एससी कमिशन के राष्ट्रीय चेयरमैन विजय सांपला के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी का आरोप, थाना प्रभारी लाइनहाजिर

थाने के बाहर लोगों ने सड़क पर धरना दे दिया

थाने के बाहर लोगों ने सड़क पर धरना दे दिया



थाना भार्गव कैंप इलाके में सोमवार को देर रात जमकर हंगामा हुआ

वेब ख़बरिस्तान, जालंधर। थाना भार्गव कैंप इलाके में सोमवार को देर रात जमकर हंगामा हुआ। भाजपा नेता और एससी कमिशन के राष्ट्रीय चेयरमैन विजय सांपला पर आपत्तिजनक टिप्पणी का आरोप लगाते हुए थाने के बाहर लोगों ने सड़क पर धरना दे दिया। प्रदर्शनकारियों ने आरोप लगाया कि भार्गव कैंप थाना प्रभारी अजायब सिंह औजला ने भाजपा कार्यकर्ताओं और विजय सांपला को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी की है। उन्होंने थाना प्रभारी को सस्पेंड करने की मांग की। धरने के दौरान भाजपा नेता रोबिन सांपला भी मौके पर पहुंचे। धरने के बाद अधिकारियों ने थाना प्रभारी को लाइन हाजिर कर दिया।

दुकानदार ने विक्की से मारपीट की

रोबिन सांपला का कहना था कि भाजपा कार्यकर्ता बूटा मंडी निवासी विक्की (ग्लोबल अस्पताल) ने भार्गव कैंप के एक शोरूम से बिजली उपकरण फाइनेंस करवाया हुआ है, जिसकी क़िस्त लेट होने के चलते शोरूम मालिक ने उसे अपने पास बुलाया और क़िस्त को लेकर गाली गलौच की। यह भी आरोप है कि शोरूम मालिक ने उसे जाती प्रति अपशब्द कहे। यही नहीं उसने विक्की से मारपीट की और उसका मोबाइल फोन भी छीन लिया। रोबिन सांपला का आरोप था कि जब बीजेपी कार्यकर्ता की पिटाई की सूचना मिलने पर उन्होंने अपने साथी हिमांशु को मौके पर भेजा तो थाना प्रभारी ने उनके साथी के साथ अभद्रता की और विजय सांपला को लेकर भी आपत्तिजनक टिप्पणियां की।

इसका विडियो भी मौजूद


उन्होंने कहा कि इसका वीडियो साक्ष्य के तौर पर उनके पास मौजूद है। रोबिन सांपला का कहना है कि जब वो मौके पर पहुंचे तो थाना प्रभारी ने उनके साथ भी गलत व्यवहार किया। इसके बाद रोबिन अपने कार्यकर्ताओं के साथ थाने के बाहर सड़क पर थाना प्रभारी के खिलाफ धरने पर बैठ गए। इस दौरान कार्यकर्ताओं ने थाना प्रभारी और पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

थाना प्रभारी के खिलाफ विभागीय जांच की जाएगी

हंगामे की सूचना के बाद मौके पर पहुंचे डीसीपी गुरमीत सिंह और डीसीपी नरेश डोगरा ने प्रदर्शनकारियों से बातचीत कर उन्हें समझाने की कोशिश की, मगर प्रदर्शनकारी थाना प्रभारी को ससपेंड करने की मांग पर अड़े रहे। इसके बाद डीसीपी नरेश डोगरा ने तत्काल प्रभाव से थाना प्रभारी अजायब सिंह औजला को लाइन हाजिर कर दिया। उन्होंने कहा कि थाना प्रभारी पर लगे आरोप गंभीर हैं, जिस कारण यह कार्रवाई की गई है। इसके साथ ही उनके खिलाफ विभागीय जांच भी की जाएगी। वीडियो की मंगलवार सुबह जांच की जाएगी। अगर जांच में थाना प्रभारी दोषी पाए जाते हैं तो उन्हें निलंबित किया जाएगा।

थाना प्रभारी औजला ने आरोपों को निराधार बताया

थाना प्रभारी अजायब सिंह औजला ने कहा कि उन पर लगाए गए सभी आरोप निराधार हैं। मामला 15 हजार के लेनदेन को लेकर था, जिसकी जांच के दौरान उन पर दबाव बनाने की कोशिश की जा रही थी। उनके नहीं मानने पर उनपर निराधार आरोप लगा दिए गए। उन्होंने कहा कि विजय सांपला को वह व्यक्तिगत रूप से जानते हैं और एक नेता के रूप में उनका सम्मान करते हैं।

Related Links