पंजाब में 18 साल से अधिक उम्र वालों को फ्री वैक्सीन के लिए करना होगा इंतजार



सरकार को सीरम की ओर से जल्द मिलेंगी वैक्सीन की 3.30 लाख डोज, 70 फीसदी डोज सह बीमारियों वाले लोगों के लिए आरक्षित

वेब खबरिस्तान। पंजाब में 18 से 45 साल आयु वर्ग के लोगों को फ्री वैक्सीनेशन के लिए थोड़ा इंतजार करना होगा। मगर ये इसी महीने शुरू हो जाएगा। सीरम इंस्टीट्यूट आफ इंडिया  पंजाब को वैक्सीन की 3.30 लाख डोज देगा। 70 फीसदी डोज सह बीमारियों से पीडि़त लोगों के लिए आरक्षित की गई हैं। जबकि 30 फीसद डेज उच्च जोखिम में आने वाले कर्मचारियों के लिए इस्तेमाल की जाएंगी। ये फैसला मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कोरोना की समीक्षा बैठक के दौरान दी। पंजाब सरकार ने 30 लाख डोज का आर्डर दिया था।   


सरकार ने सरकारी कर्मचारी, निर्माण कामगार और सरकारी व प्राइवेट शिक्षण संस्थानों में काम करते अध्यापकों व अन्य कर्मचारियों को प्राथमिकता में रखा है। क्योंकि यह लोग अधिक संख्या में लोगों के संपर्क में आते हैं और इससे रोग फैलने का खतरा ज्यादा हो सकता है। यह फैसला राज्य की वैक्सीन माहिर समिति की ओर से मई महीने में दिए गए सुझावों के अनुसार लिया गया है। वैक्सीन की और अधिक डोज मिलने पर या महामारी की स्थिति में बदलाव को देखते हुए प्राथमिकता मापदंडों में बदलाव किया जा सकता है। 

सह बीमारियों की कैटेगरी जुड़ेंगी

समिति की ओर से सह-बीमारियों की सूची का दायरा बढ़ाने की सिफारिश भी सरकार ने स्वीकार कर ली है।  इसमें मोटापा, विकलांगता (रीढ़ की हड्डी में चोट) सहित कई अन्य सह-बीमारियों को शामिल करनेने को मंजूरी दी गई है। 45 पार वालों वालों के लिए दो लाख डोज मिलने की संभावना  बैठक में फैसला हुआ कि 18 से 45 साल आयु वर्ग के लोगों का वैक्सीनेशन बड़े शहरी केंद्रों तक ही सीमित रखा जाए। इसमें से सबसे अधिक 50 फीसदी डोज सबसे ज्यादा प्रभावित जिलों एसएएस नगर (मोहाली), जालंधर, लुधियाना, अमृतसर, बठिंडा और पटियाला के लिए पहल के आधार पर दी जाएगी।

शेष में से 30 फीसद जिला होशियारपुर, पठानकोट, एसबीएस नगर (नवांशहर), फरीदकोट, कपूरथला व गुरदासपुर को और बाकी 20 फीसद डोज उन जिलों में इस्तेमाल की जाएगी जहां कोरोना के केस कम हैं।  45 साल से अधिक आयु वर्ग के लोगों के लिए राज्य के पास अभी केवल 55,050 डोज का स्टाक बचा है। मंगलवार को दो लाख और डोज की सप्लाई मिलने की संभावना है। राज्य में अभी तक हासिल हुई कोवीशील्ड की 33 लाख 46 हजार 500 डोज में से 32 लाख 91 हजार 450 डोज का इस्तेमाल किया जा चुका है।   

Related Links