मुख्यमंत्री चरणजीत चन्नी ने पंजाब में शुरू की 'मेरा घर-मेरे नाम' स्कीम

सीएम चरणजीत चन्नी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इस फैसले की जानकारी दी।

सीएम चरणजीत चन्नी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इस फैसले की जानकारी दी।



पंजाब में लाल लकीर वाली जमीन पर रहने वाले लोग अब उस घर के मालिक बनेंगे।

वेब ख़बरिस्तान,जालंधर। पंजाब में लाल लकीर वाली जमीन पर रहने वाले लोग अब उस घर के मालिक बनेंगे। पंजाब सरकार की ओर से इसके लिए 'मेरा घर-मेरे नाम' स्कीम शुरू की गई है। कैबिनेट बैठक में इस स्कीम पर मुहर लगा दी गई। सीएम चरणजीत चन्नी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इस फैसले की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि पहले यह स्कीम सिर्फ गांवों तक सीमित थी, लेकिन अब इसे शहरों में भी लागू किया जाएगा। उन्होंने अपने पैतृक घर की बात भी बताई। उन्होंने कहा कि उनका घर भी लाल लकीर में है, इसलिए आज भी वह घर उनके पिताजी के नाम पर नहीं है।

ड्रोन के जरिए पंजाब सरकार नक्शा तैयार करेगी


मुख्यमंत्री चन्नी ने कहा कि ड्रोन के जरिए पंजाब सरकार नक्शा तैयार करेगी। इसे उस गांव या शहर के हिस्से के बाहर लगा दिया जाएगा। अगर किसी को ऐतराज हो तो वह 15 दिन के भीतर बता सकता है। इसके बाद लोगों को उस जमीन का मालिक बना दिया जाएगा। इसके बाद वो उस पर लोन लेने के अलावा उसे बेच भी सकेंगे। पंचायती जमीनों को भी चिन्हित कर दिया जाएगा।

सभी कैटेगरी को 2 किलोवाट तक बिजली फ्री

सीएम चन्नी ने कहा कि पंजाब में जहां भी NRIs की जमीन या मकान हैं उन्हें भी चिन्हित कर जमीन के रिकॉर्ड में दर्ज कर दिया जाएगा। इसके बाद कोई भी उसके मालिकाना हक में हेर-फेर नहीं कर सकेगा। सीएम चन्नी ने स्पष्ट किया कि पंजाब सरकार के 2 किलोवॉट तक बिजली के पुराना बकाया बिल सभी के लिए माफ किए गए हैं। उन्होंने कहा कि सभी कैटेगरी के परिवारों को इसका लाभ मिलेगा।

Related Links