शिअद महिला विंग की जिला महासचिव की बेटी गोपी को किया नौकरी से बर्खास्त



वर्दी में हेरोइन की डील करती थी, एसएसपी ने गुरजिंदर कौर गोपी को नौकरी से बर्खास्त किया है

वेब खबरिस्तान, तरनतारन।  तस्करी के मामले में  शिरोमणि अकाली दल (शिअद) महिला विंग की जिला महासचिव जसविंदर कौर जस्सी की पुलिस कांस्टेबल बेटी गुरजिंदर कौर गोपी को नौकरी से बर्खास्त कर दिया गया है। उस पर मां के साथ तस्करी करने का आरोप है। वह वर्दी में हेरोइन की डील करती थी। एसएसपी ध्रुमन एच निंबाले ने गुरजिंदर कौर गोपी को नौकरी से बर्खास्त किया है। नारकोटिक्स सैल में तैनात एएसआइ चानण सिंह भी राडार पर है।

यह है मामला


20 अप्रैल को शिअद नेत्री और उसके तीन साथियों को एक किलो दस ग्राम हेरोइन, 70 हजार की ड्रग मनी के साथ एसटीएफ की टीम ने गिरफ्तार किया था। मोहाली में केस दर्ज है। स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (एसआइटी) केस की जांच कर रही है। 22 अप्रैल को महिला कांस्टेबल गुरजिंदर कौर गोपी को लाइन हाजिर कर दिया गया। विदेश जाने से पहले जसविंदर कौर जस्सी को उसकी रिश्तेदार ने फार्चयूनर गिफ्ट दी थी। जांच के मुताबिक इसी गाड़ी को चानण ने तस्करी के लिए इस्तेमाल किया। तस्करी में मदद करने पर ये काड़ी चानण को जस्सी ने गिफ्ट दी थी।

पिता की जगह मिली थी गोपी को पुलिस में नौकरी

जस्सी की शादी गांव पिद्दी में पुलिस कांस्टेबल के साथ हुई थी। पति की कुछ साल पहले ड्यूटी के दौरान मौत हो गई थी। जिसके बाद जस्सी ने दूसरी शादी कर ली थी। बेटी गोपी को अनुकंपा के आधार पर पंजाब पुलिस में नौकरी मिली थी। एसएसपी के मुताबिक गुरजिंदर कौर ने पुलिस विभाग की छवि को नुकसान पहुंचाया है। जांच पूरी होने के बाद उसके खिलाफ मुकदमा भी दर्ज किया जा सकता है। एएसआइ चानण के खिलाफ जांच पूरी नहीं हुई । आरोपियों की जायदाद को अटैच की जाएगी।

Related Links