बिक्रम मजीठिया पहुंचे खटकड़कलां:कहा - झूठा केस कराने को 2 DGP 4 ADGP बदले, मगर मिला क्या

 जालंधर में भी मजीठिया का दो जगह स्वागत प्रोग्राम रखा गया है

जालंधर में भी मजीठिया का दो जगह स्वागत प्रोग्राम रखा गया है



2 DGP, 4 ADGP बदले झूठा पर्चा दाखिल कराने के लिए, लेकिन मिला क्या।

वेब खबरिस्तान। कांग्रेस की पिछली सरकार में दर्ज ड्रग केस में जमानत मिलने के बाद अकाली दल के वरिष्ठ नेता बिक्रम सिंह मजीठिया ने आज शक्ति प्रदर्शन किया। वह अपने समर्थकों के साथ शहीद-ए-आजम भगत सिंह के गांव खटकड़ कलां पहुंचे और शहीदी स्मारक पर माथा टेका।

बिक्रम मजीठिया ने कहा कि लोकतंत्र में सभी को बोलने का अधिकार है और किसी को भी ऐसी बात नहीं कहनी चाहिए, जिससे किसी का दिल दुखे। चरणजीत सिंह पहले मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री होंगे, जो अपनी दोनों सीटों पर चुनाव हार गए। यह लोगों का फतवा है, जो उनके खिलाफ जारी हुआ। 2 DGP, 4 ADGP बदले झूठा पर्चा दाखिल कराने के लिए, लेकिन मिला क्या। इस तरह की राजनीति से पंजाब को क्या मिला।


मजीठिया ने कहा कि बदले की, नफरत की राजनीति से किसी का फायदा नहीं होगा। जिन्होंने बदलाखोरी की राजनीति की, उनका भी अता पता नहीं है। पी चिदंबरम पर करोड़ों रुपए खर्च किए। चिंदबरम को लाने ले जाने के लिए हेलिकॉप्टर भेजा जाता था। एक तरफ सरकार कहती थी कि खजाना खाली है, लेकिन मेरे साथ राजनीतिक रंजिश निकालने के लिए सरकारी खजाने से 5-6 करोड़ रुपया खर्च कर डाला। यही पैसा विकास पर लगना चाहिए था।

बता दें कि ड्रग केस में आरोपी बनाए गए मजीठिया लगभग 5 महीने से पटियाला जेल में बंद थे और हाईकोर्ट से हाल ही में उन्हें जमानत मिली है। वहीं पंजाब में आम आदमी पार्टी की सरकार बनने के बाद अकाली दल के सीनियर नेता मजीठिया का यह पहला सार्वजनिक प्रोग्राम था, इसलिए अकाली दल के साथ-साथ मजीठिया के करीबी नेताओं ने इसे सफल बनाने में अपनी पूरी ताकत झोंक दी। मजीठिया शक्ति प्रदर्शन करके विराेधियों को ताकत दिखा रहे हैं।

पहले नवांशहर में मजीठिया का स्वागत हुआ और इसके बाद वह काफिले की शक्ल में शहीद-ए-आजम के स्मारक पर पहुंचे। जालंधर में भी मजीठिया का दो जगह स्वागत प्रोग्राम रखा गया है। अकाली नेता जालंधर के रामामंडी चौक और पठानकोट बाइपास पर उनका स्वागत करेंगे। पठानकोट बाइपास पर मजीठिया रणवीर क्लासिक होटल में अकाली दल और यूथ विंग के कार्यकर्ताओं से भी मिलेंगे। जालंधर से मजीठिया अमृतसर पहुंचेंगे और सीधे गोल्डन टेंपल जाएंगे।

21 दिसंबर 2021 को पंजाब की तत्कालीन चन्नी सरकार ने मजीठिया के खिलाफ NDPS एक्ट और अन्य धाराओं में केस दर्ज किया था। इसके बाद 24 फरवरी 2022 को उन्हें गिरफ्तार कर पटियाला जेल में बंद कर दिया गया। 

Related Tags


bikram majithia shiromani akali dal khatkar kalan nawanshehar punjab shaheed bhagat singh sukhbir badal harsimrat kaur badal ndps act

Related Links


webkhabristan