पंजाब, हरियाणा समेत उत्तर भारत में बूंदाबांदी की संभावना, पहाड़ों में गिरेगी बर्फ उत्तर भारत में बढ़ेगी सर्दी



5 और 6 दिसंबर को पहाड़ों में बर्फबारी की भविष्यवाणी, चार शाम को कोहरा पड़ने की भी आशंका

वेब ख़बरिस्तान। 4 दिसंबर की शाम से ताज़ा वेस्टर्न डिस्टर्बेंस का असर पहाड़ी राज्यों पर शुरू हो जाएगा। 5 और 6 दिसंबर को यहां अच्छी बर्फबारी होगी। कई राज्यों में 5 दिसंबर की शाम से लेकर 6 दिसंबर की दोपहर के बीच बादलों की गरज चमक के साथ हलकी से मध्यम बारिश की संभावना बन रही है।

दिन के तापमान में गिरावट के साथ उत्तर भारत के मैदानी राज्यों में ठंड का आगाज होने लगा है। पिछले दो-तीन दिनों से हो रही बादलवाही के साथ कल और आज हरियाणा, दिल्ली-एनसीआर, राजस्थान और पश्चिमी उत्तरप्रदेश के विभिन्न हिस्सों में हलकी बूंदाबांदी हुई, ज्यादातर इलाकों में दिन का तापमान 20°c से कम दर्ज किया गया और आने वाले दिनों में और तेजी से तापमान में गिरावट जारी रहेगी।


शु्क्रवार को सुबह से ही पश्चिमी राजस्थान और पश्चिमी पंजाब से बादल अब पूर्व में आगे निकलने लगे हैं, जिससे दोपहर तक हरियाणा, दिल्ली और उत्तरप्रदेश से भी आगे निकलने लगेंगे और जिससे शुक्रवार दोपहर से मौसम साफ होने की संभावना है। 

चार को कोहरे की संभावना

4 दिसंबर को रात के तापमान में 3 से 4°c की गिरावट के साथ कई स्थानों पर घने कोहरे की संभावना है बन रही है। खासकर सुबह के घंटो में कोहरे की मात्रा अधिक होगी। 4 दिसंबर की शाम से ताज़ा पश्चिमी विक्षोभ का असर पहाड़ी राज्यों पर शुरू होना शुरू हो जाएगा, 5 और 6 दिसंबर को पहाड़ी राज्यों पर अच्छी बर्फबारी होगी। 

बारिश के फैलाव सीमित इलाकों में होने की संभावनाएं बन रही हैं। उत्तर और पूर्वी पंजाब, चंडीगढ़, उत्तर और पूर्वी हरियाणा के जिलों, उत्तरी दिल्ली और साथ लगते पश्चिमी उत्तरप्रदेश के हिस्सों में ही 5 दिसंबर की शाम से लेकर 6 दिसंबर की दोपहर के बीच बादलों की गरज चमक के साथ ह ल्की से मध्यम बारिश की संभावना बन रही है और कुछ स्थानों पर ओलावृष्टि भी हो सकती है। 

जवाद चक्रवातीय तूफान से आने वाली नमी वाली हवाओं और और प्रभाव का मिलन वैस्टर्न डिस्टरबेंस से ये गति विधियां होने की संभावनाएं बन रही है। जबकि जवाद चक्रवातीय तूफान का अधिक प्रभाव पूर्वोत्तर राज्यों पर अधिक पड़ेगा उड़ीसा, पश्चिमी बंगाल जहां भारी से अति बारिश होने की संभावनाएं हैं। वहीं वैस्टर्न डिस्टरबेंस से उत्तरी पर्वतीय क्षेत्रों में भारी मात्रा में हिमपात और सिमित मैदानी इलाकों में बारिश और ओलावृष्टि होने संभावनाएं बन रही है। 

Related Links