अरविन्द केजरीवाल ने कहा – सिद्धू की हिम्मत की दाद देता हूँ, चन्नी को गलत बयान देने पर टोका

केजरीवाल से जब सीएम चेहरे के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि वह कभी पंजाब के सीएम का चेहरा नहीं हैं।

केजरीवाल से जब सीएम चेहरे के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि वह कभी पंजाब के सीएम का चेहरा नहीं हैं।



आम आदमी पार्टी कन्वीनर और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने मीडिया से बात करते हुए रेत माफिया के बहाने नवजोत सिंह सिद्धू की तारीफ की है।

वेब ख़बरिस्तान,अमृतसर। आम आदमी पार्टी कन्वीनर और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने मीडिया से बात करते हुए रेत माफिया के बहाने नवजोत सिंह सिद्धू की तारीफ की है। उन्होंने कहा कि नवजोत सिद्धू की हिम्मत की दाद देनी होगी कि उन्होंने मुख्यमंत्री चन्नी के सामने ही टोक दिया कि वह रेत 5 रुपए फुट करने पर गलत बयान दे रहे हैं। चूंकि अभी भी पंजाब में 20 रुपए प्रति फुट बिक रहा है।

मैं चन्नी की तरह आम आदमी नहीं

सीएम अरविन्द केजरीवाल ने चन्नी के आम आदमी होने के बयान पर निशाना साधते हुए कहा कि वह चन्नी की तरह के आम आदमी नहीं हैं। वह सीएम चन्नी की तरह गुल्ली डंडा खेलना नहीं जानते। वह स्कूल खोलने वाले, अस्पताल बनवाने वाले और नागरिकों की मुश्किलों का हल निकालने वाले आम आदमी हैं। उन्होंने इस दौरान सिटिंग विधायकों के आप को छोड़े जाने पर कहा कि जिन विधायकों को सीट नहीं मिल रही, वही दूसरी पार्टियों में जा रहे हैं। आज भी कांग्रेस के 25 विधायक उनके संपर्क में हैं। लेकिन वह गंदी राजनीति नहीं खेलना चाहते। मगर जब उनसे सिद्धू के बारे में पूछा तो वह हंस कर चुप हो गए।

जो सरकार नहीं चला सकते हमें दे दें

उन्होंने कहा कि सभी नेता कह रहे हैं कि पंजाब का खजाना खाली हो गया। मैं पूछना चाहता हूं कि खजाना किसने खाली किया। पांच साल से तो कांग्रेस की सरकार थी और उससे पहले अकाली दल की सरकार थी। जो सरकार चला नहीं सकते वह खजाना खाली होने की बात करते हैं। दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार से पहले 15 साल शीला दीक्षित की सरकार थी। उन्होंने भी जाते हुए यही कहा कि दिल्ली का खजाना खाली है। जो सरकार चला नहीं सकते हमें दे दें, हम खजाना भरना जानते हैं।

जल्द बताया जाएगा सीएम चेहरे का नाम

अरविंद केजरीवाल से जब सीएम चेहरे के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि वह कभी पंजाब के सीएम का चेहरा नहीं हैं। तभी समर्थकों ने भगवंत मान के ऊंचे-ऊंचे नारे लगाने शुरु किए तो उन्होंने फिर टोक दिया और कहा कि किसी भी पार्टी ने अभी तक मुख्यमंत्री का चेहरा एनाउंस नहीं किया है। आप भी सीएम का चेहरा देगी और अन्य पार्टियों से पहले उस चेहरे का नाम बता दिया जाएगा।

अध्यापकों के लिए किये वायदे – टीचर्स बनायेंगे एजुकेशन पालिसी


अरविन्द केजरीवाल ने कहा कि बीते दो दिन पंजाब के कई अध्यापक उनसे आकर मिले हैं। जैसे दिल्ली में एजुकेशन का स्तर सुधरा है, पंजाब में भी इन आठ मुद्दों के साथ एजुकेशन के स्तर में सुधार होगा।

दिल्ली में टीचर्स ने सब ठीक किया। पंजाब में भी टीचर्स को साथ लेकर चलूंगा और एजुकेशन पॉलिसी में उन्हीं का हाथ होगा।

पंजाब में 18 साल से कच्चे व कंट्रेक्ट पर अध्यापक काम कर रहे हैं और उनका वेतन 10 हजार रुपए ही है। जबकि दिल्ली में 15 हजार से कम किसी का वेतन नहीं है। पंजाब में वह न्यूनतम वेतन तय करेंगे। सभी कच्चे व कंट्रेक्ट वाले अध्यापक पक्के होंगे।

ट्रांसफर पॉलिसी में सुधार होगा। घरों के पास काम करने का मौका मिलेगा। अध्यापकों से उनके स्कूल पूछे जाएंगे।

टीचर्स से सिर्फ पढ़ाई करवाई जाएगी। क्लर्क, बीएलओ और मतगणना जैसे काम नहीं करवाए जाएंगे।

दिल्ली में टीचर्स ट्रेनिंग के लिए विदेश जाते हैं। पंजाब के टीचर्स को भी आईआईएम लखनऊ, अहमदाबाद के अलावा अमेरिका व फिनलैंड भेजा जाएगा।

अध्यापकों के परिवार वालों की भी कैशलैस हेल्थ पॉलिसी की जाएगी।

पंजाब में खाली पोस्टें भरी जाएँगी।

अध्यापकों की परमोशन टाइम बाउंड की जाएगी। ताकी सब तरक्की कर सकें।

Related Links