फिर सुर्खियों में गुलशन कुमार की हत्या का मामला



वेब ख़बरिस्तान। टी-सीरीज के संस्थापक गुलशन कुमार की हत्या मामले में वीरवार को बॉम्बे हाईकोर्ट ने सेशन कोर्ट द्वारा रऊफ को सुनाई गई उम्रकैद की सजा को बरकरार रखा। अदालत ने रमेश तौरानी को बरी कर दिया है।

अब्दुल को 2002 में हुई थी उम्रकैद

अब्दुल रऊफ उर्फ दाउद मर्चेंट को 2016 को फेक पासपोर्ट मामले में बांग्लादेश प्रत्यर्पित कर भारत लाया गया था। गुलशन कुमार की हत्या मामले में अब्दुल को 2002 में उम्रकैद हुई थी। 2009 को औरंगाबाद जेल से पैरोल पर बाहर आया और बांग्लादेश भाग गया था।


गुलशन कुमार पर चलाई थीं 16 गोलियां

12 अगस्त 1997 को मुंबई के साउथ अंधेरी इलाके में जीतेश्वर महादेव मंदिर के बाहर तीन हमलावरों ने गुलशन कुमार पर एक के बाद एक 16 गोलियों से उन्हें छलनी कर दिया था। उनके ड्राइवर ने बचाने की कोशिश की तो उसे भी गोली मार दी।


अबु सलेम ने मांगे थे 10 करोड़ रुपये

अबु सलेम ने गुलशन कुमार से 10 करोड़ रुपये मांगे थे। गुलशन कुमार ने मना करते हुए कहा था कि इतने रुपए देकर वे वैष्णो देवी में भंडारा कराएंगे। नाराज सलेम ने शूटर राजा से गुलशन कुमार का मर्डर करवा दिया था।



सिंगर नदीम के इशारे पर हुई हत्या

बाद में सामने आया कि सिंगर नदीम के इशारे पर ही गुलशन कुमार की हत्या की गई थी। टी सीरीज ने नदीम-श्रवण की जोड़ी को इंडस्ट्री में खड़ा किया था। हालांकि, बाद में नदीम की गुलशन कुमार से अनबन हो गई और उसे काम मिलना बंद हो गया।


दिल्ली में हुआ जन्म

गुलशन कुमार का जन्म 1956 में दिल्ली में पंजाबी परिवार में हुआ। देशबंधु कॉलेज से ग्रेजुएशन की दरियागंज में पिता चंद्रभान की जूस की दुकान थी। इसके बाद पिता ने सस्ती कैसेट्स और गानों की एक दुकान खोली। यहीं से गुलशन कुमार के करियर ने करवट बदली।


भारत में सबसे बड़ी संगीत कंपनी बनी टी-सीरीज

गुलशन ने सुपर कैसेट्स इंडस्ट्रीज लिमिटेड कंपनी बनाई जो भारत में सबसे बड़ी संगीत कंपनी बनी। उन्होंने टी-सीरीज की स्थापना की। नोएडा में एक प्रोड्क्शन कंपनी खोली। धीरे-धीरे भक्ति गीत और भजन के कैसेट्स निकालने शुरू किए।


गुलशन कुमार के बेटे भूषण कुमार संभाल रहे टी-सीरीज कंपनी

गुलशन ने अपने बिजनेस को बढ़ता देख मुंबई शिफ्ट होने की सोची। टी-सीरीज का बिजनेस 24 देशों के साथ-साथ 6 महाद्वीपों तक फैला हुआ है। फिलहाल टी-सीरीज कंपनी को गुलशन कुमार के बेटे भूषण कुमार संभाल रहे हैं।

Related Links