कोरोना से रिकवर होने के बाद भी परेशान हैं खांसी से, तो खुद न करें इलाज, डॉक्टर की सलाह से लें मेडिसिन

रिकवर के बाद में खांसी है ,तो हो जाएं  सावधान

रिकवर के बाद में खांसी है ,तो हो जाएं सावधान



कोरोना से रिकवर होने के बाद भी महीनों तक कई लोगों को खांसी नहीं जाती है। घर में हो या ऑफिस बीच-बीच में खांसी आती ही रहती है। इसकी वजह से आप अपने काम में फोकस नहीं कर पाते और खुद को बीमार महसूस करने लग

वेब ख़बरिस्तान। एक तरफ देश में कोरोना का कहर है वहीँ दूसरी तरफ सर्दी अपने पूरे चरम पर है। ऐसे में कोरोना और सर्दी के मौसम में होने वाली खांसी बहुत से लोगों को हो रही है। कोरोना से रिकवर होने के बाद भी महीनों तक कई लोगों को खांसी नहीं जाती है। घर में हो या ऑफिस बीच-बीच में खांसी आती ही रहती है। इसकी वजह से आप अपने काम में फोकस नहीं कर पाते और खुद को बीमार महसूस करने लगते हैं। तो आज हम आपको बताने वाले हैं की अगर आपको कोरोना से रिकवर होने के बाद भी खांसी हो रही है तो किन बातों का ध्यान रखें।

खांसी कोरोना के हर वैरिएंट में हो रही है


आपको बता दें कोरोना महामारी में हल्की सर्दी-खांसी से भी लोग डरने लगे हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि कोरोना के लगभग सभी वैरिएंट में पाया गया है कि संक्रमण के दौरान और रिकवर होने के बाद भी खांसी पीछा नहीं छोड़ रही है। गले में कफ़ और बलगम की शिकायत होते ही लोगों को लगने लग गया है कि यह कोरोना वायरस के लक्षण तो नहीं। वहीँ इससे बचने के लिए लोग खुद से मेडिसिन लेकर इलाज कर रहे हैं। एक्सपर्ट के मुताबिक कोरोना के लगभग सभी वैरिएंट में खांसी की परेशानी होती है। नाक और मुंह हमारे शरीर के एंट्री प्वाइंट हैं, जिसके जरिए वायरस सबसे पहले गले में अटैक करता है और इसे प्रभावित करता है। इसके अलावा कोरोना वायरस की बनावट भी ऐसी है कि इसके स्पाइक्स आसानी से गले में चिपक जाते हैं और गले में खराश पैदा करते हैं

रिकवर होने बाद भी खांसी होना अच्छा है या नही

डॉक्टर्स के मुताबिक गले में होने वाले इंफेक्शन से हमें भले ही खांसी आती है, लेकिन ये शरीर के लिए एक तरह से प्रोटेक्टिव होती है। खांसी के जरिए वायरस को बाहर निकालने में काफी आसानी होती है और ये वायरस खत्म करने के प्रोसेस का एक पार्ट है। जैसे- अगर आप खुले मैदान में खड़े हैं और सांस के साथ घास का एक छोटा टुकड़ा भी आपके अंदर जाता है तो आप उसे छींक कर या खांस कर बाहर निकाल देते हैं।

एंटीबायोटिक दवाएं कितनी मदद करती है

एक्सपर्ट के मुताबिक रिकवर होने के बाद भी खांसी लगातार आ रही है तो आप एंटीबायोटिक दवाएं ले सकते हैं। इसमें कोई दिक्कत नहीं है, लेकिन हो सके तो आप डॉक्टर के सलाह से ही मेडिसिन लें। हो सके तो खुद से इलाज करने से बचें। ऐसा इसलिए क्योंकि बहुत बार मरीज गलत दवा ले लेता है और फिर केस बिगड़ने के चांस बड जाते हैं। आपको बता ददन पोस्ट कोविड इंफेक्शन में 8-10 दिन तक खांसी का आना सामान्य बात है। उसके बाद ये ठीक हो जाती है, लेकिन अगर खांसी ठीक नहीं होती है और आपका ऑक्सीजन सैचुरेशन भी कम है, खांसते हुए मुंह से खून आ रहा है तो ऐसी स्थिति में आपको तुरंत डॉक्टर को दिखाना चाहिए। इसके अलावा अगर बुजुर्गों और गंभीर बीमारी से पीड़ित लोगों को ठीक होने के बाद लगातार खांसी की दिक्कत हो रही है तो उन्हें तुरंत डॉक्टर को दिखा लेना चाहिये।

 

Related Links