कांग्रेस प्रधान नवजोत सिद्धू और मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह की पहली मीटिंग चली डेढ़ घंटे, सिद्धू ने सौंपी 5 मांगों की चिट्ठी



कांग्रेस के पंजाब प्रधान नवजोत सिद्धू मंगलवार दोपहर चंडीगढ़ स्थित सचिवालय पहुंचे।

जालंधर। कांग्रेस के पंजाब प्रधान नवजोत सिद्धू मंगलवार दोपहर चंडीगढ़ स्थित सचिवालय पहुंचे। उन्होंने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के साथ बैठक की। ये बैठक करीब डेढ़ घंटे चली। सिद्धू ने कैप्टन अमरिंदर सिंह को 5 मांगों वाली चिट्ठी भी सौंपी। उन्होंने गुरु ग्रंथ साहिब से बेअदबी के दोषियों पर कार्रवाई की मांग की। प्राइवेट थर्मल प्लांट्स के साथ सरकार के पावर-परचेज एग्रीमेंट को रद्द या रिव्यू करने की मांग भी की। इस दौरान सिद्धू और कैप्टन के बीच किसानों के मुद्दे पर भी चर्चा हुई। उन्होंने विधानसभा सेशन बुलाकर केंद्र के कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग की है। ताकि इसे राष्ट्रपति को भेजा जा सके।

अध्यापकों, डाक्टरों, सफाई कर्मियों का मसला हल करने की मांग


सिद्धू ने पंजाब में प्रदर्शन कर रहे अध्यापकों, डाक्टरों, सफाई कर्मियों, लाइनमैनों का मसला हल करने की भी मांग की। उन्होंने कहा कि पंजाब में नशा खत्म करने के साथ उससे जुड़े बड़े नेताओं और रसूखदारों के खिलाफ कार्रवाई की जाए। ये सभी मुद्दे कांग्रेस हाईकमान की तरफ से दिए गए 18 सूत्रीय फॉर्मूले में शामिल हैं।

ट्विटर और फेसबुक पर शेयर किया मांगपत्र

कैप्टन अमरिंदर सिंह के साथ हुई बैठक का एजेंडा नवजोत सिद्धू ने सोशल मीडिया पर शेयर किया। उन्होंने ट्विटर और फेसबुक पेज पर कैप्टन अमरिंदर सिंह को सौंपा 5 मांगों वाला पत्र शेयर करते लिखा - निर्णायक फैसले लिए बिना कभी भी कोई महान प्राप्ति हासिल नहीं होती। पंजाब को फैसले लेने में दिलेर, दृढ़ और सबको साथ लेकर चलने वाली लीडरशिप की जरूरत है। जो हर पंजाबी की जायज मांगों को पूरा करने के लिए वचनबद्ध हो।

कैप्टन ने कहा - इन मुद्दों पर पहले ही काम हो रहा

मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि जो मुद्दे पार्टी नेताओं ने उन्हें बताए हैं, सरकार पहले ही उन पर काम कर रही है। यह मुद्दे सरकार के रेजोलूशन के एडवांस स्टेज में हैं। कैप्टन ने कहा कि 2017 में किए ज्यादातर वादे उनकी सरकार ने पूरे कर दिए हैं। उन्होंने पंजाब कांग्रेस लीडरशिप को कहा कि बाकी लंबित मुद्दे भी जल्दी हल कर लिए जाएंगे। कैप्टन ने प्रदेश कांग्रेस के नेताओं को कहा कि सरकार व संगठन में बेहतर तालमेल के लिए वो नियमित तौर पर उनसे मिलते रहें।

Related Links