कोरोना की दूसरी लहर के चलते सरकार ने कहा, बाहर ही नहीं घर के अन्दर भी मास्क पहनना जरूरी



covid -19 के बढ़ते मामलों को देखते हुए बनाई गई नेशनल टास्क फ़ोर्स

वेब खबरिस्तान, जालंधर। covid-19 महामारी थमने का नाम नहीं ले रही है। दिनोदिन लाखों लोग इस वायरस की चपेट में आ रहे हैं। बावजूद इसके लोग सावधानियां बरतने में अलगरजी कर रहे हैं। लेकिन जब से यह कोरोना काल शुरू हुआ है, तब से एक बात समझाई जा रही है और वो है मास्क का पहनना।

covid -19 के बढ़ते मामलों को देखते हुए नेशनल टास्क फ़ोर्स बनाई गयी है। इस फ़ोर्स के हेड डॉक्ट र वीके पॉल का कहना है कि अब समय आ गया है कि जब देश में लोगों को बाहर ही नहीं बल्कि घरों के अंदर भी मास्कह पहनना जरूरी है। डॉ. पॉल का कहना है कि अगर वायरस की चेन को तोड़ना है तो फिर घर के अंदर मास्क को पहनने की आवश्कता है।

बाहर ही नहीं घर पर भी जरूरी मास्क पहनना, क्यों 


कोरोनाकाल में बहुत सी बातें बदल गयी है। अगर कोई इंसान छींक भी रहा है तो उसकी छींक से निकलीं बूंदें किसी दूसरे इंसान पर पड़ने से कोविड-19 होने का खतरा बढ़ सकता है। यह कण हवा के जरिए संक्रमण को फैला रहे हैं। डॉक्टर पॉल के मुताबिक देश में बहुत से लोग ऐसे हैं जिनको कोरोना के कोई लक्षण नहीं है। यह बिना लक्षण वाले लोग ही सबसे ज्यादा खतरनाक साबित हो सकते हैं।

दूसरी लहर में बहुत जरूरी   

covid-19 की दूसरी लहर में देश की बड़ी आबादी कोरोना वायरस के खतरे का सामना कर रही है। इनमें सांस लेने में कमी और कई और गंभीर लक्षणों के बाद अस्पमताल में भर्ती कराने की जरूरत होती है। दिनोदिन ऑक्सीनजन की बढ़ती मांग की वजह से पूरा हेल्थह इंफ्रास्ट्रिक्‍चर चरमरा गया है। हेल्थ एक्सपर्ट्स की माने तो मास्कल न सिर्फ इसे पहनने वाले को सेफ रखता है बल्कि दूसरे व्य क्तियों को भी कोविड-19 के लक्षणों से से बचाता है। इस स्थिति में सिर्फ संक्रमण की चेन को ही तोड़ना जरूरी नहीं है बल्कि उन लोगों को पहले बचाना है जिन पर खतरा सबसे ज्या दा रहता है।

मास्क को लेकर अमेरिका ने भी दी थी सलाह

अमेरिका के नॉर्थ कैरोलिना के हेल्थ डिपार्टमेंट ने भी सलाह दी थी की लोगों के बीच अगर 6 फीट की दूरी है और उन्हों ने मास्क  पहना हुआ है तो ट्रांसमिशन का खतरा न के बराबर होता है। हेल्थ डिपार्टमेंट की माने तो जब दो लोग मास्क  पहने हुए  होते हैं तो संक्रमण फैलने का खतरा 1.5 फीसदी कम होता है। वहीँ अगर सिर्फ किसी संक्रमित व्यमक्ति ने ही मास्कन पहना है और असंक्रमित व्यफक्ति ने मास्कल नहीं पहना है तो खतरा 5 फीसदी तक ज्यािदा होता है।

CDC ने भी कहा मास्क घर के अन्दर जरूरी

अमेरिका के सेंटर्स फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रोटेक्शून (CDC) की तरफ से भी बाहर ही नहीं बल्कि घर के अंदर भी मास्कD पहनने की सलाह दी गई थी। सीडीसी ने कहा था कि 6 फीट की दूरी के अलावा मास्क को घर के अंदर पहनना जजरूरी है। सीडीसी ने कहा था कि बुजुर्ग लोगों को खासतौर पर घर के अंदर मास्कज पहनकर रहना चाहिए। ऐसे उन पर संक्रमित होने का खतरा बहुत कम रहता है।

Related Links