पंजाब

पंजाब में बदला मौसम, कई जिलों में छाए बादल; तीन दिन तक भारी बारिश के आसार

पंजाब में बदला मौसम, कई जिलों में छाए बादल; तीन दिन तक भारी बारिश के आसार

वेब ख़बरिस्तान, जालंधर। जून में सुस्त पड़ा मानसून जुलाई में पूरी तरह से एक्टिव हो गया है। पिछले सप्ताह तीन दिनों तक पंजाब के कई जिलों में बारिश हुई। जिससे आम लोगों के साथ साथ किसानों के चेहरे खिल उठे थे। अब एक बार फिर से मानसून रविवार सुबह से एक्टिव हो गया है। रविवार को लुधियाना सहित कई जिलों को बादलों ने सुबह ही अपनी गिरफ्त में ले लिया। मौसम विभाग के अनुसार रविवार और सोमवार को सामान्य बारिश की संभावना है। जबकि मंगलवार और बुधवार को पंजाबभर में तेज और भारी बारिश हो सकती है। इसको लेकर विभाग ने ऑरेंज अलर्ट भी जारी किया है। मौसम विभाग की मानें तो लुधियाना, पठानकोट, गुरदासपुर, पटियाला, फतेहगढ़ साहिब, आनंदपुर साहिब, नवाशहर, होशियारपुर, जालंधर, चंडीगढ़ व आसपास के जिलों में भारी की संभावना है। वैज्ञानिकों के अनुसार इन तीन दिनों में रिकॉर्ड बारिश हो सकती है, खासकर लुधियाना में। ऐसे में वैज्ञानिकों ने लोगों को आगाह किया है कि मौसम के मिजाज को देखकर ही घर से निकलें। वहीं किसानों को भी सतर्क किया गया है कि बारिश की संभावना को देखते हुए खेतो में सिंचाई से परहेज करें। क्योंकि अधिक मात्रा में फसलों के लिए खेतों में पानी का खड़ा होना नुकसानदेह हो सकता है।

https://webkhabristan.com/punjab/weather-changed-in-punjab-cloud-cover-in-many-districts-2994
कल से खुलेंगे जालंधर के स्कूल, स्टूडेंट्स को इन नियमों का करना होगा पालन

कल से खुलेंगे जालंधर के स्कूल, स्टूडेंट्स को इन नियमों का करना होगा पालन

वेब ख़बरिस्तान, जालंधर। कोरोना की दूसरी लहर की वजह से बंद पड़े स्कूल 26 जुलाई से खुल रहे हैं। फिलहाल केवल 10वीं से 12वीं तक की कक्षाओं के लिए ही स्कूल खुलेंगे। स्कूलों में सारी तैयारी हो चुकी है और कोविड-19 की गाइडलाइंस के तहत स्कूल खुलेंगे। 152 सेकेंडरी और 121 हाई स्कूल खुल रहे हैं। जिला शिक्षा अधिकारी सेकेंडरी हरिंदरपाल सिंह ने बताया कि राज्य सरकार की तरफ से मिली हिदायतों के तहत सभी प्रबंध सुनिश्चित कर लिए गए हैं और इस संबंध में विद्यार्थियों को संक्रमण से बचाए रखने के लिए खास ध्यान के लिए स्कूल मुखियों को भी सूचित कर दिया गया है। सभी स्कूलों में सेनिटाइजर सप्रे करवा दिया गया है और स्कूलों में विशेष सफाई भी करवाई गई है। सभी स्टूडेंट्स को स्कूल में प्रवेश के लिए मास्क पहनना जरूरी होगा और शारीरिक दूरी के नियमों का भी पालन करना होगा। स्कूलों में कोरोना को लेकर इंतजाम पूरे सरकारी हाई स्कूल किशनपुरा के मुख्य अध्यापक परमिंदर सिंह ने कहा कि आफलाइन क्लासें शुरू होने को लेकर विद्यार्थियों और अध्यापकों में उत्साह है। कोविड-19 की हिदायतों का अच्छी तरह से पालन हो इसके सारे इंतजाम पूरे कर लिए गए हैं।

https://webkhabristan.com/punjab/school-open-from-tomorrow-in-jalandhar-2988
राममंडी चौक के पास बस से गिरने से एएसआइ की मौत

राममंडी चौक के पास बस से गिरने से एएसआइ की मौत

वेब ख़बरिस्तान, जालंधर। रामामंडी चौक के पास दकोड़ा रेलवे फाटक और बड़िंग गेट के बीच शनिवार रात को सड़क हादसे में पंजाब पुलिस को 50 साल के एक एएसआई की मौत हो गई। हादसे के बाद कुछ समय के लिए रामामंडी-फगवाड़ा रोड पर जाम भी लगा रहा। मृतक के आईडी कार्ड से उसकी पहचान गुरविंद्र सिंह पुत्र जागीर सिंह निवासी न्यू बेअंत नगर लधेवाली थाना रामामंडी जालंधर के रूप में हुई है। जांच में पता चला है कि मृतक एएसआइ गुरविंद्र सिंह कमिश्नरेट पुलिस लुधियाना में तैनात था। मौके पर पहुंचे थाना जालंधर कैंट के प्रभारी इंस्पेक्टर अजायब सिंह औजला ने बताया कि एएसआई गुरविंद्र सिंह का शव सड़क पर पड़ा हुआ था और उसका सिर पूरी तरह से फटा हुआ था। पुलिस का कहना है कि एएसआइ बस में सवार था और उसने रामांडी चौक मे उतरना था। उन्होने कहा कि हादसे का कारण अभी पता नहीं चल पाया है। किसी भी वाहन से उसकी टक्कर न होने से पता चलता है कि एएसआइ बस की खिड़की के पास खड़ा था और अचानक नीचे गिर जाने के कारण वह गंभीर रूप से घायल हो गया औऱ मौके पर उसकी मौत हो गई। पति की मौत की सूचना मिलते ही बेसुध हो गई पत्नी पुलिस को पूरी तरह से बयान नहीं दे सकी। उसने इतना जरूर कहा कि उसका पति हर रोज लुधियाना बस में जाता था और बस में ही वापस आता था। एसएचओ औजला ने कहा कि पुलिस हादसे की गहराई से जांच कर रही है। हादस वाली जगह के आस पास लगे सीसीटीवी कैमरों को भी चेक किया जा रहा है। मृतक एएसआई गुरविंद्र सिंह का शव सिविल अस्पताल भेज दिया गया है। रविवार को पोस्टमार्टम करवाने के बाद शव परिजनों को सौंप दिया जाएगा।

https://webkhabristan.com/punjab/asi-dies-after-falling-from-bus-near-rammandi-chowk-2987
मन्नापुरम गोल्ड लोन कंपनी में रिवॉल्वर की नोक पर हुई लूट, एक कर्मचारी जख्मी  

मन्नापुरम गोल्ड लोन कंपनी में रिवॉल्वर की नोक पर हुई लूट, एक कर्मचारी जख्मी  

वेब खबरिस्तान, जालंधर। मन्नापुरम गोल्ड लोन कंपनी के कार्यालय में शनिवार दोपहर लूटेरों ने रिवॉल्वर की नोंक पर लूट की वारदात को अंजाम देते हुए एक कर्मचारी को जख्मी कर दिया। घटना के बाद लुटेरे फरार हो गए। इस घटना की जानकारी मिलने पर डीसीपी जांच गुरमीत सिंह के नेतृत्व में पुलिस की टीम मौके पर पहुंच गई है। ग्राहक बन कर आये लूटेरे घटना अर्बन एस्टेट फेज 2 स्थित मन्नापुरम गोल्ड लोन कंपनी के कार्यालय की है। छह लोगों ने ग्राहकों के रूप में कंपनी में प्रवेश किया। बंदूक की नोक पर उन्होंने न केवल महिलाओं सहित स्टाफ के सदस्यों को, बल्कि उनका विरोध करने वाले एक कर्मचारी को भी पीटा। कर्मचारी जख्मी हो गया जिसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घटना सीसीटीवी में कैद पूरी घटना दफ्तर के अंदर लगे सीसीटीवी कैमरों में कैद हो गई है। पुलिस ने रिकॉर्डिंग अपने कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी है। जानकारी अनुसार छह हमलावरों में से ज्यादातर पिस्टल से लैस थे। उन्होंने कंपनी के दफ्तर में घुसते ही 4 स्टाफ मेंबर्स को गन प्वाइंट पर लिया। इस वारदात के दौरान वे कितना सोना ले गए हैं इसका अंदाजा अभी लगाना मुश्किल है।

https://webkhabristan.com/punjab/robbery-at-the-tip-of-a-revolver-in-mannapuram-gold-loan-company-jalandhar-2978
नवजोत सिद्धू बोले- मेरी चमड़ी मोटी, मुझे फर्क नहीं पड़ता, क्रिकेट शॉट मरने का एक्शन किया

नवजोत सिद्धू बोले- मेरी चमड़ी मोटी, मुझे फर्क नहीं पड़ता, क्रिकेट शॉट मरने का एक्शन किया

चंडीगढ़। पंजाब कांग्रेस भवन में एक बार फिर नवजोत सिद्धू के तेवर देखने को मिले। भाषण देने के लिए खड़े हुए तो सबसे पहले उन्होंने भगवान को याद किया और इसके बाद क्रिकेट शॉट मारने का एक्शन किया। अपने दाईं ओर बैठे कैप्टन अमरिंदर सिंह और हरीश रावत को इग्नोर करते हुए वे आगे बढ़े। पूर्व मुख्यमंत्री रजिंदर कौर भट्‌ठल और लाल सिंह के पैर छूकर आशीर्वाद लिया। इसके बाद डाईस पर आकर कहा- मेरा दिल चिड़े के दिल जैसा नहीं है। जो मेरा विरोध करेंगे, वो मुझे और मजबूत बनाएंगे। मेरी चमड़ी मोटी है। मुझे किसी के कहने-सुनने से कोई फर्क नहीं पड़ता। पंजाब मॉडल को आगे ले जा दिल्ली मॉडल फेल करना है नवजोत सिद्धू ने अपने भाषण में कहा- परखने से कोई अपना नहीं रहता, किसी भी आइने में ज्यादा देर चेहरा नहीं रहता। उन्होंने कहा कि आज सारे कांग्रेस कार्यकर्ता प्रधान बन गए चूंकि कार्यकर्ताओं के सहयोग के बिना कोई पार्टी राजनीति में टिक नहीं सकती। भाजपा को घेरते हुआ कहा कि जिनके मत से बनती हैं सरकारें, आज दर बदर सड़कों पर भटक रहे बेचारे। उन्होंने यह बात किसानों को लेकर थी। 15 अगस्त से सिद्धू का बिस्तरा कांग्रेस भवन में लगेगा। मंत्रियों से अपील है कि वे मुझसे मिलने आएं, पंजाब मॉडल को आगे ले जाकर दिल्ली मॉडल को फेल करना है। मैं सभी के बीच जाकर बात करूँगा उन्होंने कहा कि इस समय सबसे बड़ा मसला दिल्ली में बैठे हमारे किसान हैं। मैं किसानों से मिलना चाहता हूं। इसके अलावा बेअदबी का मसला है। ईटीटी टीचर सड़कों पर हैं। डॉक्टर हड़ताल पर हैं। कंडक्टर, ड्राइवर धरने पर हैं। इन सभी के मसले हमें हल करने हैं। मैं सभी के बीच जाऊंगा, बात करुंगा और उन्हें हर संभव तरीके से अपने साथ लेकर आऊंगा। जब से सिद्धू पैदा हुए तब से उनके परिवार को जानता हूँ मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने समारोह में सुनील जाखड़ की तारीफों के पुल बांधे। उन्होंने कहा कि जाखड़ ने पंजाब कांग्रेस के लिए बहुत कुछ किया है। उनके योगदान को भुलाया नहीं जा सकता। सिद्धू और अपने कनेक्शन पर कहा कि जब सिद्धू पैदा हुए थे तबसे उनके परिवार को जानता हूं। नवजोत सिद्धू का जन्म 1963 में हुआ था। यही समय था जब मैं चीन के बॉर्डर पर शिफ्ट हुआ था। मेरी माता जी ने और सिद्धू के पिता ने भी साथ काम किया| सिद्धू के पिता तब पटियाला के प्रधान हुआ करते थे। इसके बाद मेरी माता जी 1967 में लोकसभा में आ गईं। माता जी ने कहा सिद्धू के पिता सब सिखा देंगे जब मैं 1970 में सेना छोड़ के आया तब माता जी ने राजनीति में आने को कहा। लेकिन मैं बिलकुल भी राजनीति नहीं जानता था। तब माता जी ने कहा- सिद्धू के पिता सरदार भगवंत सिंह सब सिखा देंगे। इसके बाद फिर सिद्धू के पिता के साथ मेरी कई बैठकें हुईं। वे पटियाला कांग्रेस के प्रधान रहे। इसके बाद एक समय में सरदार भगवंत सिंह मेरे कदम सियासत में ले ही आए। कैप्टन ने सिद्धू को लेकर आगे कहा कि जब मैं इनके घर जाया करता था तो सिद्धू अब तो बड़े लगते हैं लेकिन तब सिद्धू की उम्र 6 साल हुआ करती थी और ये इधर-उधर भागते फिरते थे। सोनिया जी ने मुझसे कहा कि अब नवजोत पंजाब के अध्यक्ष होंगे और आप दोनों को मिलकर काम करना होगा तो मैंने कह दिया था कि आपका जो भी फैसला होगा, वो हमें मंजूर होगा।

https://webkhabristan.com/punjab/navjot-sidhu-said---my-skin-is-thick-i-do-not-care-did-the-action-batting-2962
पंजाब भवन में मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने कई बार बुलाया तो उनके बगल में जाकर बैठे नवजोत सिद्धू

पंजाब भवन में मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने कई बार बुलाया तो उनके बगल में जाकर बैठे नवजोत सिद्धू

वेब खबरिस्तान, चंडीगढ़। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और कांग्रेस के नये प्रधान नवजोत सिद्धू मिल ही गये। पंजाब भवन में सिद्धू ने कैप्टन को देखकर पहले तो नजरें फेर ली और आगे बढ़ गए। लेकिन पंजाब प्रभारी हरीश रावत ने उन्हें आवाज देकर वापस बुलाया। उन्होंने ही अमरिंदर सिंह से मुलाकात कराई। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सिद्धू को पास आकर बैठने को कहा तो वह कांग्रेस भवन के कार्यक्रम में लेट होने की बात कहने लगे। कई बार कहने पर सिद्धू उनके पास आकर बैठे। कैप्टन ने कहा था – सिद्धू माफ़ी मांगेगे, तभी मुलाकात होगी दरअसल नवजोत सिंह सिद्धू लगातार ट्वीट करके पंजाब सरकार का विरोध कर रहे थे, जिस कारण कैप्टन अमरिंदर सिंह उनसे नाराज थे। जब सिद्धू को पार्टी का पंजाब प्रधान बनाया गया तो कैप्टन ने साफ कर दिया था कि जब तक सिद्धू उनसे माफी नहीं मांगते, वह उनसे मुलाकात नहीं करेंगे। लेकिन, पंजाब भवन में दोनों की मुलाकात भी हुई। कार्यक्रम में सभी ने अमरिंदर के पैर छुए, लेकिन सिद्धू ने उनके पैर नहीं छुए। यहां मंच पर पूर्व प्रदेश प्रधान सुनील जाखड़, पंजाब कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत, पूर्व मुख्यमंत्री राजिंदर कौर भट्‌ठल, कैप्टन की पत्नी परनीत कौर भी थीं। नवजोत सिंह सिद्धू की ताजपोशी कार्यक्रम के बाद कैप्टन फिरोजपुर जिले के कस्बा जीरा जाएंगे। वह मोगा में हुए हादसे में मारे गए लोगों के परिवारवालों से मिलेंगे। कड़े सुरक्षा इंतजाम पंजाब प्रदेश कांग्रेस प्रधान के पद पर नवजोत सिद्धू की ताजपोशी कार्यक्रम में शामिल होने के लिए कांग्रेस के मंत्री, सांसद, विधायक, नेता और कार्यकर्ता चंडीगढ़ पहुंच रहे हैं। ऐसे में मेहमानों को कोई परेशानी न हो, इसके लिए चंडीगढ़ पुलिस द्वारा सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। कांग्रेस भवन के आसपास चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल तैनात किया गया है। खुद एसएसपी कुलदीप सिंह चहल मौके पर मौजूद रहेंगे। माहौल को देखते हुए चंडीगढ़ में धारा 144 लगा दी गई है। देखें वीडियो :- <iframe width="560" height="315" src="https://www.youtube.com/embed/gqPHVfQOBYs" title="YouTube video player" frameborder="0" allow="accelerometer; autoplay; clipboard-write; encrypted-media; gyroscope; picture-in-picture" allowfullscreen></iframe>

https://webkhabristan.com/punjab/cm-captain-amrinder-singh-meets-congress-president-navjot-sidhu-in-punjab-bhawan-2957
गोली से जख्मी सचिन जैन को चार अस्पतालों में इलाज न मिलने के मामले की जांच के लिए डीसी ने बनाई कमेटी

गोली से जख्मी सचिन जैन को चार अस्पतालों में इलाज न मिलने के मामले की जांच के लिए डीसी ने बनाई कमेटी

वेब खबरिस्तान। जैन करियाना स्टोर के मालिक सचिन जैन को लुटेरों की गोली लगने के बाद चार अस्पतालों में इलाज न मिलने के कारण हुई मौत के मामले की जांच के लिए डीसी ने तीन सदस्यीय कमेटी का गठन किया है। सोमवार की रात 9 बजे सोढल रोड पर मथुरा नगर स्थित जैन करियाना स्टोर के मालिक सचिन जैन को तीन लुटेरों ने गोलियां मार दी थी। जख्मी सचिन को ट्रीटमेंट के लिये एक्टिवा पर 4 अस्पतालों में लेकर गये लेकिन उसे ट्रीटमेंट नहीं मिला था। अंत में उसे सिविल अस्पताल लेकर गये जहाँ उसे प्राथमिक उपचार दिया गया। रात 10:15 बजे जौहल अस्पताल ले गये। मंगलवार सुबह 26 वर्षीय सचिन की मौत हो गई थी। मौत का कारण इलाज में देरी बताया गया था। सचिन की मौत के बाद शहर में अस्पतालों के खिलाफ आवाज उठी थी। मोबाइल एसोसिएशन मॉडल टाउन मार्केट के प्रधान राजीव दुग्गल ने सोशल मीडिया पर ऑडियो मैसेज भेजकर इस मामले में अस्पतालों पर लापरवाही के आरोप लगया थे। सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइन के मुताबिक कोई भी अस्पताल मरीज को इलाज देने से मना नहीं कर सकता। इस मामले में लगातार प्रशासन पर भी कोई एक्शन न लेने के कारण सवाल उठ रहे थे। अब डीसी घनश्याम थोरी ने असिस्टेंट कमिश्नर रणदीप सिंह गिल, डीएमसी डाक्टर ज्योति शर्मा और एसीएस डाक्टर वरिंदर सिंह थिंद की कमेटी बनाई है, जो इस मामले की जांच करेगी। अगले हफ्ते तक रिपोर्ट देने के लिए कहा गया है। 45 मिनट तक एक्टिवा पर लेकर भटकते रहे सोढल रोड पर खिलौनों की दुकान चलाने वाले मिक्की ने मीडिया को बताया था कि वह दुकान बंद कर ही रहे थे कि लोगों ने बताया सचिन को किसी ने गोली मार दी है। जख्मी हालत में तुरंत सचिन को एक्टिवा पर बैठाया और उसे अस्पताल लेकर गये लेकिन टैगोर अस्पताल ने उसे भर्ती करने से मना कर दिया। इसके बाद उसे सत्यम, जोशी और अरमान अस्पताल लेकर गये वहां भी पुलिस केस का हवाला देकर किसी ने भर्ती नहीं किया। 45 मिनट तक हम अस्पतालों के चक्कर काटते रहे। इसके बाद सिविल अस्पताल लेकर गये। टैगोर अस्पताल के पास नहीं था सर्जन टैगोर अस्पताल के एमडी डॉ. विजय महाजन ने कहा कि जिस समय परिजन सचिन को लेकर अस्पताल आए उस समय हमारे पास सर्जन मौजूद नहीं था। इसलिए हमने समय व्यर्थ ना करते हुए उन्हें दूसरे अस्पताल लेकर जाने को कहा। चूंकि अगर 5 मिनट की भी ओर देर हो जाती तो प्रॉब्लम हो सकती थी।

https://webkhabristan.com/punjab/death-of-sachin-jain-jalandhar-arman-joshi-satyam-tagore-hospital-2954
23 जुलाई को चार्ज लेंगे पंजाब कांग्रेस के नए अध्‍यक्ष सिद्धू, सीएम को न्‍योता

23 जुलाई को चार्ज लेंगे पंजाब कांग्रेस के नए अध्‍यक्ष सिद्धू, सीएम को न्‍योता

वेब ख़बरिस्तान, अमृतसर। पंजाब कांग्रेस के नवनियुक्‍त अध्‍यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने 23 जुलाई को पदभार ग्रहण करने का निर्णय लिया है। इस कार्यक्रम में पंजाब के मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह को भी न्यौता दिया गया है। मुख्‍यमंत्री को भेजे गए इस आमंत्रण में 65 विधायकों के हस्‍ताक्षर हैं। मीडिया रिपोर्ट्स से पता चला है कि इस कार्यक्रम में पंजाब कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत को भी आमंत्रित किया गया है। इस आमंत्रण को लेकर मुख्‍यमंत्री की ओर से अभी कोई प्रतिक्रिया सामने नहीं आई है। पंजाब कांग्रेस के नवनियुक्‍त अध्‍यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू का पदभार ग्रहण समारोह भव्‍य स्‍तर पर होगा। इसमें पंजाब के सभी प्रमुख कांग्रेस नेता शामिल होंगे। 23 जुलाई को होने वाले इस कार्यक्रम को लेकर कई स्‍तर पर तैयारियां की जा रही हैं। बुधवार को नवजोत सिंह ने कांग्रेस के कई पदाधिकारियों, विधायकों और अन्‍य से भेंट की। सिद्धू ने किया शक्ति प्रदर्शन अमृतसर में नवजोत सिंह सिद्धू ने बुधवार को अपने निवास पर कांग्रेस मंत्री और विधायकों को नाश्‍ते पर आमंत्रित किया था। नाश्‍ते के साथ ही स्‍वर्ण मंदिर जाने का कार्यक्रम तय किया गया था। इस कार्यक्रम में कांग्रेस के कुल 80 में से 60 विधायक पहुंचे। मुख्‍यमंत्री के दबाव के बावजूद तीन कैबिनेट मंत्री, कई जिला अध्यक्ष, निगम और बोर्डों के चेयरमैन भी पहुंचे। सूत्रों की मानें तो सिद्धू ने अमरिंदर गुट में बड़ी सेंध लगा दी है। हालांकि कुछ मंत्री और विधायकों ने नवजोत सिंह के घर और उनके साथ स्‍वर्ण मंदिर जाने से परहेज किया। सिद्धू बुधवार को 12:30 बजे लाव-लश्‍कर के साथ अमृतसर में श्री दरबार साहिब में माथा टेकने के लिए पहुंचे। इस अवसर पर उनके समर्थकों का उत्‍साह देखने वाला था। सिद्धू का श्री दरबार साहिब जाना कांग्रेस में 'पावर शो' सरीखा बन गया।

https://webkhabristan.com/punjab/sidhu-the-new-president-of-punjab-congress-will-take-charge-on-july-23-2947