पहली पत्नी ने रिश्तेदारों संग मिलकर किया पति का मर्डर

murder

murder



22 महीने बाद पुलिस केस दर्ज, गोद लिए बेटे ने पुलिस को शिकायत दी थी

बठिंडा जमीन के बंटवारे को लेकर जनवरी 2019 में मोगा जिले के गांव नथुवाला गरबी में 55 साल के एक व्यक्ति का शव खेतों से बरामद हुआ था। तब पुलिस ने उसके गोद लिए बेटे के बयान पर अज्ञात लोगों पर हत्या का केस दर्ज किया था। करीब डेढ़ साल की जांच के बाद बठिंडा के थाना दयालपुरा पुलिस ने गांव दयालपुरा मिर्जा के पूर्ण सिंह की पत्नी प्रतीम कौर, रिश्तेदार जगतार सिंह, बेटे मनमीत सिंह, बहू कुलवंत कौर, मोगा जिले के गांव दोसांझ निवासी जगजीत सिंह व मोगा के गांव गुंजी गुलाब सिंह निवासी गुरविंदर सिंह के खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया है। पुलिस ने अभी किसी को गिरफ्तार नहीं किया है।

पूर्ण की थी तीन पत्नियां

पुलिस को शिकायत देकर मोगा निवासी और मृतक पूर्ण सिंह के गोद लिए बेटे गुरलवदीप सिंह ने बताया था कि वह पूर्ण सिंह के पास वैद का काम सीखता था। वैद की तीन पत्नियां थी, जबकि उसकी अपनी कोई औलद नहीं थी। दो पत्नियों के साथ तलाक होने के कारण पूर्ण सिंह अपनी पहली पत्नी प्रीतम कौर के साथ रहता था। जिसके चलते वह उन दोनों की सेवा संभाल करने लगा। उसकी सेवा से खुश होकर पूर्ण सिंह ने उसे गोद ले लिया और उसके नाम पर दो किल्ले जमीन कर दी।

बेटे के नाम वसीयत की थी


इतना ही नहीं पूर्ण सिंह ने पत्नी प्रीतम कौर के हिस्से की दो किल्ले जमीन छोड़कर बाकी जमीन भी वसीयत के जरिए साल 2018 में उसके नाम पर करवा दी। शिकायतकर्ता के मुताबिक पूर्ण सिंह के मामे की पोती कुलवंत कौर जोकि दयालपुरा मिर्जा निवासी आरोपी जगतार सिंह की पत्नी है। उसे इस बात का एतराज था कि पूर्ण सिंह ने पत्नी प्रीतम कौर को कम जगह दी। उसने पंचायत बुलाकर प्रीतम कौर के हिस्से पांच किल्ले जमीन करवाने की मांग की। जिस पर पूर्ण सिंह सहमत भी हो गया।

धोखे से जमीन अपने नाम लिखवाई

आठ अगस्त 2018 को आरोपी कुलवंत कौर, प्रीतम कौर, जगतार सिंह, मनमीत सिंह, जगजीत सिंह व गुरविंदर सिंह सब तहसील बाघापुराना आ गए। इस दौरान उक्त आरोपियों ने उसे व उसके पिता पूर्ण सिंह को धोखे में रखकर 5 किल्ले के बजाए 15 किल्ले जमीन प्रीतम कौर के नाम कर दी। वहीं प्रीतम कौर के हिस्से की 18 किल्ले जमीन की रजिस्ट्री का बयाना छह सितंबर 18 को अपने नाम पर करवा लिया, जिसकी शिकायत एसएसपी मोगा को दी गई। पुलिस ने जगतार सिंह व जगदीप सिंह पर थाना बाघापुराना में धोखाधड़ी का केस दर्ज किया था।

कोर्ट में चल रहा था केस

पिता पूर्ण सिंह ने रजिस्ट्री तुड़वाने के लिए बाघापुराना की कोर्ट में केस फाइल किया। इस बीच पिता पूर्ण सिंह को अधरंग का अटैक आ गया और उन्हें मोगा के एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती करवाया गया। जहां जगतार सिंह आदि पहुंच गए और उसे घर से पैसे लाने भेज दिया और उसके पिता पूर्ण सिंह को साथ ले गए। 18 जनवरी 2019 को गुरविंदर सिंह निवासी दयालपुरा मिर्जा का फोन आया कि उसके पिता पूर्ण सिंह की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई है। शिकायतकर्ता ने बताया कि उसके पिता की हत्या उक्त लोगों ने की , चूंकि उसके पिता पूर्ण सिंह ने जमीन को लेकर उनके खिलाफ कोर्ट में केस किया था। जिसकी रंजिश में ये हत्या की गई है।

Related Links