पंजाब भवन में मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने कई बार बुलाया तो उनके बगल में जाकर बैठे नवजोत सिद्धू



मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और कांग्रेस के नये प्रधान नवजोत सिद्धू मिल ही गये।

वेब खबरिस्तान, चंडीगढ़। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और कांग्रेस के नये प्रधान नवजोत सिद्धू मिल ही गये। पंजाब भवन में सिद्धू ने कैप्टन को देखकर पहले तो नजरें फेर ली और आगे बढ़ गए। लेकिन पंजाब प्रभारी हरीश रावत ने उन्हें आवाज देकर वापस बुलाया। उन्होंने ही अमरिंदर सिंह से मुलाकात कराई। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सिद्धू को पास आकर बैठने को कहा तो वह कांग्रेस भवन के कार्यक्रम में लेट होने की बात कहने लगे। कई बार कहने पर सिद्धू उनके पास आकर बैठे।

कैप्टन ने कहा था – सिद्धू माफ़ी मांगेगे, तभी मुलाकात होगी


दरअसल नवजोत सिंह सिद्धू लगातार ट्वीट करके पंजाब सरकार का विरोध कर रहे थे, जिस कारण कैप्टन अमरिंदर सिंह उनसे नाराज थे। जब सिद्धू को पार्टी का पंजाब प्रधान बनाया गया तो कैप्टन ने साफ कर दिया था कि जब तक सिद्धू उनसे माफी नहीं मांगते, वह उनसे मुलाकात नहीं करेंगे। लेकिन, पंजाब भवन में दोनों की मुलाकात भी हुई। कार्यक्रम में सभी ने अमरिंदर के पैर छुए, लेकिन सिद्धू ने उनके पैर नहीं छुए। यहां मंच पर पूर्व प्रदेश प्रधान सुनील जाखड़, पंजाब कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत, पूर्व मुख्यमंत्री राजिंदर कौर भट्‌ठल, कैप्टन की पत्नी परनीत कौर भी थीं। नवजोत सिंह सिद्धू की ताजपोशी कार्यक्रम के बाद कैप्टन फिरोजपुर जिले के कस्बा जीरा जाएंगे। वह मोगा में हुए हादसे में मारे गए लोगों के परिवारवालों से मिलेंगे।

कड़े सुरक्षा इंतजाम

पंजाब प्रदेश कांग्रेस प्रधान के पद पर नवजोत सिद्धू की ताजपोशी कार्यक्रम में शामिल होने के लिए कांग्रेस के मंत्री, सांसद, विधायक, नेता और कार्यकर्ता चंडीगढ़ पहुंच रहे हैं। ऐसे में मेहमानों को कोई परेशानी न हो, इसके लिए चंडीगढ़ पुलिस द्वारा सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। कांग्रेस भवन के आसपास चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल तैनात किया गया है। खुद एसएसपी कुलदीप सिंह चहल मौके पर मौजूद रहेंगे। माहौल को देखते हुए चंडीगढ़ में धारा 144 लगा दी गई है।

देखें वीडियो :- 

Related Links