जालंधर सेंट्रल से आप पार्टी के रमन अरोड़ा की बड़ी मुश्किलें, महिलाओं पर की गई टिप्पणी से वर्करों में भारी रोष

रमन अरोड़ा

रमन अरोड़ा



वेब ख़बरिस्तान। जालंधर सेंट्रल हलके में कुछ समय पहले ही आम आदमी पार्टी ज्वाइन करने वाले कपड़ा व्यापारी रमन अरोड़ा को मैदान में उतारा है। अरोड़ा के नाम की घोषणा से साफ हो गया है कि पार्टी हाईकमान ने वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में चुनाव लड़ने वाले आप पंजाब के डॉक्टर्स विंग के सह अध्यक्ष डा. संजीव शर्मा को नजरअंदाज कर दिया है। लेकिन आप पार्टी से उम्मीदवार रमन अरोड़ा की मुश्किलें थमने का नाम नहीं ले रही। हाल ही में महिला पर की गई आपत्तिजनक टिप्पणी पर हलके के लोगों में काफी रोष पाया जा रहा है। गौरतलब है कि विधानसभा चुनाव के पहले दौर के दौरान ही अपने बयान में आप कैंडीडेट रमन अरोड़ा ने पिछली सरकारों के वायदों की महिला अंगों के साथ समानता करते हुए व्यापारियों की ओर से उसको दबाते चले आने की बेहद आपत्तिजनक टिप्पणी कर दी थी जिसको लेकर खासा बवाल मचा हुआ है। इसको लेकर कुछ शिकायतें भी दायर हो चुकी है और मामला महिला आयोग के समक्ष भी उठाया जा चुका है।


वहीं रमन अरोड़ा की उनके वकील के माध्यम से लगाई गई ब्लैंकेट बेल भी अदालत ने रद्द कर दी है। ऐसे में अब रमन अरोड़ा को पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट का रुख अपनाना पड़ेगा। ऐसे में रमन अरोड़ा के समक्ष सबसे बड़ी चुनौती पार्टी के कैडर वोट को लेकर है। दरअसल, सेंट्रल हलके में पार्टी का कैडर वोट बहुत बड़ा नहीं है। दूसरा सेंट्रल हलके में टिकटों के वितरण के बाद पार्टी में हो रही बगावत अपने पूरे चरम पर है। वहीं रमन अरोड़ा के खिलाफ महिलाओं को लेकर दिए बयान को लेकर पिछले दिनों ही जीएसटी भवन में व्यापारियों ने धरना भी लगाया था। ऐसे में रमन अरोड़ा के लिए हलके में हो रहे विरोध सामना करना एक बड़ी चुनौती होगी। क्योंकि एक बार फिर से हलके में रमन अरोड़ा के द्वारा महिलाओं के खिलाफ दिए गए बयान ने तूल पकड़ लिया है और लोगों ने उनके खिलाफ फिर से विरोध करना शुरू कर दिया है।

Related Links