मुख्यमंत्री चरणजीत चन्नी ने प्रधानमंत्री को लिखी चिट्ठी , पढ़िए क्या है मुद्दा

हाल ही में मुख्यमंत्री चन्नी ने पीएम मोदी से मुलाकात की थी

हाल ही में मुख्यमंत्री चन्नी ने पीएम मोदी से मुलाकात की थी



मुख्यमंत्री चरणजीत चन्नी ने प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी को चिट्‌ठी लिखकर बीएसएफ की स्थिति को पहले जैसा ही रखने के लिए कहा।

वेब ख़बरिस्तान,जालंधर। पंजाब में बीएसएफ का अधिकार क्षेत्र बॉर्डर से 25 किमी भीतर तक बढ़ाने का बवाल थमने का नाम नहीं ले रहा। मुख्यमंत्री चरणजीत चन्नी ने प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी को चिट्‌ठी लिखकर बीएसएफ की स्थिति को पहले जैसा ही रखने के लिए कहा। उन्होंने इस मुद्दे पर प्रधानमन्त्री मोदी से मिलने का समय भी मांगा है। मुख्य्म्नात्री चरणजीत चन्नी ने सर्वदलीय मीटिंग भी बुलाई है जोकि 25 अक्टूबर को होगी।

सभी सियासी दल विरोध में


पंजाब में भाजपा को छोड़कर सभी सियासी दल बीएसएफ के अधिकार क्षेत्र को बढ़ाने के विरोध में हैं। प्रधानमंत्री मोदी को लिखी चिट्‌ठी में मुख्यमंत्री चन्नी ने कहा कि बीएसएफ को इंटरनेशनल बॉर्डर पर सिक्योरिटी की ट्रेनिंग मिलती है। देश के अंदर अमन-कानून की जिम्मेदारी राज्य पुलिस की होती है। पंजाब पुलिस ऐसे हालात से निपटने में पूरी तरह सक्षम है। पंजाब पुलिस ने आतंकवाद को खत्म किया, जिसमें केंद्रीय सुरक्षा एजेंसियों के साथ उनका बढ़िया तालमेल रहा। हाल ही में पंजाब में पुलिस ने BSF के साथ मिलकर नशा तस्करों और आतंकियों के खिलाफ सफल ऑपरेशन किए। मौजूदा व्यवस्था को बदलने का कोई न्यायिक आधार नहीं बनता।

हाल ही में बढाया बीएसएफ का अधिकार क्षेत्र

केंद्र की ओर से हाल ही में पंजाब में पाकिस्तान से लगते इंटरनेशनल बॉर्डर के 600 किमी एरिया से 50 किमी भीतर तक बीएसएफ का अधिकार क्षेत्र बढ़ा दिया गया है। इसमें बीएसएफ को सर्च, बरामदगी और गिरफ्तारी का अधिकार मिल गया। पंजाब के लिहाज से इसमें पठानकोट, गुरदासपुर, अमृतसर, तरनतारन, फिरोजपुर और फाजिल्का समेत कई इलाके बीएसएफ के दायरे में आ गए।

Related Links