Mohali Case में एसएसओसी टीम को मिली सफलताः मशहूर पंजाबी सिंगर के करीबी को किया गिरफ्तार

Mohali Case में एसएसओसी टीम को मिली सफलता

Mohali Case में एसएसओसी टीम को मिली सफलता



जगदीप सिंह कंग को एसएसओसी टीम ने किया गिरफ्तार

वेब ख़बरिस्तान। मोहाली ब्लास्ट मामले में पंजाब डीजीपी वी.के भावरा ने बड़ा खुलासा किया है। प्रैस कांफ्रैंस करते हुए डी.जी.पी. ने बताया कि इस केस का मुख्यारोपी लखबीर सिंह लांदा जो तरनतारन का रहने वाला है। लांदा 2017 में कनाडा में शिफ्ट हो गया था। इसके साथ 2 और आरोपी है, जिनमें निशान सिंह और चढ़त सिंह भी शामिल है। डी.जी.पी. ने बताया कि इस हमले के तार गैंगस्टर और आतंकियों से जुड़ है। इस हमले में 6 लोगों को गिरफ्तार किया है जबकि तीन लोगों की तालाश जारी है।

मोहाली में हुए हमले को लेकर एसएसओसी टीम को बड़ी सफलता हासिल हुई है। स्टेट स्पेशल ऑपरेशन सेल (एसएसओसी) टीम ने जगदीप सिंह कंग नाम के व्यक्ति को दिल्ली से गिरफ्तार किया है। कंग को जिला अदालत में पेश किया गया, जहां से अदालत ने उसे नौ दिन के रिमांड पर भेज दिया है। बता दें कि पंजाब पुलिस के खुफिया मुख्यालय पर हुए हमले के मामले की जांच तेज हो गई है। जल्दी ही केस की सारी परतें खुलने की उम्मीद है। 

जगदीप सिंह कंग को दिल्ली से किया गिरफ्तार


सूत्रों के मुताबिक जगदीप सिंह कंग एक पंजाबी नामी गायक करण औजला का करीबी बताया जा रहा है। उसे दिल्ली से गिरफ्तार किया गया है। पुलिस अधिकारी इस मामले में कुछ भी बोलने से बच रहे है। दूसरी तरफ फरीदकोट पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए निशान सिंह को स्पेशल ऑपरेशन सेल (एसओएस) की टीम मोहाली ले आई। साथ ही अब इस इससे हमले के संबंध में पूछताछ की जाएगी। इससे पहले शुक्रवार को आरोपी का सिविल अस्पताल में मेडिकल करवाया गया। इस दौरान उसे हथकड़ी लगाई हुई थी। गर्मी ज्यादा होने से आरोपी ने अपना मुंह सफेद परने से कवर किया हुआ था और जबकि निकर और शर्ट पहनी हुई थी। इस दौरान आरोपी के वहां पहुंचने की भनक मीडिया को लग गई, तो वहां भी काफी समय में मीडिया कर्मी पहुंच गए। 

मोहाली केस में निशान सिंह निभा सकता है अहम भूमिका

हालांकि आरोपी फरीदकोट पुलिस के पास पांच दिन के रिमांड पर चल रहा है। लेकिन मुख्यालय पर हमला गंभीर माना जा रहा है। ऐसे में टीम उसे मोहाली ले आई है। इसके साथ ही उम्मीद है कि अब अन्य सुरक्षा एजेंसियां भी आरोपी से पूछताछ करेगी। पुलिस को उम्मीद है कि इस केस को हल करने में निशान सिंह अहम भूमिका निभा सकता है। 

नौ मई को पुलिस खुफिया विभाग के मुख्यालय पर हमला हुआ था लेकिन अभी तक यह मामला पुलिस के लिए पहेली बना हुआ है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि उनके पास केस के संबंध में महत्वपूर्ण लीड है। जल्दी ही सारी कहानी से पर्दा उठ जाएगा। हर तथ्य पर गंभीरता से काम किया जा रहा है।

Related Links