Public utility - लिमिट से ज्यादा ATM ट्रांज़ैक्शन की तो बैंक को देने पड़ेंगे ज़्यादा पैसे, जानें कब से



पैसे निकालने के लिए हम सभी एटीएम का नियमित तौर पर इस्तेमाल करते हैं

वेब खबरिस्तान, नई दिल्ली। पैसे निकालने के लिए हम सभी एटीएम का नियमित तौर पर इस्तेमाल करते हैं। लेकिन अब आरबीआई की ओर से नियमों में कुछ बदलाव किया गया है। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने बैंकों को एक बड़ी छूट दी है, जिसके बाद आपकी जेब पर थोड़ा असर पड़ सकता है। नया बदलाव 1 जनवरी, 2022 से लागू हो जाएगा। अब आपको एटीएम से तय मुफ्त सीमा से अधिक बार पैसा निकालने पर ज्यादा फीस यानि एटीएम ट्रांजेक्शन फीस  देनी होगी।

प्रति लेन देन 21 रूपए देने होंगे


भारतीय रिजर्व बैंक ने बैंकों को अगले साल से एटीएम के जरिये निर्धारित मुफ्त मासिक सीमा से अधिक बार नकदी निकालने या अन्य लेन-देन करने को लेकर शुल्क बढ़ाने की अनुमति दे दी है। इसके तहत बैंक ग्राहक अगर मुफ्त निकासी या अन्य सुविधाओं की स्वीकार्य सीमा से ज्यादा बार लेन-देन करते हैं, तो उन्हें प्रति लेन-देन 21 रुपये देने होंगे जोकि अभी 20 रुपये है।

हर महीने पांच मुफ्त लेन देन के पात्र  

ग्राहक पहले की तरह अपने बैंक के एटीएम से हर महीने पांच मुफ्त लेन-देन (वित्तीय और गैर-वित्तीय लेन-देन) के लिये पात्र होंगे। वे महानगर में अन्य बैंकों के एटीएम से तीन बार और छोटे शहरों में पांच बार मुफ्त लेन-देन कर सकेंगे। सर्कुलर के अनुसार 1 अगस्त, 2021 से प्रति वित्तीय लेन-देन इंटरचेंज शुल्क' 15 रुपये से बढ़ाकर 17 रुपये और गैर-वित्तीय लेन-देन के मामले में 5 रुपये से बढ़ाकर 6 रुपये करने की अनुमति दी गयी है।

Related Links