीडिया पर हो रहा वायरल

6 महीने के बच्चे ने वॉटर स्कीइंग में बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड, सोशल मीडिया पर हो रहा वायरल

वेब ख़बरिस्तान, न्यूयॉर्क। एक 6 महीने के बच्चे ने वॉटर स्कीइंग में वर्ल्ड रिकॉर्ड कायम किया है। बच्चे का वीडियो और फोटो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही है। अमेरिकी के राज्य उटाह की लेक पॉवेल में रिच हम्फ्रीज ने वॉटर स्कीइंग की। रिच हम्फ्रीज बोट से कनेक्टिड आइरान रॉड को कसकर पकड़े हुए है जबकि दूसरी तरफ उनके पिता दूसरी बोट पर सवार हैं। वह बच्चे को देख रहे हैं। बच्चे ने लाइफ जैकेट भी पहनी हुई है। सेफ्टी के साथ बच्चे को पानी में उतारा बच्चे को पूरी सेफ्टी के साथ पानी में उतारा गया। यह वीडियो इंस्टाग्राम पर 13 सितंबर को शेयर किया गया था और अब तक लाखों व्यूज और कमेंट्स मिल चुके हैं। सोशल मीडिया पर लोग अलग-अलग तरह की राय दे रहे हैं। बहुत सारे लोगों ने कहा कि वॉटर स्कीइंग करने के लिए उसकी उम्र काफी छोटी है तो कुछ लोगों ने बताया कि पिता ने पूरी सुरक्षा के साथ बेटे को नदी में उतारा, जो बिल्कुल ठीक था।

https://webkhabristan.com/special-news/6-month-old-baby-sets-world-record-in-water-skiing-going-viral-on-social-media-3981
लाश के लिए सास-बहू में हुआ झगड़ा - मां बोली- अंत्येष्टि करूंगी तो पत्नी सुपुर्द-ए-खाक पर अड़ीं

लाश के लिए सास-बहू में हुआ झगड़ा - मां बोली- अंत्येष्टि करूंगी तो पत्नी सुपुर्द-ए-खाक पर अड़ीं

वेब ख़बरिस्तान,इंदौर। एक युवक की मौत के बाद सास- बहु का झगड़ा शुरू हो गया। दरअसल प्रकाश से सलीम बने युवक की मौत के बाद लाश के लिए वे दोनों आपस में उलझ गई। मृतक की मां-बहन हिंदू रीति रिवाज से अंतिम संस्कार करना चाहती हैं जबकि उसकी पत्नी और बेटी सुपुर्द-ए-खाक करने की बात पर अड़ी हुई हैं। ऐसे में पुलिस भी असमंजस में हैं। मृतक शांतिनगर का रहने वाला यह मामला प्रकाश उर्फ सलीम निवासी शांतिनगर का है। संदिग्ध हालत में प्रकाश की मौत हो गई थी। प्रकाश उर्फ़ सलीम की पत्नी हारून बी और उसकी बेटी रानी बी अस्पताल पहुंचे ओर पोस्टमॉर्टम शुरू कराया। जब इसकि सूचना प्रकाश की मां सोरम बाई और बहन गीता को लगी तो वह शव को ले जाने की बात करने लगे और उन्होंने हिंदू रीति रिवाज से अंतिम संस्कार की बात कही। 15 साल पहले पत्नी छोड़कर चली गयी थी प्रकाश की मां ने बताया कि उनका बेटा ट्रक चालक था। उसकी पत्नी 15 साल पहले उसे छोड़कर चली गई थी। इसके बाद वह हारून बी के साथ रहने लगा। हारून से प्रकाश ने निकाह नहीं किया, लेकिन वह उसके साथ रह रहा था। उन्होंने आरोप लगाया कि प्रकाश को हारून बी के परिवार के लोगों ने बेटा बनाकर रखा था। जिसके बाद दोनों के बीच प्रेम संबंध हो गए। बेटी ने कहा - शादी के बाद धर्म परिवर्तन किया बेटी रानी बी ने आरोप लगाया कि साढ़े नौ बजे पिता का कॉल आया। उन्होंने तबीयत खराब होने की बात कही। इसके बाद उनकी मौत हो गई। वह पहले सोरम बाई के बेटे थे, लेकिन मां से शादी के बाद धर्म परिवर्तन कर लिया था।

https://webkhabristan.com/special-news/there-was-a-fight-between-mother-in-law-and-daughter-in-law-for-the-corpse-3866
बंदर ने वकील से छीना 2 लाख रुपये से भरा बैग, लोगों पर की रुपयों की बारिश

बंदर ने वकील से छीना 2 लाख रुपये से भरा बैग, लोगों पर की रुपयों की बारिश

वेब ख़बरिस्तान। अगर आसमान से नोटों की अचानक बरसात होने लगे तो आप खुश होंगे। ऐसा ही कुछ उत्तर प्रदेश के बरेली में हुआ। यहां एक बंदर ने वकील से 2 लाख रुपये से भरा बैग छीन लिया और बैग से रुपये निकालकर लोगों के ऊपर लुटाने लगा। इस दौरान उसने लगभग एक लाख रुपये लुटा दिए। वकील परेशान रहे और बंदर से अपना बैग वापस मांगता रहे। वकील विनोद कुमार शर्मा ने बताया कि वह रामपुर के शाहाबाद कस्बे में जमीन की रजिस्ट्री के लिए स्टांप पेपर खरीदने जा रहे थे। इसी दौरान अचानक बंदर ने उनका बैग छीन लिया। यहां एक अलग तरह का माहौल था, एक वकील ऊंचे पेड़ पर चढ़े बंदर के सामने पैरवी कर रहे थे। उन्होंने बताया कि बैग में दो लाख रुपये थे। बंदर ने उनसे रुपयों भरा बैग छीन लिया। वहां भीड़ एकत्र हो गई। लोग हूटिंग करने लगे और तालियां बजाने लगे। बंदर ने एक लाख रुपये उड़ा दिए। वहां जुटी भीड़ रुपये बटोरने में लग गई। वकील भीड़ के सामने गिड़गिड़ाने लगे कि जो रुपये वे रख रहे हैं, वह उनके हैं और उन्हें दे दें। काफी समझाने के बाद लोगों ने रुपये इकट्ठे करके विनोद शर्मा को दिए। वकील को 95 हजार ही वापस मिले लगभग 30 मिनट से अधिक तक यह हाई-ड्रामा चला। वकील को 95,000 रुपये ही वापस मिल पाए। बाकी के 5,000 रुपये किसी ने रख लिए। बंदर के रुपये लुटाने वाला वीडियो कुछ लोगों ने शूट किया। यह वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो गया। अक्टूबर 2019 में इसी तरह की एक घटना बदायूं जिले से सामने आई थी जहां दो बंदरों ने एक महिला से बैग छीन लिया और लोगों पर पैसे बरसाए थे। विनोद शर्मा ने कहा, 'मुझे अपने जीवन का झटका तब लगा जब बंदर ने मेरा बैग छीन लिया और नीम के पेड़ पर चढ़ गया। बैग में 2 लाख रुपये थे, जो मैंने एक क्लाइंट से स्टांप के लिए रुपये लिए थे। फिर बंदर ने बैग से 50-50 हजार रुपये के दो बंडल निकाले और बैग को फेंक दिया।'

https://webkhabristan.com/special-news/monkey-snatched-a-bag-full-of-2-lakh-rupees-from-the-lawyer-3830
महिला ने आर्डर किया चिकन बर्गर‚ पहले ही निवाले में निकली इंसानी उंगली

महिला ने आर्डर किया चिकन बर्गर‚ पहले ही निवाले में निकली इंसानी उंगली

वेब ख़बरिस्तान। एक महिला ने फास्ट फूड रेस्टोरेंट में चिकेन बर्गर ऑर्डर किया, लेकिन इससे पहले कि वो बर्गर खाती, उसमें जो निकला वो उम्मीद से परे था। महिला ने जैसे ही बर्गर का पहला निवाला लिया, तो उसकी आंखें फटी की फटी रह गईं. आइए जानते हैं आखिर क्या था उस बर्गर में। डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक, बोलीविया की रहने वाली एस्टेफनी बेनिटेज एक फास्ट फूड रेस्टोरेंट में बर्गर ऑर्डर किया था, लेकिन पहला निवाला लेते ही उसे लगा जैसे कि उसमें कुछ हार्ड सी चीज है। ऐसे में जब बेनिटेज ने बर्गर को चेक किया तो उसके होश उड़ गए। क्योंकि चिकन बर्गर के अंदर मीट की जगह इंसान की अंगुली थी। इस घटना के बारे में एस्टेफनी बेनिटेज ने फेसबुक पर लिखा, खाते समय, मैंने एक उंगली चबा ली। उसने रेस्टोरेंट से ही इस घटना का वीडियो बनाया और उसे सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया, जिसे 60 हजार से अधिक लोग देख चुके हैं। वहीं रेस्टोरेंट के एक शख्स ने कहा कि बर्गर पहले से तैयार होकर स्टोर पहुंचते हैं, हमारे साथ ऐसा पहले कभी नहीं हुआ। सोशल मीडिया पर महिला के पोस्ट को व्यापक रूप से शेयर किए जाने के बाद, बर्गर कंपनी के प्रवक्ता ने इस मामले को दुर्भाग्यपूर्ण घटना बताया और कहा कि काम करते वक्त उसके एक कर्मचारी की अंगुली कट गई थी। इस बीच, स्थानीय प्रशासन ने रेस्टोरेंट के इस ब्रांच को अस्थायी रूप से बंद करने और कंपनी पर जुर्माना लगाने का फैसला किया। बताया गया कि बर्गर कंपनी में काम करने वाले एक कर्मचारी की अंगुली कटकर मीट ग्राइंडर में चली गई थी। इसी मीट को बर्गर में स्टफ कर पैक कर दिया गया।

https://webkhabristan.com/special-news/woman-ordered-chicken-burger-human-finger-came-out-in-the-first-bite-3818
अब एंबुलेंस और गाड़ियों में तबला, शंख, हारमोनियम वाले होंगे हॉर्न, नितिन गडकरी ने दी जानकारी  

अब एंबुलेंस और गाड़ियों में तबला, शंख, हारमोनियम वाले होंगे हॉर्न, नितिन गडकरी ने दी जानकारी  

वेब खबरिस्तान,दौसा। अब एंबुलेंस में तबला, हारमोनियम और शंख की आवाज वाले हॉर्न सुनाई देंगे। यह जानकारी केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी द्वारा दी गई। दरअसल वे 90 हजार करोड़ रुपए की लागत से बन रहे दिल्ली-मुंबई ग्रीनफील्ड एक्सप्रेस-वे का निरीक्षण करने दौसा के धनावड़ गांव आए थे। उन्होंने कहा कि नए हॉर्न पैटर्न पर काम शुरू हो गया है। उन्होंने कहा कि रणथंभौर व मुकुंदरा हिल्स टाइगर रिजर्व से निकलने वाले एक्सप्रेस-वे के हिस्से को एक एलिवेटेड कॉरिडोर की तरह बनाकर निकाला जाएगा। ऐसा इसलिए ताकि सेंचुरी में रहने वाले जीव-जंतुओं को किसी प्रकार की परेशानी नहीं हो। जीपीएस सिस्टम से टोल भुगतान की व्यवस्था होगी शुरू उन्होंने कहा कि अगले 2 साल में जीपीएस सिस्टम से टोल के भुगतान की व्यवस्था शुरू की जाएगी। इसमें एक सॉफ्टवेयर तैयार कर सैटेलाइट और जीपीएस से कनेक्ट किया जाएगा। इसके बाद जो भी वाहन हाईवे पर जितने किलोमीटर चलेगा, उसे उतना ही टोल देना होगा। दिल्ली-मुम्बई एक्सप्रेस-वे भारत माला परियोजना के तहत बन रहा दिल्ली-मुम्बई एक्सप्रेस-वे भारत माला परियोजना के तहत बनाया जा रहा है। यह हाईवे 1350 किमी लंबा होगा। इसे बनाने में 90 हजार करोड़ रुपए खर्च होंगे। इस प्रोजेक्ट को जनवरी 2023 तक पूरा करने का लक्ष्य है।

https://webkhabristan.com/special-news/now-ambulances-and-vehicles-will-have-tabla-conch-harmonium-horn-3804
मैदान पर घुसे कुत्ते को आईसीसी ने दिया

मैदान पर घुसे कुत्ते को आईसीसी ने दिया 'डॉग ऑफ द मंथ' का अवॉर्ड

वेब ख़बरिस्तान। आईसीसी की ओर से 'प्लेयर ऑफ द मंथ' अवॉर्ड्स की घोषणा की थी। मेंस कैटेगरी में यह खिताब शानदार फॉर्म में चल रहे इंग्लैंड के टेस्ट कप्तान जो रूट को जबकि विमेंस कैटेगरी में आयरलैंड की एमिएर रिचर्डसन को यह अवॉर्ड दिया गया। इसी दौरान एक डॉग को स्पेशल अवार्ड दिया गया। इन अवॉर्ड्स के दौरान यह कुत्ता सबसे ज्यादा लाइमलाइट हासिल करने में कामयाब रहा। आईसीसी ने कुत्ते की फोटो शेयर की और कैप्शन में लिखा 'आईसीसी डॉग ऑफ द मंथ स्पेशल अवॉर्ड।' द डॉग' की एक पिक्चर पोस्ट की आईसीसी ने अपने ट्विटर हेंडल पर 'डेजल द डॉग' की एक पिक्चर पोस्ट की है। इसमें वो बॉल को मुंह में दबाए दिख रहा है। आईसीसी ने लिखा- इस बार हमारे पास प्लेयर ऑफ द मंथ अवॉर्ड के लिए एक और विनर है।'डेजल द डॉग' को एक नहीं बल्कि दो अवॉर्ड्स से नवाजा गया। ये अवॉर्ड 'प्लेयर ऑफ द मुमेंट' और 'बेस्ट फील्डर इन आयरलैंड क्रिकेट' के रहे। आईसीसी ने वीडियो भी शेयर किया और लिखा- फील्ड पर ये असाधारण फील्डिंग का नजारा देखने लायक था। आयरलैंड में खेले जा रहे मैच में घुसा था डॉग यह कुत्ता आयरलैंड में खेले जा रहे एक महिला क्रिकेट मैच में मैदान पर घुस गया था। आयरलैंड महिला टी-20 कप का सेमीफाइनल मैच ब्रैडी क्रिकेट क्लब और सिविल सर्विस नॉर्थ ऑफ आयरलैंड क्रिकेट क्लब के बीच खेला जा रहा था। एबी लैकी ने थर्डमैन की दिशा में शॉट खेला और फील्डर ने विकेटकीपर की ओर गेंद फेंकी। विकेटकीपर ने भी गेंद को स्टंप्स की ओर फेंका, मगर गेंद स्टंप्स पर लगने के बजाय दूसरी और चली गई। तभी एक कुत्ता तेजी से दौड़कर मैदान पर आया और उसने गेंद अपने मुंह से पकड़ ली और मैदान पर ही दौड़ने लगा। उसके पीछे एक लड़का मैदान पर दौड़ता हुआ आया। नॉन स्ट्राइकर एंड पर खड़ी महिला बल्लेबाज ने कुत्ते को अपने पास बुलाया और गेंद उसके मुंह से निकाली।

https://webkhabristan.com/special-news/icc-gave-dog-of-the-month-award-to-the-dog-who-entered-the-field-3787