गैंगस्टर लॉरेंस बिशनोई का साथी दीपक टीनू पुलिस की गिरफ्त्त से फरार

आख़िरी कॉन्फ़्रेन्स कॉल लॉरेंस और टीनू के बीच 27 मई को हुई थी

आख़िरी कॉन्फ़्रेन्स कॉल लॉरेंस और टीनू के बीच 27 मई को हुई थी



29 मई को सिद्धू मूसेवाला का मर्डर हुआ था।

वेब खबरिस्तान. गैंगस्टर लॉरेंस का गुर्गा दीपक टीनू CIA मानसा की गिरफ्त से छूटकर फरार हो गया है। बता दें कि CIA मानसा की टीम टीनू को कपूरथला से मानसा लेकर जा रही थी। घटना शनिवार रात 11 बजे के करीब की है। आरोपी के फरार होने के बाद अलर्ट हुई पंजाब पुलिस ने राजस्थान और हरियाणा बॉर्डर सील कर दिया है।


जानकारी मुताबिक CIA इंचार्ज अपनी प्राइवेट गाड़ी में गैंगस्टर टीनू को कपूरथला से मानसा ला रहे थे। पुलिस ने टीनू को कपूरथला से लिया और छापामारी करने के लिए उसे एक अनजान जगह पर लेकर जा रहे थे। इस दौरान टीनू को हथकड़ी भी नहीं लगाई गई थी। इसी का फायदा उठाकर टीनू भाग गया।

कपूरथला पुलिस को मिला था टीनू का प्रोडक्शन वारंट

दीपक टीनू को कपूरथला पुलिस प्रोडक्शन वारंट पर लेकर आई थी। टीनू पर कत्ल, फिरौती, रंगदारी आदि के कई मामले दर्ज हैं। टीनू पर लाखों का इनाम भी रखा हुआ था। बताया जा रहा है कि सिद्धू मूसेवाला की हत्या से दो दिन पहले ही 27 मई को टीनू सिंगर से एक कॉन्फ्रेंस में मिला था। 2 दिन बाद 29 मई को सिद्धू मूसेवाला का बेरहमी से कत्ल कर दिया गया।

गोइंदवाल साहिब जेल में था दीपक टीनू

दीपक टीनू कपूरथला जेल में नहीं, बल्कि गोइंदवाल साहिब जेल में था। यहीं से मानसा पुलिस उसे रिमांड पर ले गई थी। इस बात की पुष्टि करते हुए कपूरथला जेल सुपरिंटेंडेंट इकबाल सिंह ने बताया कि काफी समय पहले दीपक टीनू कपूरथला जेल में था, लेकिन जब दिल्ली पुलिस उसे रिमांड पर लेकर गई और वापस छोड़कर गई तो उसे गोइंदवाल साहिब जेल में शिफ्ट कर दिया गया था। इसका मुख्य कारण यह था कि उसके एंटी गैंग के कुछ लोग कपूरथला जेल में थे। वह आपस में न भिड़ें, इसलिए उसे गोइंदवाल साहिब जेल में शिफ्ट किया गया था।

Related Tags


gangster lawrence bishnoi lawrence bishnoi sidhu moosewala sidhu moosewala murder case

Related Links


webkhabristan