पंजाब विधानसभा चुनाव में संयुक्त समाज मोर्चा ने लक्खा सिधाना को मौड़ से बनाया उम्मीदवार

सिधाना 2020 में गणतंत्र दिवस के दिन हुए लाल किला हिंसा के मुख्‍य आरोपियों में शामिल है

सिधाना 2020 में गणतंत्र दिवस के दिन हुए लाल किला हिंसा के मुख्‍य आरोपियों में शामिल है



पहली बार विधानसभा चुनाव लड़ रहे संयुक्त समाज मोर्चा की ओर से अपने 35 उम्मीदवारों की घोषणा की गई

वेब ख़बरिस्तान, चंडीगढ़। पहली बार विधानसभा चुनाव लड़ रहे संयुक्त समाज मोर्चा की ओर से अपने 35 उम्मीदवारों की घोषणा की गई है। इस सूची में लक्‍खा सिधाना का नाम भी शामिल है। दरअसल लक्खा सिधाना 2020 में गणतंत्र दिवस के दिन हुए लाल किला हिंसा के मुख्‍य आरोपियों में शामिल है।


लक्‍खा को बठिंडा जिले के मौड़ मंडी विधानसभा सीट से उम्मीदवार घोषित किया है। सिधाना ने यहां 15 दिन पहले ही प्रचार शुरू कर दिया था। संयुक्त समाज मोर्चा में पंजाब के 22 किसान संगठन शामिल हैं।

26  जनवरी को लाल किले में हुई थी हिंसा

दिल्ली में किसान आंदोलन के दौरान 26 जनवरी, 2020 को लाल किला में हुई हिंसा के मामले में लक्खा सिधाना के खिलाफ केस दर्ज किया गया था। इसके बाद किसान संगठनों द्वारा उसका बहिष्कार कर दिया था। इसके बाद लक्खा सिधाना काफी समय तक फरार रहा। दिल्ली पुलिस ने पंजाब और हरियाणा सहित विभिन्‍न स्‍थानों पर उसकी तलाश की। बीच-बीच में वह पंजाब के विभिन्न जिलों में सार्वजनिक मंचों पर नजर आता रहा।

मनप्रीत बादल का करीबी

लक्खा सिधाना पंजाब के वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल के काफी करीबी माना जाता रहा है। मनप्रीत सिंह बादल ने जब अपनी पार्टी बनाई थी तो उनकी पार्टी के टिकट पर लक्खा सिधाना ने भी चुनाव लड़ा था।

Related Links