वॉट्सऐप ने प्राइवेसी पॉलिसी एक्सेप्ट करने की डेट टाली



अगर यूजर्स प्राइवेसी पॉलिसी एक्सेप्ट नहीं भी करते तो भी उनका अकाउंट डिलीट नहीं होगा। जबकि इससे पहले वॉट्सऐप ने कहा था कि नई प्राइवेसी पॉलिसी को 15 मई तक एक्सेप्ट करना ही होगा

वेब खबरिस्तान।  वॉट्सऐप की ओर से अपनी विवादित प्राइवेसी पॉलिसी को एक्सेप्ट करने की बाध्यता फिलहाल के लिए टाल दी गई है। अगर यूजर्स प्राइवेसी पॉलिसी एक्सेप्ट नहीं भी करते तो भी उनका अकाउंट डिलीट नहीं होगा। जबकि इससे पहले वॉट्सऐप ने कहा था कि नई प्राइवेसी पॉलिसी को 15 मई तक एक्सेप्ट करना ही होगा। अगर यूजर्स ऐसा नहीं करते तो उनका वॉट्सऐप अकाउंट डिलीट हो जाएगा या फिर वे सभी फीचर्स का इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे। कंपनी ने कहा कि यूजर्स को आने वाले समय में इसकी जानकारी दी जाएगी।

4 जनवरी को डिस्प्ले हुआ था मैसेज


इस मामले की शुरुआत 4 जनवरी 2021 को हुई। वॉट्सऐप खोलते ही यूजर्स को डिस्प्ले पर एक नया मैसेज मिला। इस मैसेज में वॉट्सऐप की नई प्राइवेसी पॉलिसी की जानकारी थी और ये भी कहा गया था कि इस पॉलिसी को 8 फरवरी तक एक्सेप्ट करना है, नहीं तो आप वॉट्सऐप इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे। लेकिन सोशल मीडिया पर कंपनी का विरोध शुरू हो गया। लोगों का कहना था कि ये उनकी प्राइवेसी के साथ समझौता है। कई लोगों ने तो वॉट्सऐप छोड़ दिया और सिग्नल, टेलीग्राम जैसे दूसरे मैसेजिंग ऐप का इस्तेमाल करने लगे। इस विवाद में सरकार भी आगे आई। इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्रालय ने वॉट्सऐप को नोटिस जारी कर पॉलिसी वापस लेने को कहा। विरोध को बढ़ता देख वॉट्सऐप ने पॉलिसी को स्वीकार करने की आखिरी तारीख 8 फरवरी से बढ़ाकर 15 मई कर दी थी।

 नई पॉलिसी ये थी

नई पॉलिसी में वॉट्सऐप ने कहा था कि वो यूजर की जानकारी फेसबुक और दूसरी कंपनियों के साथ शेयर करेगा। पॉलिसी को एक्सेप्ट करने के बाद वॉट्सऐप पर जो भी कंटेंट अपलोड, सबमिट, स्टोर, सेंड या रिसीव करेंगे, कंपनी उन्हें अपने किसी भी प्लेटफॉर्म और किसी भी देश में इस्तेमाल कर सकेगी। हालाँकि इसके पीछे वॉट्सऐप का तर्क था कि ये केवल यूजर की सुरक्षा और सुविधा को बढ़ाने के लिए किया जा रहा है । जानकारों अनुसार कंपनी यूजर के डेटा को कॉमर्शियलाईज्ड कर रही है। इस डेटा का इस्तेमाल वॉट्सऐप विज्ञापन के लिए करेगी और पैसा कमाएगी। कंपनी के पास आपकी हर जानकारी होगी जिससे वो आपकी हर गतिविधि पर नजर रखेगी।

Related Links