पंजाब में सरकार बनाने के बाद पहले ही राजनीतिक टेस्ट में फेल हुई आम आदमी पार्टी, पढ़िए हार के कारण

सरकार के छोटे से कार्यकाल में पंजाब में कानून व्यवस्था पूरी तरह से फेल हुई

सरकार के छोटे से कार्यकाल में पंजाब में कानून व्यवस्था पूरी तरह से फेल हुई



100 दिन पहले आम आदमी पार्टी ने विधानसभा चुनाव में ऐतिहासिक जीत दर्ज की थी

वेब खबरिस्तान। करीब 100 दिन पहले आम आदमी पार्टी ने विधानसभा चुनाव में ऐतिहासिक जीत दर्ज की थी और पंजाब में सरकार बनाई थी। आम आदमी पार्टी बदलाव के नारे के साथ पंजाब की सत्ता पर काबिज हुई थी, मगर संगरूर उपचुनाव के रूप में मिली पहली राजनीतिक चुनौती में ही उनकी हार हुई। 

सिद्धू हत्याकांड से पार्टी की इमेज को लगा धक्का 


आम आदमी पार्टी सरकार के छोटे से कार्यकाल में पंजाब में कानून व्यवस्था पूरी तरह से फेल हुई। पार्टी की इमेज को सबसे बड़ा धक्का गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्या से लगा। मान सरकार ने वीआईपी सुरक्षा में कटौती करने का फैसला करते हुए 28 मई को एक लिस्ट जारी की। इसमें गायक मूसेवाला का भी नाम था। अगले ही दिन 29 मई को ताबड़तोड़ फायरिंग कर मूसेवाला को मौत के घाट उतार दिया गया। देश विदेश में बड़ी फैन फालोइंग रखने वाले मूसेवाला की हत्या के बाद आप सरकार विरोधियों के निशाने पर आ गई। विरोधी पार्टियों ने इस हत्याकांड को मान सरकार की अदूरदर्शिता का नतीजा बताया। 

पंजाब में आम आदमी पार्टी की सरकार के दौरान प्रसिद्ध गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्या, तीन कबड्डी खिलाड़ियों की हत्या, पंजाब पुलिस के इंटेलिजेंस मुख्यालय पर हमले जैसी घटनाओं ने प्रदेश की कानून-व्यवस्था पर सवाल उठाने का विपक्ष को मौका दिया था। इस दौरान गंभीर बिजली संकट भी एक बड़ा मुद्दा बन गया था।  

Related Tags


Sangrur By Election Result sangrur election result simranjit singh mann cm bhagwant mann gurmail singh dalvir goldy amarinder singh raja warring

Related Links