टीके के दोनों डोज लगें है तो घरेलू हवाई यात्रा में RT-PCR रिपोर्ट की छूट देने की तैयारी



राज्यों और संबंधित एजेंसियां के अलावा हेल्थ एक्सपर्ट से बातचीत के बाद फैसला लेगी केंद्र सरकार 

वेब ख़बरिस्तान। केंद्र सरकार वैक्सीन के दोनों डोज लगवा चुके घरेलू हवाई यात्रियों को RT-PCR रिपोर्ट की छूट दे सकती है। अभी उन राज्यों से सफर के लिए RT-PCR रिपोर्ट देना जरूरी होता है, जहां अभी कोविड के केस ज्यादा आ रहे हैं। मीडियो रिपोर्ट्स के मुताबिक सिविल एविएशन मिनिस्टर हरदीप सिंह पुरी ने कहा है कि स्वास्थ्य मंत्रालय के साथ कुछ मंत्रालयों की संयुक्त टीम इस पर फाइनल फैसला लेने के लिए चर्चा कर रही है। 


पुरी ने कहा कि ये फैसला केवल सिविल एविएशन मिनिस्ट्री का नहीं होगा। सरकार के साथ काम कर रही एजेंसियां और हेल्थ एक्सपर्ट भी शामिल होंगे। यात्रियों के हितों का ध्यान रखते हुए फैसला लेंगे। किसी पैसेंजर से राज्य में दाखिल होते वक्त RT-PCR रिपोर्ट मांगना पूरी तरह से उस राज्य के अधिकार क्षेत्र में आता है।

वैक्सीन पासपोर्ट के खिलाफ भारत

जी-7 की बैठक में भारत वैक्सीन पासपोर्ट का विरोध कर चुका है। पुरी ने कहा कि महामारी के मौजूदा हाल को देखते हुए हम इस वैक्सीन पासपोर्ट को लेकर चिंतित हैं। विकसित देशों के मुकाबले विकासशील देशों में वैक्सीनेशन की दर कम है। ऐसे में इंटरनेशनल पैसेंजर्स को वैक्सीन पासपोर्ट के आधार पर यात्रा की मंजूरी देना पक्षपाती विचार है।

क्या है वैक्सीन पासपोर्ट 

कोरोना के चलते कई देशों ने संक्रमण के डर से बाहरी देशों से आने वाले यात्रियों की एंट्री रोक रखी है। वहीं, जिन देशों में एंट्री खुली हुई वहां बाहरी यात्रियों को लंबे समय के लिए क्वारेंटाइन रहना पड़ता है। अगर वैक्सीन पासपोर्ट लागू हो जाए, तो यात्रियों को क्वारेंटाइन में छूट मिल जाएगी।

Related Links