झपकी लगते ही हाईवे पर बीच खड़ी मिली मौत

accident

accident



पंजाब में कहां खड़े ट्रक से टकरा गई मर्सिडीज कार बच्चे समेत तीन की जान गई

रामपुरा फूल (बठिंडा) बठिंडा-बरनाला नेशनल हाईवे पर शुक्रवार सुबह खड़े ट्रक में मर्सिडीज कार के टकराने से तीन लोगों की मौत हो गई। मानसा के गांव जोगा के 30 साल के गुरइकबाल सिंह, उसके नौ माह के भतीजे जगसेर सिंह और बरनाला के गांव ढिलवां के 20 वर्षीय सुबेग सिंह कार में सवार थे. गुरइकबाल की पांच दिन पहले ही शादी हुई थी। गुरइकबाल की पत्नी व दो भाभियां घायल हो गईं। हादसे का कारण गुरइकबाल को झपकी लगना बताया जा रहा है।


शुक्रवार सुबह करीब सवा आठ बजे गुरइकबाल पत्नी मनदीप कौर को आदेश अस्पताल भुच्चो से दवा दिलाकर मर्सिडीज कार से गांव जा रहा था। कार में गुरइकबाल का साला सुबेग सिंह, दो भाभियां मनजिंद्र कौर व लवप्रीत कौर तथा नौ माह का भतीजा जगसेर सिंह भी थे। गांव जेठूके के पास हाईवे पर उनकी कार खड़े ट्रक में जा टकराी। जोरदार टक्कर से कार बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई। गुरइकबाल, सुबेग वा जगसेर की मौके पर ही मौत हो गई। मनजीत कौर व दोनों भाभियां घायल हो गईं। पुलिस ने सहारा समाजसेवा रामपुरा फूल तथा अन्य लोगों के साथ मिलकर घायलों को कार से निकाला और अस्पताल पहुंचाया।

पांच दिन पहले हुई थी शादी

गांव जोगा निवासी गुरइकबाल सिंह की शादी 15 नवंबर को गांव ढिलवां की मनदीप कौर के साथ हुई थी। वीरवार बाद दोपहर मनदीप को अचानक पेट दर्द हुआ। जिसके बाद वे आदेश अस्पताल भुच्चो पहुंचे। डाक्टरों ने उसे भर्ती कर लिया। शुक्रवार सुबह अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद वे गांव जोगा लौट रहे थे।

गुरइकबाल के पिता गुरजंट सिंह की 28 साल पहले मौत हो गई थी। कुछ साल बाद मां की भी कैंसर से मौत हो गई। माता-पिता की मौत के बाद संगरूर के अहमदगढ़ के गुरुद्वारा कृपालसर साहिब के प्रमुख बाबा मोहन ङ्क्षसह गुरइकबाल को गुरुद्वारा साहिब ले गए थे। यहां पिछले बीस साल से वह गुरुद्वारे में रहकर सेवा कर रहा था। गुरइकबाल गुरुद्वारे में कीर्तन करता था।

Related Links