जालंधऱ के पटवारखाने में करिंदों का राज - पटवारी के कैबिन में सरकारी रिकॉर्ड खोलकर बैठे थे करिंदे

पटवारी के कमरे में काम करते करिंदे। दाएं पटवारी और कानूनगो।

पटवारी के कमरे में काम करते करिंदे। दाएं पटवारी और कानूनगो।



कानूनगो ने कहा – ये पटवारी जानें वे क्यों काम कर रहे थे, पटवारी ने कहा – उन्हें नहीं पता कौन है, लोगों ने डीसी से की शिकायत पेटियां लगवाने की मांग

खबरिस्तान नेटवर्क। जालंधर के डीसी कांप्लेक्स में पुराने पटवारखाने में कमरा नंबर 24 में दो लड़के सरकारी रिकॉर्ड खोलकर बैठे थे, जब मीडिया ने उनसे सवाल पूछा किया वे कौन हैं तो वे बिना कुछ बताए वहां से रफूचक्कर हो गए। न तो इसका पटवारी कोई सही जवाब दे सके और न ही कानूनगो कोई तस्ल्लीबख्श जवाब दे सके।


दोपहर को मीडिया की टीम जब जालंधर डीसी कांप्लेक्स में पुराने पटवारखेने के कमरा नंबर 24 में पहुंची तो वहां दो लड़के सरकारी रिकार्ड खोलकर काम कर रहे थे। जब उनसे पूछा गया कि आप तो पटवारी नहीं हो फिर आप रिकॉर्ड क्यों खोलकर क्यों बैठे हो तो वे कुछ नहीं बोले। जब एक लड़के को सवाल यी सवाल दोहराया तो उसने जेब में पेन डाला और कमरे से बाहर निकल गया।

पटवारी ले गए कानूनगो के पास

जब साथ ही काम कर रहे पटवारी अशोक कुमार से पूछा गया कि आपके कमरे में दो लड़के सरकारी रिकार्ड खोलकर बैठे हैं तो उन्होंने कहा कि कोई रिकार्ड देखने आए होंगे। जब उन्हें साथ चलने के लिए कहा तो वह मीडिया को कानूनगो के पास ले गए। कानूनगो से जब पूछा गया कि ये दो लड़के कौन थे तो वह भी कोई संतोषजनक जवाब नहीं दे सके।

कंप्लेंट बाक्स लगवाएं डीसी

डीसी कांप्लेक्स में काम करवाने आए लोगों ने कहा कि पटवारियों के कमरे में आम आदमी की पहुंच नहीं है, लेकिन वहां दलाल आसानी से आ जा सकते हैं। कई पटवारियों ने तो आगे प्राइवेट करिंदे रखे हुए हैं। डीसी को इस मामले में जांच करवानी चाहिए और पटवारियों को लेकर जनता को हो रही परेशानियों के हल के लिए कांप्लेक्स में कंप्लेंस बाक्स लगवाने चाहिए।

Related Tags


karinde in jalandhar dc complex jalandhar patwarkhana jalandhar dc office jalandhar dc complex

Related Links