मुख्यमंत्री बनने के बाद चरणजीत सिंह चन्नी ने की पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस, भावुक होकर कही ये बात, पढ़ें पूरी ख़बर

चरणजीत चन्नी की प्रेस कान्फ्रेंस में नवजोत सिद्धू का दबदबा दिखा

चरणजीत चन्नी की प्रेस कान्फ्रेंस में नवजोत सिद्धू का दबदबा दिखा



मुख्यमंत्री बनने के बाद चरणजीत चन्नी ने अपनी पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस कि जिसमें वे भावुक हो गए।

वेब ख़बरिस्तान,जालंधर। मुख्यमंत्री बनने के बाद चरणजीत चन्नी ने अपनी पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस कि जिसमें वे भावुक हो गए। पंजाब भवन में उन्होंने कृषि सुधार कानून का दांव खेला। उन्होंने कहा कि पंजाब कृषि आधारित राज्य है। केंद्र सरकार कानून वापस ले। अगर किसानों पर आंच आई तो मैं गला काटकर दे दूंगा। उन्होंने मुख्यमंत्री बनाने के लिए धन्यवाद करते हुए कहा कि राहुल गांधी क्रांतिकारी नेता हैं। चन्नी ने कैप्टन अमरिंदर सिंह के काम की तारीफ भी की। उन्हें पंजाब के पानी का रखवाला भी कहा।

सिद्धू चन्नी के बगल में बैठे


चरणजीत चन्नी की प्रेस कान्फ्रेंस में नवजोत सिद्धू का दबदबा दिखा। वे चन्नी के बगल में बैठे थे। चन्नी जब-जब भावुक हुए तो सिद्धू कभी उनकी पीठ थपथपाते रहे तो कभी हाथ पकड़ते रहे। चरणजीत चन्नी ने कान्फ्रेंस सिद्धू स्टाइल में ही खत्म की। उन्होंने अपनी बात तो कह दी लेकिन किसी सवाल का जवाब नहीं दिया।

कहा – किसानों को बिजली माफ़ रहेगी

चन्नी ने कहा कि रेत का बिजनेस करने वाले और माफिया मुझसे न मिले। मैं उनका प्रतिनिधि नहीं हूं। किसानों को बिजली माफ रहेगी। इसके साथ गांवों में पानी सप्लाई वाली मोटरों का बिल नहीं लेंगे। बिल न देने पर किसी का कनेक्शन नहीं कटेगा। बरगाड़ी बेअदबी और दूसरे मुद्दों के साथ कांग्रेस हाई कमान का 18 सूत्रीय फॉर्मूला लागू करेंगे।

चन्नी ने कांग्रेस भवन को बताया मंदिर

मुख्यमंत्री चरनजीत चन्नी ने कहा कि मैं एक साधारण वर्कर हूं। जिसे मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बिठाया गया। मेरे लिए कांग्रेस भवन मंदिर है। मेरा बिस्तरा कार में लगा है। सुबह 4 बजे निकल जाता हूं। उन्होंने कहा कि मैं आफिस में रहूंगा। वहां मुझे कोई भी मिल सकता है।

Related Links